बिहार में 24 घंटे में मानसून की दस्तक

बिहार में 24 घंटे में मानसून की दस्तक

बिहार में अगले 24 घंटे में मानसून पूर्णिया और अररिया के रास्ते से प्रवेश कर सकता है दरअसल बंगाल की खाड़ी में शुक्रवार को कम दबाव का क्षेत्र बनने के कारण दक्षिण पश्चिम मानसून बहुत ज्यादा मजबूत हुआ है मानसून के प्रवेश के बाद प्रदेश में अच्छी बारिश होने की आसार जताई जा रही है पटना मौसम विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिकों की मानें तो वर्तमान में बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से दक्षिण पश्चिमी मानसून के मजबूत हो जाने के बाद पिछले 3 दिनों से मानसून देश के पूर्वी भाग में बहुत ज्यादा निर्बल पड़ चुका है

यही कारण है कि मानसून पश्चिम बंगाल के बागडोगरा से यह आगे नहीं बढ़ पा रहा था, लेकिन अब उसके आगे बढ़ने की आशा है अगले एक-दो दिनों में मानसून पूर्वी बिहार यानी पूर्णिया और अररिया के रास्ते होकर प्रदेश में प्रवेश कर सकता है वैसे बिहार में 15 जून से मानसून की बारिश प्रारम्भ होती रही है मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो प्रदेश में मानसून के प्रवेश होते ही अच्छी बारिश होगी बंगाल की खाड़ी से बहुत ज्यादा मात्रा में नमी आने के कारण प्रदेश में फर्स्ट फेज यानी मध्य जून के दौरान कहीं भारी तो कहीं मध्यम दर्जे की बारिश होने की आसार जताई जा रही है

सामान्य तौर पर अब मानसून के दौरान 1000 मीटर बारिश होती है शुक्रवार की प्रातः काल से ही बिहार के विभिन्न इलाकों में आंधी और तेज बारिश होती रही कई जिले जैसे सीवान, पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज पूर्वी चंपारण, नालंदा खगड़िया, मुंगेर ,भागलपुर वैशाली बेगूसराय, दरभंगा, मुजफ्फरपुर मधुबनी में आंधी के साथ तेज बारिश भी हुई है


स्‍वतंत्रता दिवस को लेकर प्‍लेटफॉर्म से ट्रेनों तक की चेकिंग शुरू

स्‍वतंत्रता दिवस को लेकर प्‍लेटफॉर्म से ट्रेनों तक की चेकिंग शुरू

स्वतंत्रता दिवस पर सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए गया जंक्शन पर बुधवार की देर रात आरपीएफ व जीआरपी के अधिकारी व पुलिस कर्मियों के द्वारा सर्कुलेटिंग एरिया, वेटिंग रूम, पार्सल कार्यालय, ट्रेन, प्लेटफार्म पर डाग स्क्वाड के साथ सघन जांच की गई।

वहीं, गया जंक्शन से गुजरने वाली हावड़ा-नई दिल्ली राजधानी, भुवनेश्वर-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस, सियालदह नई-दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस समेत अन्य एक्सप्रेस ट्रेनों में सघन जांच अभियान चलाया गया। इस दौरान ट्रेनों के कोंच में संदिग्ध वस्तुओं और सामान की विशेष रूप से जांच की गई। इस संबंध में रेल थानाध्यक्ष संतोष कुमार ने बताया कि यह जांच रेलवे के उच्चाधिकारियों के आदेशानुसार की गई।

आरपीएफ व जीआरपी के अधिकारियों ने डाग स्क्वाड के साथ सर्कुलेटिंग एरिया में फोर व्हीलर चालकों एवं टू व्हीलर प्राइवेट पार्किंग स्टैंड के कर्मियों को सुरक्षा व्यवस्था को लेकर कई बातें बताई गई। आरपीएफ इंस्पेक्टर एएस सिद्दीकी ने कहा कि सर्कुलेटिंग एरिया में कोई भी अनक्लेम्ड फोर व्हीलर या टू व्हीलर नजर में आने पर तुरंत जीआरपी एवं आरपीएफ को सूचित करने को कहा गया है।


साथ ही पार्सल कार्यालय में जाकर पार्सल की जांच की गई। इसमें कोई भी अनक्लेम्ड या अनबुक्ड पार्सल नहीं पाया गया। पार्सल ऑफिस में ड्यूटी में तैनात स्टाफ को कोई भी अनक्लेमड या अनबक्ड लगेज बरामद होने पर तत्काल आरपीएफ व जीआरपी को सूचित करने का निर्देश पार्सल आफिस के रेलकर्मी व मजदूरों को दिया गया। आरपीएफ व जीआरपी की टीम ने पूर्व में हुई घटनाओं को ध्यान में रखते हुए सावधानी बरतने की बात कहीं। इस मौके पर आरपीएफ के सब इंस्पेक्टर विक्रमदेव सिंह के अलावे अधिकारी व जीआरपी के सभी पदाधिकारी व जवान शामिल थे।