झगड़ा सुलझाने गई पुलिस पर पथराव: तीन पुलिसकर्मी गंभीर रूप से जख्मी

झगड़ा सुलझाने गई पुलिस पर पथराव: तीन पुलिसकर्मी गंभीर रूप से जख्मी

सीवान के सिसवन थाना क्षेत्र के भागड़ गांव में झगड़ा सुलझाने के लिए पहुंचे पुलिसवालों पर असामाजिक तत्वों के द्वारा पथराव के बाद तीन पुलिसकर्मी गंभीर रूप से जख्मी हो गये. घटना शनिवार की देर रात की है. इस मुद्दे में 30 नामजद एवं 80 अज्ञात पर पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की है. दर्ज कराई गई प्राथमिकी में पदस्थापित एएसआई सुरेंद्र प्रसाद यादव ने सिसवन थाने में दिए अपने आवेदन में बोला है कि शनिवार की देर सांध्य गश्ती के दौरान गैर कानूनी शराब के लिए छापेमारी करने के लिए गया था. जिसमें मेरे साथ सिपाही अरविंद कुमार पांडे संजीत कुमार सिंह, कृष्णा उपाध्याय एवं कचनार के चौकीदार परमात्मा यादव एवं चालक रंजीत कुमार यादव साथ थे.

तभी थानाध्यक्ष के द्वारा दूरभाष के माध्यम से सूचना मिली कि भागर मठ के महंत कृष्णकांत भारती के घर पर कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा गाली गलौज एवं तोड़-फोड़ किया जा रहा है, इस सूचना पर शनिवार की रात करीब 9 बजे छठु यादव एवं रामचंद्र यादव के घर के पास पहुंचा तो पूर्व से घात लगाए सैकड़ों लोगों ने मुझ पर अचानक ईट पत्थर से हमला कर दिया. हमले में सिपाही संजीव कुमार सिंह, चालक रंजीत कुमार यादव, एवं एएसआई सुरेंद्र प्रसाद यादव गंभीर रूप से घायल हो गए. हम लोग किसी तरह से वहां से भाग कर अपनी अपनी जान बचाई.

क्षतिग्रस्त पुलिस का गश्ती वाहन.

इधर पुलिस द्वारा नामजद आरोपियों में भागर गांव निवासी छठु यादव,रामचंद्र यादव, शिवजी यादव,बच्चा मल्लाह,रुदल यादव,शिवजी यादव, रामबाबू यादव, गुड्डू कुमार यादव,धर्मेंद्र यादव, हरिकिशुन यादव, उमेश प्रसाद, जयप्रकाश यादव,हरिद्वार यादव, गौरीशंकर साह, गुलाबचंद प्रसाद, हरिकिशुन माली,कृष्णा साह, सद्दाम हुसैन, दीपाचंद्र प्रसाद,सहित 70 से 80 अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है.

सुरेंद्र प्रसाद यादव ने अपने आवेदन मे बोला है कि सभी एक राय होकर मुझ पर पत्थर एवं लाठी डंडे से अंधाधुन्ध हमला किया जिसमें सिपाही संजीत कुमार सिंह,चालक रंजीत कुमार यादव को गंभीर चोट लगी इस भीड़ का नेतृत्व लल्लन यादव गौतम यादव एवं विमल यादव कर रहे थे.वहीं दूसरी तरफ ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस ने की पुरुष की जबर्दस्त पिटाई कर दी. जिसके बाद गांव के रामचंद्र यादव का पुत्र विकास कुमार को घायल कर दिया गया.