बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस, घर से पैसे चुराकर भागीं मुंबई

बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस, घर से पैसे चुराकर भागीं मुंबई

बॉलीवुड की ड्रामा और कंट्रोवर्सियल क्वीन के नाम से पहचानी जाने वाली एक्ट्रेस राखी सावंत (Rakhi Sawant) अक्सर अपने विवादित बयानों और हॉट फोटोज को लेकर सुर्खियों में बनी रहती हैं। राखी सोशल मीडिया पर काफी ज्यादा एक्टिव रहती हैं और अपने फैन्स के साथ अपनी पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ से जुड़े फोटोज और वीडियोज शेयर करती रहती हैं। बॉलीवुड में कभी अपने आइटम नंबर से तहलका मचाने वाली राखी सावंत ने बीते कई समय से बॉलीवुड से दूरी बना रखी है।

इंडस्ट्री में नाम बनाने के लिए की कड़ी मेहनत
लेकिन बॉलीवुड में मशहूर होने के लिए राखी सावंत को काफी मेहनत करनी पड़ी। बॉलीवुड में अपना करियर बनाने के लिए नीरू भेदा यानी राखी ने काफी पापड़ बेले हैं। राखी ने बॉलीवुड में आने के बाद अपना असली नाम नीरू भेदा को बदलकर राखी सावंत कर लिया था। एक मशहूर एक्ट्रेस और आइटम गर्ल बनने के लिए उन्होंने कई सारी कठिनाइयों का सामना किया है। करियर के शुरुआती दौर में उन्होंने कई उतार-चढ़ाव देखे हैं।

10 साल की उम्र में टीना अंबानी की शादी में परोसा था खाना
घर के हालात ठीक ना होने की वजह से उन्होंने बहुत ही छोटी सी उम्र में घर की जिम्मेदारी अपने कंधों पर ले ली। राखी ने खुद एक इंटरव्यू में बताया था कि घर की तंगी की वजह से उनके घर वालों ने उन्हें बहुत ही छोटी सी उम्र में काम करने के लिए घर से बाहर भेज दिया था। ऐसे में राखी ने छोटे मोटे काम करने शुरू कर दिए। यही नहीं राखी दस साल की उम्र में टीना अंबानी की शादी में खाना भी परोस चुकी हैं। तब उन्हें केटरिंग के काम के लिए रोज 50 रुपये मिलते थे।

घर से चोरी करके भागी थीं मुंबई
राखी सावंत एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखती थी। लेकिन राखी ने खुद के दम पर बॉलीवुड में नाम कमाया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राखी सावंत मुंबई में अपने करियर को बनाने के लिए घर से चोरी करके भागी थी। उन्होंने पैसे चौरी करके मुंबई का रुख किया था। राखी सावंत ने अपने करियर की शुरुआत फिल्म अग्निचक्र (1997) से किया था।

इसके बाद वो ‘जोरू का गुलाम’, ‘ये राते हैं प्यार के’ और ‘जिस देश में गंगा रहता है’ जैसी फिल्मों में छोटे रोल या डांस नंबर करते हुई नजर आई थीं। फिर साल 2005 में रिलीज हुए गाने ‘परदेसिया’ सॉन्ग ने उनको पूरे देश में पहचान दिलाई और इस गाने ने उन्हें आइटम गर्ल के नाम से मशहूर कर दिया।


माता-पिता की मृत्यु के बाद अभिनेता बेचते थे घर-घर जाकर लिपस्टिक

माता-पिता की मृत्यु के बाद अभिनेता बेचते थे घर-घर जाकर लिपस्टिक

नई दिल्ली: आज बॉलीवुड के प्रसिद्ध अभिनेता और डांसर अरशद वारसी का जन्म है. अरशद वारसी का जन्म वर्ष 1968 को महाराष्ट्र के एक मुस्लिम परिवार में हुआ था. हम सब जानते हैं कि मुंबई मायानगरी में रोज़ाना कई लोग अपनी आंखों में बड़ा स्टार बनने का सपना लेकर आते हैं, लेकिन महत्वपूर्ण नहीं है कि हर कोई अपना सपना पूरा कर पाए. जिन भी लोगों के सिरों पर स्टार्स का ताज सजा हुआ है. उसके पीछे उनकी कड़ी मेहनत छुपी है. आज अरशद वारसी के जन्मदिन पर उनकी जीवन से जुड़े कुछ किस्से बतातें हैं.

बचपन में ही हो गई थी माता-पिता की मृत्यु

अभिनेता और कोरियोग्राफर अरशद वारसी मुंबई में ही जन्मे हैं. महज 14 वर्ष की आयु में ही अभिनेता के माता-पिता की मौत हो गई थी. बचपन में ही माता-पिता को खो देने के बाद अरशद वारसी की जीवन और भी बेकार हो गई थी. घरवालों का पेट पालने के लिए अरशद को बहुत ही छोटी आयु में कार्य करना प्रारम्भ कर दिया.

17 वर्ष की आयु में करने लगे थे काम

आर्थिक तंगी के चलते अरशद वारसी ने 10वीं की पढ़ाई छोड़ कार्य करना प्रारम्भ कर दिया. 17 वर्ष की आयु में अरशद मेकअप प्रोडक्ट बेचने का कार्य करने लगे थे. वह घर-घर जाते और लिपस्टिक और नेल पॉलिश बेचा करते थे. इसके बाद उन्होंने एक फोटो प्रयोगशाला में कार्य करना प्रारम्भ कर दिया. कार्य करते हुए इसी के साथ अरशद की रूचि डांस की ओर अधिक बढ़ने लगी.

डांस ग्रुप किया जॉइन

अरशद वारसी ने कार्य के साथ-साथ अपनी कला को निखारने के लिए अकबर सामी के डांस ग्रुप को ज्वाइन किया. जिसके बाद वहां उन्होंने डांस सीखा और फिर डांस के हुनर के साथ प्रतियोगिता मॉडर्न जैज कैटेगरी में भाग लेकर चौथा नंबर हासिल किया. बस यहां से अरशद के करियर की गाड़ी चल पड़ी. सन् 1992 में उन्होंने लंदन में रही डांस वर्ल्ड प्रतियोगिता जो भाग लिया. इसके बाद से ही अरशद ने अपना स्वयं का डांस स्टूडियो खोल लिया.

बॉलीवुड की सुपरहिट फिल्म में डांस किया कोरियोग्राफ

साल 1993 अरशद वारसी के लिए बहुत ज्यादा लकी साबित हुआ. अरशद को फिल्म रूप की रानी चोरों का राजा का टाइटल ट्रैक कोरियोग्राफ करने का मौका मिला. गाना हिट और उनकी कोरियोग्राफी को खूब पसंद किया गया. इस फिल्म के बाद से अरशद वारसी का करियर पटरी पर आ गया और उसके बाद ठिकाना और काश जैसी फिल्मों में अरशद बतौर असिस्टेंट प्रसिद्ध फिल्म निर्मात महेश भट्ट संग कार्य करने लगे.

जय बच्चन का दिलाई फिल्म

बेहतरीन कोरियोग्राफर के रूप में पहचान बन चुके अरशद वारसी अपनी बेहतरीन कॉमेडी टाइमिंग के लिए भी जाने जाते हैं. वैसे यह बात बहुत ही कम लोग जानते होंगे कि अरशद वारसी को हीरो बनाने में सबसे बड़ा अदाकारा जया बच्चन का है. जी हैं 1996 में अरशद की फिल्म तेरे मेरे सपने रिलीज़ हुई थी. जो कि सुपरहिट थी.इस फिल्म का ऑफर अरशद वारसी को जया बच्चन ने दिया था.


गर्मियों में बीमारियों से बचने के लिए ध्यान रखें ये विशेष बातें       राजेश खन्ना के बंगले में जमीन पर बैठते थे डायरेक्टर-प्रोड्यूसर       अथिया शेट्टी ने किया rumoured बॉयफ्रेंड KL Rahul को बर्थडे विश       रिजिजू ने कहा कि टोक्यो ओलंपिक में डबल डिजिट में पदक आने की उम्मीद       कुम्भ मेले से लौटने वाले लोग बढ़ा सकते हैं कोरोना महामारी को : संजय राउत       अखिलेश ने कहा कि लखनऊ कैंसर इंस्टीट्यूट को कोरोना मरीजों के लिए खोले योगी सरकार       राज ठाकरे ने कहा कि प्रवासी मजदूर हैं महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के तेजी से फैलने के लिए जिम्मेदार       योगी सरकार के मंत्री ने ही लखनऊ में कोरोना हालात पर उठाए सवाल, CM पृथक-वास में       किसी वर्ग का नहीं, सबका होता है मुख्यमंत्री: योगी आदित्यनाथ       यूपी में कोरोना का कहर, योगी सरकार ने उठाए ऐहतियाती कदम       रमजान समेत अन्य त्योहारों को लेकर बोले सीएम योगी       उत्तरप्रदेश में टूटा Corona का कहर, एक दिन में मिला इतने नए केस       दिल्ली के बाद UP में भी लगा Lockdown, बंद रहेंगे सभी बाजार और दफ्तर       High Level मीटिंग के दौरान Nude दिखे कनाडा के सांसद       हवा के जरिए फैलता है कोरोना, 'द लांसेट' की रिपोर्ट में मिले पक्के सबूत       कोरोना वायरस रोधी टीके है कम असरदार, चीन के अधिकारी का दावा       रेप की घटनाओं पर इमरान खान का बेतुका बयान, कहा...       फ्रांस से तीन और राफेल विमान बिना रुके पहुंचे भारत       हर्षवर्धन ने साधा निशाना, मोदी सरकार को रास नहीं आए मनमोहन के कोरोना पर सुझाव       अभी अभी: मनमोहन सिंह कोरोना वायरस से संक्रमित, एम्स में भर्ती