बेतिया में हथकड़ी समेत अभियुक्त फरार, आरोपी बोला...

बेतिया में हथकड़ी समेत अभियुक्त फरार, आरोपी बोला...

बेतिया के गौनाहा थाना काण्ड संख्या 205/22 के हथकड़ी समेत फरार अभियुक्त का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. वायरल वीडियो में स्पष्ट रूप से अभियुक्त कहते नजर आ रहा है कि वह खूद से नहीं भागा बल्कि पुलिस ने उसको भाग जाने को कहा. पुलिस ने उसको भगाने के लिए उसके भाई से अच्छी रकम ली थी. जिस समय वह वहां से भागा उस समय पुलिस ने उसको हथकड़ी भी नहीं लगाई थी.

सीसीटीवी में कैद

इसके भाग जाने के बाद पुलिस ने शिकारपुर थाना में झुठा मुकदमा किया कि वह हथकड़ी समेत फरार हुआ है. सोशल मीडिया पर अभियुक्त कहते नजर आ रहा है कि गौनाह थाना से जब उसको उपचार के लिए बेतिया ले जाया जा रहा था तो माधोपुर पेट्रोल पंप के पास उसको एंबुलेंस से उतार कर उसमें दुसरे आदमी को बैठा दिया गया और एएसआई विवेक कुमार ने उसको अपने बाइक पर बिना हथकड़ी के बैठा लिए. रास्ते भर उसको समझाते आया कि तूम पेट में दर्द होने का बहाना बनाना और मैं तुमको शौच के लिए भेजुंगा. वहां से तूम भाग जाना.

नरकटियागंज एसएसबी कैंप के पास ददन चौबे के पेट्रोल पंप के पास पहुंचा तो एएसआई बाइक रोक कर पेट में दर्द होने को कहते हुए एक गार्ड के साथ शौच के लिए भेज दिया. जिसका सीसीटीवी फुटेज पेट्रोल पंप के पास लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद है. एएसआई के कहने पर ही मै वहां से भाग गया. लेकिन किसी रसुखदार के इशारे पर एएसआई ने झुठा मुकदमा दर्ज कराया कि मैं हथकड़ी समेत अपने भाई के साथ फरार हुआ हूं.

रिश्तेदारों को परेशान किया जा रहा

अब पुलिस मेरे परिवार एवं संबंधियों को परेशान कर रही है. सोशल मीडिया पर उसने सीएम एवं उप सीएम से न्याय की गुहार लगाते हुए नजर आ रहा है.वहीं गौनाहा थाने में पदस्थापित एएसआई विवेक कुमार वालेंदू का बोलना है कि अभियुक्त द्वारा लगाया गया आरोप आधारहीन एवं निराधार है.उसको फर्जीवाड़ा समेत अन्य मामलों में अरैस्ट किया गया था.तबीयत बिगड़ी तो उसको उपचार के लिए बेतिया ले जाया जा रहा था. रास्ते में उसके भाई एंव सम्बन्धी पहुंच कर एक षड़यंत्र के अनुसार भगा ले गए.