मोतिहारी के स्कूल में धूप के साथ बदलती है बच्चों के बैठने की जगह

मोतिहारी के स्कूल में धूप के साथ बदलती है बच्चों के बैठने की जगह

इस विद्यालय के विद्यार्थी मौसम के हिसाब से अपनी पढ़ाई करते हैं.

पेड़ के नीचे बैठकर पढ़ रहे यह विद्यार्थी किसी गुरुकुल के नहीं, बल्कि मोतिहारी के एक सरकारी विद्यालय के हैं. ऐसी फोटोज़ पहले भी आती रही हैं. लेकिन इन तस्वीरों को हर बार दिखाना इसलिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि बिहार गवर्नमेंट शिक्षा में सुधार के बड़े-बड़े दावे करती है. हालांकि जमीनी स्तर पर अभी भी शिक्षा का स्तर ‘जमीन’ पर ही है. इसे साबित करने के लिए यह फोटोज़ काफी हैं.

मामला बंजरिया प्रखंड के राजकीय मध्य विद्यालय, मोखलिसपुर का है. यहां के विद्यार्थी मौसम के हिसाब से अपनी पढ़ाई करते हैं. बारिश आने के साथ ही विद्यार्थियों की पढ़ाई बंद हो जाती है.

साल 1951 में हुई थी इस विद्यालय की स्थापना.

धूप बढ़ने के साथ बदलता है बैठने का स्थान
विद्यालय में पढ़ने वाले वर्ग-6 के विद्यार्थी अभिषेक कुमार, वर्ग-8 के सरवन कुमार और आबिद हुसैन, वर्ग-7 के निरहू कुमार और सोनू ने बताया कि भवन नहीं होने के कारण हमलोग पीपल के पेड़ के नीचे बैठ कर पढ़ाई करते हैं. हमेशा डर बना रहता है कि कहीं कोई पेड़ की डाली टूट कर न गिर जाए. जैसे-जैसे धूप चढ़ती है, बैठने की स्थान भी बदलनी पड़ती है. बारिश आने के साथ ही सभी एक रूम में चले जाते हैं.

स्कूल के पास से होकर गुजरने वाली सिकरहना नदी में कटाव के कारण फील्ड का कुछ हिस्सा नदी में समाहित हो गया है. पेड़ के नीचे पढ़ने वाले विद्यार्थी नदी की ओर न जाएं, इसके लिए तीन शिक्षक उनकी नज़र में लगे रहते हैं.

सिकरहना नदी के कटाव में निकल गया फील्ड का कुछ हिस्सा.

DEO कहे – बन रही नयी बिल्डिंग
स्कूल के बारे में मोतिहारी के जिला शिक्षा पदाधिकारी संजय कुमार ने बताया कि इसकी स्थापना वर्ष 1951 में हुई थी. उस समय फूस का भवन था. बाद में 70 के दशक में तीन रूम का खपरैल पक्का का मकान बनाया. तब से लेकर अब तक उसी तीन रूम में वर्ग एक से आठ तक के विद्यार्थी पढ़ाई कर रहे हैं. अभी वहां से आधे किमी दूर जमीन मिली है. वहां छह कमरों की नयी बिल्डिंग बन रही है.

वहीं विद्यालय के प्रधान शिक्षक मुकेश रंजन ने बताया कि भवन नहीं होने के कारण विद्यार्थियों को कठिनाई होती है. हम लोग भी परेशान रहते हैं. हालांकि नयी बिल्डिंग का निर्माण चल रहा है. जल्द ही कठिनाई दूर हो जाएगी.

स्कूल में 951 विद्यार्थियों पर 9 शिक्षक
राजकीय मध्य विद्यालय, मोखलिसपुर में क्लास एक से 8 तक में नामांकित विद्यार्थियों की कुल संख्या 951 है. इनमें वर्ग 1 में 34, 2 में 60, 3 में 138, 4 में 159, 5 में 129, 6 में 142, 7 में 88 और 8 में 201 विद्यार्थी हैं. इसके अतिरिक्त यहां 6 स्त्री और 3 मर्दों समेत शिक्षकों की संख्या 9 है. जबकि 2 शिक्षा सेवक हैं.