IT कंपनियों के नतीजों ने दिखाई इकोनॉमी में सुधार की तस्वीर, इन कंपनियों को दिसंबर तिमाही में हुआ जबरदस्त फायदा

IT कंपनियों के नतीजों ने दिखाई इकोनॉमी में सुधार की तस्वीर, इन कंपनियों को दिसंबर तिमाही में हुआ जबरदस्त फायदा

जीएसटी संग्रह और अन्य आर्थिक संकेतकों के साथ-साथ देश की इकोनॉमी में सुधार की गवाही आइटी कंपनियों के तिमाही नतीजे भी दे रहे हैं। देश की दूसरी सबसे बड़ी आइटी कंपनी इन्फोसिस ने दिसंबर, 2020 को समाप्त हुई तिमाही में 5,197 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया है। सालभर पहले के 4,457 करोड़ के मुकाबले कंपनी के मुनाफे में 16.6 फीसद की वृद्धि हुई है। आइटी फर्म विप्रो का मुनाफा भी करीब 21 फीसद बढ़ा है।

इन्फोसिस ने रेगुलेटरी फाइलिंग में बताया कि चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर, 2020) में कंपनी का राजस्व 12.3 फीसद बढ़कर 25,927 करोड़ रुपये रहा। सालभर पहले यह 23,092 करोड़ था।

Infosys के सीईओ और एमडी सलिल पारेख ने कहा, 'इन्फोसिस की टीम ने एक और तिमाही में शानदार नतीजे दिए हैं। डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन पर केंद्रित रहते हुए क्लाइंट के अनुरूप रणनीति ने हमें लगातार विकास की राह पर आगे बढ़ाया है। वैनगार्ड, डेमलर और रोल्स रॉयस जैसी अग्रणी कंपनियों के साथ क्लाइंट पार्टनरशिप इन्फोसिस की डिजिटल एवं क्लाउड कैपेबिलिटी का प्रमाण है।' उन्होंने आगे भी बेहतर प्रदर्शन का भरोसा जताया।

आइटी फर्म विप्रो ने भी बीती तिमाही में करीब 21 फीसद की बढ़ोतरी के साथ 2,968 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया है। पिछले साल इसी अवधि में कंपनी का मुनाफा 2,455.9 करोड़ रुपये रहा था। कंपनी का राजस्व 15,470.5 करोड़ रुपये से 1.3 फीसद बढ़कर 15,670 करोड़ रुपये रहा।

व्रिपो के सीईओ एवं मैनेजिंग डायरेक्टर थियरी डेलापोर्ट ने कहा, 'व्रिपो ने लगातार दूसरी तिमाही में ऑर्डर बुकिंग, रेवेन्यू और मार्जिन के मामले में मजबूत प्रदर्शन किया है। हमने कांटिनेंटल यूरोप में अपनी सबसे बड़ी डील की है।' उन्होंने कहा कि डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन, डिजिटल ऑपरेशंस एवं क्लाउड सर्विस की मांग लगातार बढ़ रही है। कंपनी ने एक रुपये प्रति शेयर के लाभांश का एलान किया है।


उल्लेखनीय है कि देश की सबसे बड़ी आइटी फर्म टीसीएस ने शुक्रवार को तिमाही नतीजे जारी किए थे। बीती तिमाही में कंपनी का मुनाफा 7.2 फीसद बढ़कर 8,701 करोड़ रुपये रहा। सालभर पहले कंपनी का मुनाफा 8,118 करोड़ रुपये था।


WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी पर तीन माह की रोक, 8 फरवरी के बाद बंद नहीं होगा अकाउंट

WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी पर तीन माह की रोक, 8 फरवरी के बाद बंद नहीं होगा अकाउंट

नई दिल्ली। WhatsApp ने भारी दबाव के चलते अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को फिलहाल टाल दिया है। ऐसे में अगर यूजर WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी को 8 फरवरी तक नहीं मंजूरी देते हैं, तो इसके बावजूद भी WhatsApp अकाउंट बंद नहीं होगा। बता दें कि Facebook ओन्ड मैसेजिंग ऐप WhatsApp ने 8 फरवरी से अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी लागू करने वाली थी, जिसे कंपनी ने अगले तीन माह के लिए टाल दिया है। ऐसे में यूजर के पास नई प्राइवेसी पॉलिसी के रिव्यू के लिए 15 मई 2021 तक का वक्त होगा। बता दें कि 15 मई 2021 को WhatsApp का नया बिजनेस ऑप्शन लॉन्च होगा।

कंपनी ने प्राइवेसी पॉलिसी पर दी सफाई 

Facebook ओन्ड कंपनी के मुताबिक WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर यूज़र्स में कंफ्यूजन हैं, जिसके चलते इसे स्थगित किया जा रहा है, जिससे यूजर्स को नई प्राइवेसी पॉलिसी को समझने में ज्यादा वक्त मिल सकेगा। WhatsApp नई प्राइवेसी और सिक्योरिटी पॉलिसी की भ्रामक जानकारियों को लेकर हर स्तर पर लोगों को जानकारी पहुंचाना चाहती है। कंपनी ने साफ किया कि 8 फरवरी के बाद भी यूजर का WhatsApp अकाउंट सस्पेंड या डिलीट नहीं होगा। 

WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी से लोग हैं नाराज 

WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी के ऐलान के बाद से ही भारी संख्या में लोग मैसेंजिंग ऐप जैसे Signal और Telegram पर शिफ्ट हो रहे हैं। WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी का ऐलान 5 जनवरी को हुआ था, जिससे WhatsApp यूजर काफी नाराज हैं। साथ ही WhatsApp के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में भी याचिका दाखिल की गई है, जिसमे दावा किया गया है कि WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी भारतीय नागरिकों के राइट टू प्राइवेसी के अधिकार का उल्लंघन करती है। इसके अलावा केंद्र सरकार भी WhatsApp को पूछताछ के लिए तलब कर सकती है। ऐसे में WhatsApp के खिलाफ चौतरफा दबाव बन रहा है।  


सबसे बड़े रामभक्त: 11 करोड़ का दान करने वाले हीरा कारोबारी, जानें       आन्दोलन में शामिल इस बड़े किसान नेता को NIA ने भेजा समन       गृहमंत्री अमित शाह, कई परियोजनाओं का करेंगे उद्घाटन       ममता को लगेंगे अभी और झटके!       Covaxin ने सवाल उठाने पर अमेरिकी मीडिया को दिया ऐसा जवाब       सेना दिवस पर माचिस की तीलियों से बनाया टैंक, ओड़िशा के कलाकार का कमाल       राम मंदिर निर्माण के लिए अब तक किन-किन लोगों ने दिया चंदा       लड़की जैसा दिखने के लिए कराया लिंग परिवर्तन और होगा गैंगरेप       अभी अभी: राख हो गए अमेजन कर्मचारी, लाशें भी पहचानना हुआ मुश्किल       11 लोगों का काल बना ये सड़क हादसा, पीएम मोदी ने जताया दुख       किसानों का बड़ा फैसला! 26 जनवरी को नहीं होगी ट्रैक्टर रैली       टीएमसी सांसद ने कहा कि भाजपा सत्ता में आई तो मुसलमानों की उलटी गिनती शुरू हो जाएगी       अभी अभी : सरकार का बड़ा ऐलान! कर्मचारियों को तोहफा, अब होगी पैसों की बारिश       क्या बिना रजिस्ट्रेशन वैक्सीन लगवाई जा सकती है? जानें       फिर बेनतीजा रही किसान नेताओं और सरकार के बीच वार्ता       सेना ने किया कमाल, पहली बार साथ उड़े 75 ड्रोन्स       Schools in Himachal Pradesh: 15 फरवरी से तैयार रहें, हुआ ये बड़ा ऐलान       मंत्रालय ने दी ये जानकारी, वैक्सीन लगवाने से पहले जान लें साइड इफेक्ट्स       झारखंड: सोशल मीडिया पर कैंपेन चलाने वालों पर होगा एक्शन       सेना के भयानक हथियार, हिले चीन-पाकिस्तान