रेलवे प्लेटफॉर्म के समीप कार्य कर रहे थे मजदूर, तभी गिरी जोरदार बिजली

रेलवे प्लेटफॉर्म के समीप कार्य कर रहे थे मजदूर, तभी गिरी जोरदार बिजली

बिहार (Bihar) की राजधानी पटना (Patna) के फतुहा थाना क्षेत्र के फतुहा स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या एक के पूर्वी छोर के नजदीक ठनका (Lightning Struck) गिरने से चार लोगों की झुलस कर मृत्यु हो गई वहीं हादसे में दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए है गंभीर रूप से घायल सभी लोगों को उपचार के लिए फतुहा पीएचसी में भर्ती कराया गया है जहां डॉक्टरों ने उपचार के क्रम में चार लोगों को मृत घोषित कर दिया मृतकों की पहचान कौशल देवी 25 वर्ष, सरस्वती कुमारी 9 वर्ष, यमुना सिंह 50 साल और कन्हैया सिंह 18 साल के रूप में की गई है वहीं घायलों की पहचान माला देवी 30 साल और भोला कुमार 14 साल के रूप में की गई है

मृतका कौशल देवी गर्भवती बताई जाती है वहीं मृतक यमुना सिंह और कन्हैया सिंह आपस में पिता-पुत्र बताए जाते हैं सभी मृतक और घायल पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिले के बलरामपुर के निवासी बताए जाते हैं, जो पिछले एक डेढ़ महीने से खानाबदोश के रूप में फतुहा स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या एक के पूर्वी छोर के नजदीक डेरा डालकर मजदूरी का कार्य करते थे

मजदूरी का कार्य करते थे सभी

बताया जाता है कि सभी लोग आर्टिफिशियल फूल का निर्माण कर उसे बाजारों में बेचने का कार्य करते थे शुक्रवार दोपहर सभी श्रमिक आर्टिफिशियल फूल के निर्माण में जुटे थे इसी दौरान हुए बारिश के साथ आकस्मित से ठनका गिर पड़ा इसकी चपेट में आने से चार लोगों की मौके पर ही मृत्यु हो गई, वहीं दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए आकस्मित से हुए इस हादसे से आसपास के इलाकों में हड़कंप मच गया तत्काल लोकल लोगों द्वारा घटना की जानकारी पुलिस को दी गई सूचना मिलते ही  पुलिस ने मौके पर पहुंचकर  लोकल लोगों की सहायता से सभी घायलों को उपचार के लिए फतुहा पीएचसी में भर्ती कराया, जहां उपचार के दौरान डॉक्टरों ने 4 लोगों को मृत घोषित कर दिया फतुहा पीएचसी प्रभारी डाक्टर एसएस राय ने सभी चार मौतों की पुष्टि की है घटना के बाद से मृतकों के परिवार में कोहराम मचा है


स्‍वतंत्रता दिवस को लेकर प्‍लेटफॉर्म से ट्रेनों तक की चेकिंग शुरू

स्‍वतंत्रता दिवस को लेकर प्‍लेटफॉर्म से ट्रेनों तक की चेकिंग शुरू

स्वतंत्रता दिवस पर सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए गया जंक्शन पर बुधवार की देर रात आरपीएफ व जीआरपी के अधिकारी व पुलिस कर्मियों के द्वारा सर्कुलेटिंग एरिया, वेटिंग रूम, पार्सल कार्यालय, ट्रेन, प्लेटफार्म पर डाग स्क्वाड के साथ सघन जांच की गई।

वहीं, गया जंक्शन से गुजरने वाली हावड़ा-नई दिल्ली राजधानी, भुवनेश्वर-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस, सियालदह नई-दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस समेत अन्य एक्सप्रेस ट्रेनों में सघन जांच अभियान चलाया गया। इस दौरान ट्रेनों के कोंच में संदिग्ध वस्तुओं और सामान की विशेष रूप से जांच की गई। इस संबंध में रेल थानाध्यक्ष संतोष कुमार ने बताया कि यह जांच रेलवे के उच्चाधिकारियों के आदेशानुसार की गई।

आरपीएफ व जीआरपी के अधिकारियों ने डाग स्क्वाड के साथ सर्कुलेटिंग एरिया में फोर व्हीलर चालकों एवं टू व्हीलर प्राइवेट पार्किंग स्टैंड के कर्मियों को सुरक्षा व्यवस्था को लेकर कई बातें बताई गई। आरपीएफ इंस्पेक्टर एएस सिद्दीकी ने कहा कि सर्कुलेटिंग एरिया में कोई भी अनक्लेम्ड फोर व्हीलर या टू व्हीलर नजर में आने पर तुरंत जीआरपी एवं आरपीएफ को सूचित करने को कहा गया है।


साथ ही पार्सल कार्यालय में जाकर पार्सल की जांच की गई। इसमें कोई भी अनक्लेम्ड या अनबुक्ड पार्सल नहीं पाया गया। पार्सल ऑफिस में ड्यूटी में तैनात स्टाफ को कोई भी अनक्लेमड या अनबक्ड लगेज बरामद होने पर तत्काल आरपीएफ व जीआरपी को सूचित करने का निर्देश पार्सल आफिस के रेलकर्मी व मजदूरों को दिया गया। आरपीएफ व जीआरपी की टीम ने पूर्व में हुई घटनाओं को ध्यान में रखते हुए सावधानी बरतने की बात कहीं। इस मौके पर आरपीएफ के सब इंस्पेक्टर विक्रमदेव सिंह के अलावे अधिकारी व जीआरपी के सभी पदाधिकारी व जवान शामिल थे।