Honor Play 4T व Play 4T Pro हुए लॉन्च, दोनों में मिलेगी 4,000mAh की बैटरी       महाराष्ट्र: उद्धव ठाकरे की कुर्सी पर मंडराया कोरोना का खतरा       वर्ल्ड हैपिनेस रिपोर्ट के बहाने उदित राज ने साधा निशाना, बोले...       पीएम मोदी ने कहा कि भारत कोरोना से निपटने में अपने मित्रों की हरसंभव मदद करने के लिए तैयार       संकट में मदद देने के लिए US के बाद इजरायल ने हिंदुस्तान को कहा...       जानें कैसे करती है कोरोना से बचाव, 350 रुपये में तैयार की पीपीई किट       जेईई मेन के आवेदनकर्ता को मिला सुनहरा मौका       जम्मू और कश्मीर पर टिप्पणी करने पर हिंदुस्तान ने चाइना को घेरा, कहा...       कोरोना के विरूद्ध दिल्ली सरकार की तैयारी, जानें क्या है 'ऑपरेशन शील्ड'       PM मोदी ने वाराणसी बीजेपी जिलाध्यक्ष को किया फोन, कहा...       कोरोना वायरस के मद्देनजर नेवी में भर्ती पर रोक, एडमिरल करमबीर सिंह बोले...       कोरोना से जंग में लगे पुलिसवालों को मिलेगा 30 लाख का कवर, हरियाणा सरकार बड़ा फैसला!       केरल में COVID-19 वार्ड से पकड़ी गई पांच बिल्लियों की मौत       कोरोना वॉरियर की जान गई तो परिवार को 10 लाख रुपये देगी सरकार       चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि उद्धव ठाकरे को एमएलसी मनोनीत नहीं कर सकते राज्यपाल       OMG! सुपरहीरो बनकर कोरोनावायरस को हराना चाहती हैं ये मॉडल , अंग-अंग दिखाती आई नजर       TV एक्ट्रेस अपने सेक्सी फ़िगर से मचा रही है धमाल, हुस्न का दीदार करते रहे लोग       पीएम मोदी की अपील पर इस मॉडल ने ब्रा और पेंटी पहनकर जलाई मोमबत्तियां, जीत लिया सबका दिल       लॉकडाउन से बोर होकर इस एक्ट्रेस ने शेयर की अपनी कामुक तस्वीरे, जिसे देख दीवाने हुए फैंस       लॉकडाउन के दौरान इस एक्ट्रेस ने की ऑनलाउन चैट शो की शुरुआत      

Hyundai की कारों पर मिल रहा 2.50 लाख का बंपर डिस्काउंट

Hyundai की कारों पर मिल रहा 2.50 लाख का बंपर डिस्काउंट

हिंदुस्तान में 1 अप्रैल से सिर्फ बीएस6 वाहनों की बिक्री की जाएगी, डेडलाइन समीप आने की वजह से कार कंपनियां अपनी कारों को बीएस6 नियामकों के अनुरूप अपडेट कर चुकी हैं लेकिन अब भी ऑटोमोबाइल कंपनियों के पास बीएस4 कारों का बड़ा स्टॉक उपस्थित है जिसकी बिक्री नहीं हुई है. ऐसे में इन वाहनों का स्टॉक क्लियर करने के लिए महान कार निर्माता कंपनी हुंडई अपनी कारों पर ढाई लाख तक का डिस्काउंट ऑफर कर रही है. अगर आप भी Hyundai की कार खरीदना चाहते हैं तो आज ही जान लें हुंडई की कौन सी कार पर कितना डिस्काउंट मिल रहा है.

Santro

BS4 Hyundai Santro के बचे हुए स्टॉक पर कंपनी 55,000 रुपये तक के फायदे की पेशकश कर रही है, जिसमें 30,000 रुपये का नकद डिस्काउंट, 20,000 रुपये का बोनस बोनस व कॉर्पोरेट खरीदारों के लिए 5,000 रुपये की अलावा छूट शामिल है.

Elite i20

BS4 Hyundai Elite i20 के Era व Magna+ ट्रिम्स को 20,000 रुपये की नकद छूट, 20,000 रुपये के एक्सचेंज बोनस व 5,000 रुपये के कॉर्पोरेट डिस्काउंट के साथ पेश किया गया है. वहीं, Sportz +, Sportz + Dual Tone व Asta Option वेरिएंट्स पर 40,000 रुपये की नकद छूट मिलती है. जबकि एक्सचेंज व कॉर्पोरेट छूट सीमा रेंज की सभी गाड़ियों पर एक जैसी है.

Verna

BS4 Hyundai Verna पर 90,000 रुपये तक का फायदा दे रही है, जिसमें 50,000 रुपये की नकद छूट, अलावा 30,000 रुपये का एक्सचेंज बोनस व कॉर्पोरेट ग्राहकों के लिए 10,000 रुपये का अलग डिस्काउंट शामिल है.

Creta

BS4 Hyundai Creta 1.6-लीटर पेट्रोल व डीजल वेरिएंट पर 75,000 रुपये की नकद छूट, 30,000 रुपये के एक्सचेंज बोनस व 10,000 रुपये के अलावा कॉर्पोरेट डिस्काउंट दे रही है, जो कुल मिलाकर 1.15 लाख रुपये का डिस्काउंट हो जाता है.

Elantra व Tucson

Hyundai Elantra 75,000 रुपये के एक्सचेंज बोनस व 50,000 रुपये की अलावा कॉर्पोरेट छूट के साथ 1.25 लाख रुपये की नकद छूट दे रही है, जिसे कुल छूट 2.5 लाख रुपये तक हो जाती है. कोरियाई ऑटोमोबाइल महान ने Tucson SUV का फेसलिफ्ट भी पेश किया, जिसे देश में जल्द ही BS6 ईंधन उत्सर्जन मानकों के साथ 2.0-लीटर पेट्रोल व टर्बो-डीजल इंजन के साथ लॉन्च किया जाना है. इसलिए, मौजूदा BS4 Hyundai Tucson पर Elantra के जितनी ही छूट मिल रही है.

Grand i10

BS4 Grand i10 को 75,000 रुपये तक की छूट के साथ पेश किया जा रहा है, जिसमें 40,000 रुपये नकद छूट, 30,000 रुपये एक्सचेंज डिस्काउंट व 5,000 रुपये अलावा कॉर्पोरेट छूट शामिल हैं. Grand i10 1.2-लीटर 4-सिलेंडर पेट्रोल इंजन मिलता है. जिसमें 83 PS का क्षमता व 114 Nm का टॉर्क पैदा होता है. यह कार सिर्फ 5-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स के साथ उपलब्ध है.

Grand i10 Nios (Diesel)

Hyundai Grand i10Nios के डीजल वेरिएंट को 55,000 रुपये तक के कुल फायदों के साथ ऑफर कर रही है, जिसमें 40,000 रुपये का नकद डिस्काउंट, 10,000 रुपये का एक्सचेंज बोनस व 5,000 रुपये का कॉर्पोरेट डिस्काउंट शामिल है.

Xcent

कंपनी BS4 Hyundai Xcent sedan पर 90,000 रुपये की नकद छूट के साथ 5,000 रुपये की अलावा कॉर्पोरेट छूट दे रही है.


सरकार को बड़ा नुकसान! दिल्ली-NCR में पेट्रोल-डीजल और CNG की खपत में भारी गिरावट

सरकार को बड़ा नुकसान! दिल्ली-NCR में पेट्रोल-डीजल और CNG की खपत में भारी गिरावट

लॉकडाउन में वाहनों के पहिए थमने से ईंधन की मांग में भारी गिरावट आई है. दिल्ली एनसीआर में पेट्रोल-डीजल के साथ ही सीएनजी की मांग में 85 से 90 फीसद तक की गिरावट आ गई है. वैसे, सारे दुनिया में यहीं दशा है, इसलिए वैश्विक स्तर पर पेट्रो पदार्थों की मांग में तेज गिरावट आई है. इसलिए वैश्विक स्तर पर इनके दाम में गिरावट आई है. पर दिल्ली में मांग में जबरदस्त गिरावट का प्रभाव दिल्ली सरकार के राजस्व में दिखना स्वभाविक है.

पेट्रो पदार्थ चीज एवं सेवा कर (जीएसटी) की स्थान वैट में आता है. लॉक डाउन में व्यक्तिगत वाहनों के साथ व्यावसायिक वाहनों को चलाने पर पाबंदी है. केवल महत्वपूर्ण सेवा से जुड़े वाहन व जरूरी महत्वपूर्ण वस्तुएं ले जाते व्यावसायिक वाहनों को ही चलाने की अनुमति है. मांग में ऐतिहासिक गिरावट के चलते वैसे सीएनजी गैस प्रदाता कंपनी इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड ने अपने 520 स्टेशनों में से 465 स्टेशनों की सेवा स्थगित कर डी है. इन्हें बंद कर दिया गया है. बाकि के 55 स्टेशनों पर भी सीमित सुविधा ही उपलब्ध है.

हालांकि, दिल्ली में उपस्थित 400 से अधिक पेट्रोल पंप स्टेशन संचालित तो हो रहे हैं पर इनके सभी पंपों की स्थान एक-दो पंप चलाए जा रहे हैं. वहीं, कर्मचारियों की संख्या घटा दी गई है. सामान्य दिनों में एक पेट्रोल पंप पर 15 से 20 कर्मचारियों की स्थान मात्र 2 या 4 कर्मचारी ही सेवा में लगे हैं. पेट्रोल पंप संचालकों के मुताबिक अगर ये महत्वपूर्ण सेवा में नहीं आता तो वह अधिकतर पेट्रोल पंप बंद कर देते, लेकिन महत्वपूर्ण सेवाओं से जुड़े वाहनों की सुविधा को देखते हुए सभी पेट्रोल पंपों को चलाया जा रहा है. दिल्ली पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल बिजलानी के मुताबिक लॉक डाउन में सड़क पर केवल पुलिस, अस्पताल, महत्वपूर्ण सेवा से जुड़े विभाग व आवश्यक वस्तुओं की ढुलाई करते वाहनों को ही चलने की अनुमति है. मीडिया के वाहनों को चलने की अनुमति है.

दिल्ली सार्वजनिक परिवहन निगम ( डीटीसी) की 25 फीसद बसें भी सड़क पर है. बाकि व्यक्तिगत बसें व ट्रकों के अतिरिक्त सड़क पर आम दिनों में उतरने वाले तकरीबन 90 वाहन सड़कों से गायब है. इसलिए मांग एकदम से घट गई है. दिल्ली पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष निश्चल सिंघानिया ने बताया कि पेट्रोल में जहां 10 फीसद वहीं, डीजल की मांग कठिन से 15 फीसद तक है. जबकि सामान्य दिनों में दिल्ली में पेट्रोल की खपत प्रति माह 10 करोड़ लीटर और डीजल की 8 करोड़ लीटर है.

वैश्विक महामारी कोरोना को देखते हुए नहीं लगता कि यह लॉकडाउन इस माह के मध्य तक समाप्त होगा. इसी तरह आम दिनों में आइजीएल स्टेशनों से दिल्ली-एनसीआर में 34-35 लाख किलो सीएनजी की खपत होती है. जो घटकर कठिन से 4-5 लाख किलो ही रह गई है. इसी को देखते हुए आइजीएल ने अपने अधिकतर स्टेशन बंद कर दिए हैं. वैसे, पेट्रोल पंप स्टेशनों पर उपस्थित सीएनजी पंप चल रहे हैं. वहां भी मांग कमोबेश यहीं है. मांग में इस कमी का प्रदेश सरकार के राजस्व पर बड़ा प्रभाव पड़ेगा.

दिल्ली सरकार द्वारा 27. 5 फीसद पेट्रोल और डीजल पर 16. 5 फीसद वैट वसूला जाता है. जो प्रदेश सरकार के राजस्व का बड़ा भाग होता है. एक पेट्रोल पंप के मालिक निशिथ गोयल ने बोला कि मौजूदा समय में पेट्रोल पंप चलाना कठिन भरा है, क्योंकि कर्मचारी भी कोरोना को लेकर डरे हुए हैं. उनका लोगों से सीधे सम्पर्क होता है. वैसे, उन्हें महत्वपूर्ण बचाव बंदोवस्त दिए गए हैं. बुजुर्ग व मधुमेह, ब्लडप्रेसर के मरीजों को भी सेवा से अलग रखा गया है.