OMG! अकांक्षा पुरी ने हटाया पारस छाबड़ा के नाम का टैटू उसपर नया टैटू बनाया       रघुबीर यादव की जिंदगी में आया भूचाल, लगे कई बड़े आरोप       'बेडरूम सीन' करके इतनी परेशान हो गई ये एक्‍ट्रेस, बोला...       अब किसानों के संगठन को नरेन्द्र मोदी सरकार देगी 15 लाख रुपए       दिल्ली हिंसा पीड़ितों को आज से मुआवज़ा देगी केजरीवाल सरकार       जानिए क्यों पड़ी इस दिन की जरुरत, भारत में मनाया गया पहला प्रोटीन डे ?       विदाई से 2 घंटे पहले क्या हुआ कि दूल्हे की कराई गई दूसरी शादी, जानें पूरा मामला       कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल की 'राजधर्म' पर भाजपा को नसीहत, कहा...       पी.चिदंबरम ने कहा कि राजद्रोह कानून पर अरविंद केजरीवाल सरकार की समझ गलत       खुलकर लीजिए सांस, दिल्‍ली की हवा हुई शुद्ध       तेज रफ़्तार ट्रेन की चपेट में आई यात्री बस, 20 लोगों की भयावह मौत       दुनियाभर के सामने फिर शर्मसार हुआ पाक       OH NO! इस लड़की का 2 घंटे में 12 दरिंदों ने किया रेप, सुनकर सभी के होश उड़ गए       सगे भाई ने ही लूटी बड़ी बहन की अस्मत, और फिर...       नाबालिग संग किया रेप, हवस की भूख में अँधा हुआ बुजुर्ग       रिक्शावाला ने पहली क्लास की छात्रा को स्कूल ले जाते वक्त कर दिया रेप और फिर...       दिल्ली हिंसा व अंकित की मर्डर के आरोपों से घिरे ताहिर का बयान       नाबालिग छात्रा को नशा देकर बलात्कार करता था टीचर       कपिल मिश्रा के बचाव में उतरे रविशंकर प्रसाद, कहा...       कई महान बीजेपी नेता हुए शामिल, महाप्रभु के दर्शन करने पहुंचे अमित शाह      

सर्दियों में क्यों महत्वपूर्ण है पर्याप्त विटामिन डी, जानें

सर्दियों में क्यों महत्वपूर्ण है पर्याप्त विटामिन डी, जानें

सर्दी के मौसम में अक्सर शरीर में विटामिन डी की सबसे ज्यादा कमी हो जाती है. यह इसलिए होता है, क्योंकि सबसे ज्यादा विटामिन डी सूरज से मिलता है व सर्दियों में सूरज कम ही निकलता है, साथ ही लोग ठंड की वजह से घर में दुबके रहते हैं. सर्दियों के मौसम में संक्रमण का खतरा खूब रहता है व ऐसे में विटामिन डी की कमी से परेशानी हो सकती है. विटामिन डी रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ाता है, हड्डियों को मजबूत बनाता है व मांसपेशियां, नसों के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है. शरीर में विटामिन डी भरपूर होने से दिल रोग व हाई बीपी से छुटकारा दिलाने में मदद करता है. इससे ऊर्जा मिलती है, जिससे शरीर सुचारू तरीका से कार्य करता है. इसलिए स्वस्थ रहने व संक्रमण से लड़ने के लिए आदमी को विटामिन डी की जरूरत पड़ती है.


विटामिन डी की कमी से हड्डियों का निर्बल होना, किडनी बेकार होने की आशंका, पेट दर्द, कब्ज व दस्त की समस्या, मितली, उल्टी व बेकार पाचन शक्ति, स्कीन में कालापन हो सकती है. विटामिन डी की कमी के कुछ प्रभावों में थकावट, हड्डियों, जोड़ों व मांसपेशियों में दर्द, बालों का झड़ना, चिड़चिड़ाहट, ऊर्जा में कमी, पैरों में सूजन, डिप्रेशन आदि शामिल हैं.


परेशानी की बात यह है कि सर्दियों में जब विटामिन डी की सबसे ज्यादा आवश्यकता होती है तो यह पर्याप्त रूप से नहीं मिलता. www.myupchar.com के डाक्टर लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का बोलना है कि हर आदमी के लिए विटामिन डी की जरूरत अलग होती है. उम्र, लिंग व स्वास्थ्य स्थिति के अनुसान विटामिन डी की जरूरत होती है. वयस्कों को विटामिन डी के प्रति दिन कम से कम 600 आईयू लेने चाहिए जो कि सर्दियों में विटामिन डी से भरपूर खाद्य पदार्थों या पूरक आहार से मिल सकते हैं. सर्दियों में लोग अधिक संक्रमण के शिकार होते हैं व बाहर कम समय बिताते हैं. इसलिए भोजन व सप्लीमेंट्स से विटामिन डी की रोजाना कम से कम 600 आईयू की मात्रा गर्मियों में विटामिन डी की स्थिति बनाए रखने में मदद करेगी.


सर्दियों में विटामिन डी की कमी को ऐसे पूरा करें
धूप के अतिरिक्त अच्छी डाइट के जरिए विटामिन डी की कमी को पूरा करें. मांसाहारी लोग सैल्मन, ट्यूना व मैकेरल जैसी मछली का सेवन करें, क्योंकि इसमें बहुत ज्यादा मात्रा में विटामिन डी होता है. अंडे को भी डाइट में शामिल करें. इसके अतिरिक्त सर्दियों में अगर प्राकृतिक रूप से विटामिन डी नहीं मिल रहा है तो कुछ डेयरी उत्पादों के सेवन से इस कमी को पूरा करें. तिल, दूध, सोया मिल्क, पनीर जरूर लें. दालों व संतरे का सेवन भी फायदेमंद होगा. इसके अतिरिक्त हरी सब्जियां, शलजम, नीबू, मूली, पत्तागोभी, टमाटर का सेवन लाभ करेगा. सर्दियों के मौसम में बच्चों में विटामिन डी की कमी को पूरा करने के लिए चिकित्सक ओरल विटामिन डी ड्रॉप देने की सलाह देते हैं.


पेट की समस्याओं और एसिडिटी से छुटकारा पाने के लिए करें इस चीज का सेवन

पेट की समस्याओं और एसिडिटी से छुटकारा पाने के लिए करें इस चीज का सेवन

आजकल समय पर खाना नहीं खाने और फ़ास्ट फ़ूड के सेवन से एसिडिटी होना एक गंभीर समस्या है जिसके चलते अपच और कई अन्य तकलीफे होने लगती है कई बार ये गैस सिर में चढ़ जाती है। जिसके चलते दर्द की समस्या होने लगते है और कई बार छाती या शरीर के अन्य हिस्सों में पहुंच जाती है जिसके चलते दर्द या अकड़न की समस्या होने लगाती है।

अपनाएं ये देसी नुस्खे:

अदरक:अदरक में पाचन सही करने और जलन कम करने के अद्भुत गुण हैं इसका पूरा लाभ लेने के लिए ताजा अदरक के कुछ कतरे चबाने से ऐसिडीटी की समस्या कम हो जाएगी।

छाछ: इस में लैक्टिक ऐसिड होता है जिस से पेट की ऐसिडीटी सामान्य स्थिति में आ जाती है। गर्मियों में इसके सेवन से लाभ मिलता है इसके लिए आप दिन में कई बार छाछ पी सकते हैं।

दालचीनी: यह आतों के संक्रमण को भी दूर करती है। इसके इस्तेमाल के लिए कप पानी उबालते हुए उस में 1 चम्मच दालचीनी पाउडर डाल दें। इसे उबलने दें। दिन में 3 बार इस दालचीनी चाय का सेवन करें।

Loading...