बिज़नस

लहसुन की कीमतों में उछाल जारी, नई फसल आते ही घटेंगे दाम  

  प्याज से साथ ही लहसुन (Garlic) ने भी रुलाना प्रारम्भ किया था प्याज की बढ़ती मूल्य पर निर्यात रोक कर केंद्र गवर्नमेंट ने रोक तो लगा दी लेकिन प्याज उपादक किसान आज भी रो रहे हैं लहसुन की मूल्य भी प्याज के साथ ही आसमान पर गई थी  लेकिन प्याज के साथ उसके मूल्य उतरे नहीं, बल्कि वो अब सातवे आसमान पर पहुँच गए हैं आम जनता की रसोई से लहसुन लुप्त हो चुका है मध्यमवर्ग की रसोई से विलुप्ति की कगार पर है नासिक मंडी में लहसुन की मूल्य 3000 रुपये प्रति दस किलो पहुंच गई है खुदरा बाजार में एक किलो लहसुन की मूल्य  450 से 500 रुपये तक पहुंच गई है जानकारों का मानना है कि नयी फसल के लहसुन जल्द ही बाजार में आएंगे और लहसुन की बढ़ी मूल्य (Price Hike) से जनता को जल्द राहत मिलेगी लेकिन इसके लिए एक महीने का इंतज़ार करना होगा 

हर रोज 14 से 15 ट्रक बाजारों में हो रहे आयात

मांग के मुताबिक कम आयात होने की तुलना में बाजार में 10 किलो लहसुन की मूल्य 1500 रुपये से 3000 रुपये तक पहुंच गई है खुदरा बाजार में ये और भी महंगा मिल रहा है इस मूल्य वृद्धि से ग्राहकों को कठिनाई हो रही है और लहसुन रसोई से गायब हो गया है मध्य प्रदेश के नीमच, मंदसौर, जावरा, पितौलिया, इंदौर भाग से हर रोज 14 से 15 ट्रक यहां के बाजारों में प्रवेश कर रहे हैं

बेमौसम बारिश ने किया नुकसान 

पिछले वर्ष सर्दी के साथ-साथ लंबी गर्मी के कारण इस वर्ष लहसुन के मौसम में देरी हुई है इसी बीच बेमौसम बारिश से लहसुन के उत्पादन भी प्रभावित हुए है बेमौसम बारिश के कारण भी लहसुन के फसल को हानि हुआ है भविष्य में लहसुन खराब होने के फेंकने के बजाय किसानों ने ऊंचे दर का लाभ उठाना प्रारम्भ कर दिया है इसके लिए बड़े पैमाने में कच्चे लहसुन निकाल कर माल बाजार में भेजे जा रहे है  इसलिए नए सीजन की आरंभ में कम गुणवत्ता वाला लहसुन भी बड़ी मात्रा में बाजार में आ रहा है इस पर विक्रेताओं ने कहा कि कई ग्राहक केवल लहसुन का रेट पूछकर वापस लौट जा रहे हैं

नई फसल के आने से घटेगी मूल्य (Garlic Price will decline with new Crop)

लहसुन की नयी फसल बाजार तक आने में करीब महीने भर से अधिक का समय लगेगा तब तक लहसुन के रेट और बढ़ सकते हैं जानकारों का मानना है की नै फसा के आते ही लहसुन की मूल्य में गिरावट आएगी लेकिन फिर भी इसे सामन्य मूल्य तक आने में करीब तीन महीने का समय चला जाएगा नयी फसल के आने के साथ ही खुदरा बाजार में लहसुन प्रति किलो 100 रुपये तक पहुंच सकता है ऐसे में ये खा जा सकता है कि प्याज ने तो रुलाना बंद किया है लेकिन लहसुन अभी कुछ दिन और रुलाएगा वैसे भी लहसुन की रसोई वापसी का इंतज़ार जनता बेसब्री से कर रही है

Related Articles

Back to top button