PM मोदी ने पहना ‘जियो ग्‍लास’, जानें इसकी खासियत

PM मोदी ने पहना ‘जियो ग्‍लास’, जानें इसकी खासियत
इंडिया मोबाइल कांग्रेस पार्टी 2022 (India Mobile Congress) का उद्घाटन और राष्ट्र में 5G सर्विस को लॉन्‍च करने के साथ ही पीएम मोदी ने इससे जुड़ीं तकनीकों को परख कर देखा. प्रधानमंत्री, जियो (Jio) के पवेलियन में पहुंचे और जियो ग्‍लास (Jio Glass) पहनकर उन्‍होंने उसे एक्‍सपीरियंस किया. ‘जियो ग्‍लास’ एक डिवाइस है, जिसे एजुकेशन से लेकर गेमिंग, एंटरटेनमेंट, शॉपिंग आद‍ि में प्रयोग किया जा सकता है. Gadgets360Hindi टीम ने भी जियो ग्‍लास को एक्‍सपीरियंस किया. आइए इसके बारे में विस्‍तार से जानते हैं.  

‘जियो ग्‍लास’ एक ऐसा चश्‍मा है, जो आने वाले दिनों में आपके देखने के नजरिए को बदल देगा. सामने से देखने पर यह एक नॉर्मल चश्‍मे की तरह नजर आता है. लेकिन जब इसे आप अपनी डिवाइस से कनेक्‍ट कर पहनते हैं, तो सामने बेहतरीन 2D और 3D विजुअल उभरने लगते हैं. जियो ग्‍लास हर आंख के लिए 1920 X 1080 पिक्‍सल रेजॉलूशन ऑफर करता है. यह 50 डिग्री के फील्‍ड ऑफ व्‍यू में कंटेंट को पेश करता है. चश्‍मे में ऑडियो सिस्‍टम भी इनबिल्‍ट है, यानी इसे पहनकर आपको अलग से हेडफोन लगाने की आवश्यकता नहीं होगी. 

यह आम चश्‍मों की तरह की लाइटवेट और कॉम्‍पैक्‍ट है, जिससे इसे देर तक भी पहना जा सकता है. इसे जियो ग्‍लास कंट्रोलर की सहायता से नियंत्रित किया जाता है, लेकिन यह स्‍मार्टफोन से भी कनेक्‍ट हो सकता है, जिसके बाद आप हर तरह के कंटेंट को एक्‍सपीरियंस कर सकते हैं. यह बाजार में कब तक आएगा, इस बारे में जियो ने अभी कुछ नहीं बताया है. इण्डिया मोबाइल कांग्रेस पार्टी में जियो ग्‍लास को जियो एजुकेशन के साथ जोड़कर प्रचारित किया जा रहा है. जियो के प्रतिनिधि ने बताया कि राष्ट्र के क्‍लासरूम्‍स में बेहतर एजुकेशन देने में जियो ग्‍लास मददगार हो सकता है. 

जब क्‍लारूम्‍स तक 5G नेटवर्क पहुंच जाएगा, तो टीचर अपने स्‍टूडेंट्स को जियो ग्‍लास की सहायता से पढ़ा सकते हैं. स्‍टूडेंट्स इस ग्‍लास को पहनेंगे और कंटेंट उनकी आंखों के सामने 2D या 3D विजुअल में नजर आएगा. जियो ग्‍लास, होलोग्राफिक कंटेंट और सामान्य वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के एक्‍सपीरियंस को भी बेहतर बना सकता है. आशा है कि जियो इसे जल्‍द बाजार में लॉन्‍च कर सकती है.