बिहार के सियासी गलियारों में अटकलों का बाजार गर्म

बिहार के सियासी गलियारों में अटकलों का बाजार गर्म

बिहार में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के चार विधायकों के RJD में शामिल होते ही अब आरजेडी के 80 विधायक हो गए हैं आरजेडी एक बार फिर से बिहार की सबसे बड़ी पार्टी बन गई है ऐसे में बिहार के राजनीतिक गलियारों में अटकलों का बाजार गर्म है इस बीच नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बड़ा दावा करते हुए बोला कि बड़ी पार्टी बनाकर झुनझुना थोड़ी ना बजाना है जिस पर जदयू की ओर से बिहार गवर्नमेंट में मंत्री अशोक कुमार चौधरी ने उत्तर दिया है उन्होंने बोला कि ऐसा पहली बार थोड़े हुआ है कि आरजेडी सबसे बड़ी पार्टी बनी है

तेजस्वी यादव के दावे पर मंत्री अशोक कुमार चौधरी ने बोला किआरजेडी पहले भी राज्य की सबसे बड़ी पार्टी थी जब हमलोगों ने गवर्नमेंट बनाया था तब भी आरजेडी सबसे बड़ी पार्टी थी ऐसा तो है नहीं कि पहली बार हुई है उन्होंने बोला कि बीच में मुकेश सहनी के लोग भाजपा में शामिल हो गए तो बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बन गई थी अब एआईएमआईएम के लोग वहां चले गए तो आरजेडी फिर से सबसे बड़ी पार्टी हो गई अशोक चौधरी ने बोला कि इसमें कौन सी बड़ी बात है वहीं इससे गवर्नमेंट को कोई खतरा है क्या इस प्रश्न पर उन्होंने बोला कि पहले भी बड़ी पार्टी थी जब परिणाम आया था तब भी आरजेडी सबसे बड़ी पार्टी थी इसलिए ऐसा कुछ नहीं है

बता दें कि तेजस्वी यादव ने गुरुवार को बोला कि कौन भविष्य के लिए तैयारी नहीं करता है जो भविष्य के लिए तैयारी नहीं करता है उसका अस्तित्व मिट जाता है और मिट रहा है तो क्यों ना तैयारी करे भाई वहीं आरजेडी के बड़ी पार्टी बनने पर ख़ुशी जताते हुए तेजस्वी यादव ने बोला कि बड़ी पार्टी बनाकर झुनझुना थोड़ी ना बजाना है हमलोग जंग लड़ रहे हैं बड़ी पार्टी हम अपने आप से तो नहीं बना रहे हैं जब बिहार का चुनाव हुआ तो जनता ने बनाया

बता दें कि बुधवार को तेजस्वी यादव ने स्वयं घोषणा किया कि असदुद्दीन ओवैसी के चार विधायकों ने आरजेडी का दामन थाम लिया है इससे पहले दोपहर अचानक तेजस्वी यादव ने विधानसभा के अध्यक्ष विजय सिन्हा के कमरे में एआईएमआईएम के 4 विधायकों के साथ पहुंचकर मुलाकात की इस दौरान अख्तरुल ईमान को छोड़कर एआईएमआईएम के सभी विधायक उपस्थित रहे पार्टी के चार विधायक शाहनवाज, इजहार एसपी, अंजार नाइयनी, सैयद रुकूंदीन के आरजेडी में शामिल होने के बाद एआईएमआईएम के केवल विधायक दल के नेता अख्तरूल ईमान ही एआईएमआईएम में बच गए हैं