मिनी और कॉम्पैक्ट सेगमेंट में बढ़ी डिमांड

मिनी और कॉम्पैक्ट सेगमेंट में बढ़ी डिमांड

देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इण्डिया लिमिटेड ने सितंबर सेल्स के आंकड़े जारी कर दिए हैं. कंपनी को डोमेस्टिक पैसेंजर व्हीकल सेल्स में ईयरली बेसिस पर 135.11% की ग्रोथ मिली है. सितंबर महीने में कंपनी ने कुल 148,380 यूनिट बेचीं. सितंबर 2021 में कंपनी ने 63,111 यूनिट बेची थीं. यानी कंपनी ने बीते महीने 85,269 यूनिट अधिक बेचीं. वहीं, LCV को मिलाकर कंपनी की डोमेस्टिक सेल्स 150,885 यूनिट रही. सितंबर 2021 में ये आंकड़ा 66,415 था. कंपनी को डोमेस्टिक और एक्सपोर्ट को मिलाकर कुल बिक्री 176,306 यूनिट की रही. कंपनी को सभी सेगमेंट जैसे मिनी, कॉम्पैक्ट, मिड-साइज, यूटिलिटी व्हीकल, वेन्स और लाइट कमर्शियल व्हीकल में ग्रोथ मिली.

मिनी और कॉम्पैक्ट सेगमेंट में डिमांड बढ़ी
हैचबैक सेगमेंट मारुति के लिए हमेशा से मजबूत कड़ी रहा है. इसमें कई मिनी और कॉम्पैक्ट मॉडल शामिल हैं. मारुति के पास मिनी सेगमेंट में ऑल्टो और एस-प्रेसो शामिल हैं. कंपनी ने सितंबर में इन दोनों कार की 29,574 यूनिट बेचीं. सालभर पहले कंपनी ने सितंबर में इस सेगमेंट में 14,936 गाड़ियां बेची थीं. दूसरी तरफ, कॉम्पैक्ट सेगमेंट में बलेनो, सेलेरियो, डिजायर, इग्निस, स्विफ्ट, टूर एस और वैगनआर शामिल हैं. इन 7 मॉडल की कंपनी ने सितंबर 2022 में 72,176 यूनिट बेचीं. सितंबर 2021 में इसकी 20,891 यूनिट बिकी थीं.

यूटिलिटी व्हीकल सेगमेंट में भी ग्रोथ मिली
मारुति के पास यूटिलिटी व्हीकल सेगमेंट में ब्रेजा, अर्टिगा, एस-क्रॉस और XL6 शामिल हैं. इन चारों मॉडल की कंपनी ने पिछले महीने 32,574 यूनिट बेचीं. बीते वर्ष इस सेगमेंट में कंपनी ने 18,459 यूनिट बेची थीं. कंपनी के पास मिड-साइज सेगमेंट में एकमात्र कार सियाज है. बीते महीने इसकी 1,359 यूनिट बिकीं. जबकि सालभर पहले इसकी 981 यूनिट बिकी थीं. वहीं, वेन्स कैटेगरी में कंपनी ईको की 12,697 यूनिट बेचीं. ये सितंबर 2021 में 7,844 यूनिट थीं.