सरसों, मूंगफली व सूरजमुखी तेल के दाम भी खूब बढ़े

सरसों, मूंगफली व सूरजमुखी तेल के दाम भी खूब बढ़े

कोरोना संक्रमण के संकट में लोगों को महंगाई की मार भी झेलनी पड़ रही है। खाद्य तेलों की कीमतों में पिछले एक वर्ष के दौरान भारी इजाफा हुआ है। सबसे ज्यादा खपत वाले सोयाबीन तेल की कीमत तो एक साल में लगभग दोगुना हो गई है। वहीं सरसों, मूंगफली, सूरजमुखी तेल के दाम भी खूब बढ़े हैं।

जानकारों की मानें तो अंतरराष्ट्रीय बाजार में खाद्य तेल की कीमत बढ़ने की वजह से देश में यह तेजी आई है। पिछले वर्ष मई सोयाबीन तेल की खुदरा कीमत 90-95 रुपये प्रति लीटर थी, जो अब 170 रुपये प्रति लीटर तक मिल रहा है। सरसों तेल की कीमत 135 रुपये बढ़कर 220 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गई है।

सोयाबीन तेल के दामों में भले ही वृद्धि हो रही है, लेकिन मध्य प्रदेश समेत देश के अन्य हिस्सों में सोयाबीन उत्पादक किसानों को इसका फायदा कम ही मिला है। इस बार येलो मोजेक बीमारी की वजह से पैदावार कम हुई।


सीहोर के किसान एमएस मेवाड़ा बताते हैं एक साल पहले सोयाबीन 2,900 रुपये प्रति क्विंटल (29 रुपये प्रति किलो) बिका था, लेकिन इस साल यह 20 रुपये प्रति किलो बिका। किसान स्वरूप सिंह कहते हैं कि कुछ व्यापारी और किसान अच्छी गुणवत्ता का सोयाबीन उसकी कटाई के वक्त नहीं बेचकर अब 70 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बेच रहे हैं। इस समय उन्हें फायदा हो रहा है।

हालांकि, इस बार सरसों उत्पादकों को अच्छी कीमत मिली। पिछले साल सरसों उत्पादकों को 40 रुपये प्रति किलो का भाव मिला था, जबकि इस साल उन्हें 70 रुपये प्रति किलो तक का भाव मिला है। वहीं, भोपाल किराना व्यापारी महासंघ के महासचिव अनुपम अग्रवाल का कहना है कि खाद्य तेल के दाम अंतराष्ट्रीय बाजार में बढ़ रहे हैं। पिछले एक साल में पेट्रोल-डीजल के दाम भी काफी बढ़ गए हैं। इससे परिवहन का खर्च बढ़ा है। इसका असर भी उपभोक्ताओं की जेब पर दिख रहा है।

खाद्य तेलों के मामले में भारत अपनी आधी से लेकर तीन-चौथाई तक जरूर विदेश से आने वाले कच्चे खाद्य तेल से पूरी करता है। भारत में खाद्य तेल की मांग का बहुत कम हिस्सा घरेलू आपूर्ति से पूरा हो पाता है। रिफाइंड तेल में मिलाए जाने वाले कई जरूरी रसायनों की आपूर्ति प्रभावित होने से भी दामों में इजाफा हुआ है।

इन कारणों से महंगा हो रहा तेल

- भारत सहित कई देशों में सोयाबीन उत्पादन में कमी।


- मलेशिया और इंडोनेशिया जैसे प्रमुख पाम ऑयल उत्पादकों की तरफ से आपूर्ति में बाधा।

- मांग-आपूर्ति का गणित बिगड़ने से अंतरराष्ट्रीय बाजार में खाद्य तेलों की कीमत में इजाफा।

- दुनियाभर के कई बाजारों में उत्पादन पर लेबर और परिवहन का खर्च बढ़ना।


महंगा हुआ प्याज, इतने रुपये तक पहुंचा

महंगा हुआ प्याज, इतने रुपये तक पहुंचा

नई दिल्ली: प्याज के निर्यात पर लगी रोक को सेंट्रल गवर्नमेंट ने हटाने का फैसला लिया है। केंद्र सरकार कि तरफ से 1 जनवरी 2021 को इस रोक को हटा लिया जायेगा। इसकी सूचना मिलते ही प्याज के कीमतों में उछाल देखने को मिला है। सिर्फ दो दिनों के भीतर नासिक के लासलगांव थोक मंडी में प्याज का दाम 2500 रुपए प्रति क्विंटल हो गया। प्याज कि कीमत 28 फीसदी बढ़ गई। उससे पहले दिन करीब 2,400 रुपए प्रति क्विंटल रही है।

मंडी में दिखी प्याज कि कीमतों में इजाफा
विदेश व्यापार महानिदेशालय ने एक सूचना जारी करते हुए कहा कि ‘प्याज की सभी किस्मों का निर्यात पर लगी रोक को एक जनवरी 2021 से हटा दिया गया है। प्याज का दाम 42 फीसदी तक बढ़ा हैं। लासलगांव एपीएमसी के सचिव नरेंद्र वद्धवाने ने कहा कि लासालगांव थोक मंडी में प्याज की कीमतें औसतन 1,951 रुपए प्रति क्विंटल थीं। सूचना के बाद से इस मंडी में प्याज का दाम बढ़ता ही जा रहा हैं। नई दिल्ली में प्याज की फुटकर दामों में 25-42 फीसदी कि बढ़ोतरी हुई हैं।

3 राज्यों में होता हैं प्याज कि सबसे अधिक पैदवार
सोमवार को प्याज की फुटकर में कीमत 35-40 रुपए प्रति किलो थी। लेकिन प्याज के निर्यात पर लगी रोक हटने के बाद से धवार को बढ़कर 50 रुपए प्रति किलो हो गई है। सितंबर माह में ,सेंट्रल गवर्नमेंटने बढ़ते दामों में और घरेलू बाजार में उपलब्धता बढ़ाने के प्याज के दामों में 35-40 रुपए प्रति किलो के थीज के निर्यात को रोक दिया था। आयात- निर्यात से जुड़े मुद्दों का कामकाज वाणिज्य मंत्रालय का एक प्रभाग डीजीएफटी देखता है। प्याज कि सबसे अधिक पैदवार कर्नाटक, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश राज्य में होता हैं। प्याज निर्यातकों में अन्य देशों में से भारत शामिल हैं।


Bigg Boss 14: राखी को हुआ कैप्टन बनने का पछतावा, घरवालों के परेशान करने से टूटी हिम्मत       नेहा पेंडसे ने सीरियल में आने को लेकर तोड़ी चुप्पी, बोलीं...       Bigg Boss 14: निक्की के बिस्तर पर खाना फेंकना सोनाली फोगाट को पड़ा भारी, ट्रोलर्स ने यूं निकाला भाजपा नेता पर गुस्सा       इस एक्ट्रेस की बोल्ड फोटो हुई वायरल, कुर्सी पर बैठकर हॉट पोज देती आईं नजर       Amitabh Bachchan ने किया खुलासा, 14 साल की उम्र में बेटे अभिषेक बच्चन ने दिया था पहला ऑटोग्राफ       2021 में सोने की कीमत होगी 65000 रुपये!       नए साल में UPI ट्रांजैक्शन होगा महंगा?       Jio ने फ्री की सेवा, कस्टमर की हुई बल्ले-बल्ले       महंगा हुआ प्याज, इतने रुपये तक पहुंचा       बैंक आएगा घर! ग्राहकों को मिलेगी ये सभी सुविधाएं, जानें       सेहत के लिए फायदेमंद होता है इसका सेवन       नीम के पत्तों के सेवन से होते हैं ये फायदे, कभी नहीं होता है कैंसर       मानसिक स्वास्थ्य बिगड़ रहा है कोरोना वायरस के कारण       जलने के बाद अपनाएं ये घरेलू उपाय       लड़कियों के पीरियड्स में दर्द से राहत दिलाती है ये घरेलू उपाय       दिग्गज खिलाड़ियों के बावजूद यूपी की टीम ने झेली हार की हैट्रिक, आगे की राह हुई मुश्किल       सिर्फ चौके-छक्के से बनाए 90 रन,इस धुरंधर ने तोड़ा सबसे तेज महिला टी20 शतक का वर्ल्ड रिकॉर्ड       शिखर धवन नहीं चले फिर भी दिल्ली ने आंध्र को हराकर दर्ज की लगातार दूसरी जीत       फाइनल टेस्ट मैच के दौरान भारतीय टीम को लगा बड़ा झटका!       रोहित शर्मा ने की फिटनेस पर उंगली उठाने वालों की बोलती बंद