क्या Vitamin-D कोरोना वायरस से बचाव कर सकता है? जानें

क्या Vitamin-D कोरोना वायरस से बचाव कर सकता है? जानें

कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते कहर और ख़तरे की वजह से अचानक हर तरफ खाने की ऐसी चीज़ों की चर्चा होने लगी है जिससे इम्यूनिटी को बढ़ावा मिल सके। कोरोना वायरस का अभी कोई इलाज नहीं मिल सका है, और इसी वजह से लॉकडाउन का ख़त्म होना इस वक्त मुश्किल लग रहा है। यही वजह है कि सभी लोग इस जानलेवा इंफेक्शन से बचने और अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए विटामिन्स और सप्लीमेंट का सहारा ले रहे हैं। 

पिछले महीने हुई एक रिसर्च के मुताबिक, विटामिन-डी सप्लीमेंट कोरोना वायरस जैसी सांस संबंधी बीमारी के प्रतिरोध में अहम भूमिका निभा सकता है। आइरिश मेडिकल जनर्ल में प्रकाशित एक रिसर्च के मुताबिक, विटामिन इस बीमारी की गंभीरता को कम कर सकता है। साथ ही इस रिसर्च में व्यस्कों को दिन में 20-50 माइक्रोग्राम विटामिन-डी खाने की सलाह दी गई है।   

वहीं, इंग्लैंड पब्लिक हेल्थ ने कोरोना वायरस के चलते लोगों को वसंत और गर्मियों के पूरे मौसम में विटामिन-डी की खुराक लेने की सलाह दी है। इससे पहले की हम विटामिन-डी से जुड़े फायदों और ये कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ने में कितनी कारगर के बारे में बात करें, ये जानना ज़रूरी है कि आखिर विटामिन-डी है क्या?

क्या है विटामिन-डी और इसकी ज़रूरत क्यों पड़ती है?

विटामिन-डी को सनशाइन विटामिन भी कहा जाता है क्योंकि यह सूर्य के प्रकाश की प्रतिक्रिया में शरीर द्वारा उत्पन्न किया जाता है। यह एक घुलनशील विटामिन के समूह में आता है यानी यह हमारी वसा कोशिकाओं में संचित रहता है और लगातार कैल्शियम के चयापचय (मेटाबोलिज्म) और हड्डियों के निर्माण में उपयोगी होता है। इसलिए कहा जाता है कि यह शरीर में कैल्शियम तथा फॉस्फेट के अवशोषण को बढ़ाता है। ये हमारे इम्यून सिस्टम में भी अहम रोल अदा करता है, इसलिए अच्छी और मज़बूत इम्यूनिटी के लिए इसका सेवन ज़रूरी है। दालें, अंड़े, मच्छली और मटन विटामिन-डी के अच्छे स्त्रोत हैं। इसके अलावा ये दूध और अनाज में भी होता है।

क्या कोरोना वायरस से बचाव कर सकता है विटामिन-डी?

विटामिन-डी प्रतिरक्षा प्रणाली के समुचित कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जो वायरस और कीटाणुओं के खिलाफ शरीर में सबसे पहले बचाव करती है। रिसर्च की मानें तो विटामिन में एंटी-इंफ्लामेटरी और इम्यूनोरेगूलेटरी गुण पाए जाते हैं, जो इम्यून सिस्टम के काम के लिए बेहद ज़रूरी हैं। विटामिन-डी के कम स्तर को संक्रमण, बीमारियों और प्रतिरक्षा संबंधी स्थितियों के बढ़ते जोखिम से जोड़ा गया है। कई शोध में पाया गया है कि विटामिन-डी इम्यूनिटी को बढ़ावा देता है और साथ ही सांस संबंधी इंफेक्शन से बचाता भी है। 

क्या लॉकडाउन की वजह से विटामिन-डी की कमी हो सकती है?

इस वक्त लॉकडाउन की वजह से सभी लोग अपने घरों में रहने को मजबूर हैं। क्योंकि घर में पर्याप्त सूरज की रौशनी नहीं मिल पाती है, इसलिए ये सवाल खड़ा होना लाज़िम है कि क्या लॉकडाउन की वजह से शरीर विटामिन-डी की कमी हो रही होगी? हालांकि, लॉकडाउन को छोड़ दिया जाए, तब भी ज़्यादातर लोग ऐसे मौसम में बाहर निकलना पसंद नहीं करते हैं और घरों या ऑफिस में एसी में बैठना पसंद करते हैं। यही वजह है कि ज़्यादातर लोगों में विटामिन-डी की कमी होती है। 

भारत में विटामिन-डी की कमी आम

पूरी दुनिया में विटामिन-डी की कमी आम समस्या है। खासकर, भारत में ये 80-90 प्रतिशत है। इसके पीछे संतुलन डाइट का न होना, पर्याप्त सूरज की किरणें न मिलना और त्वचा में मेलानिन ज़्यादा होना अहम वजह है। इसके अलावा किडनी और लिवर की समस्या की वजह से भी विटामिन-डी की कमी होती है।

क्या होता है विटामिन-डी की कमी से

इसकी कमी से हड्डियां कमज़ोर होती है, जिसकी वजह से हड्डी टूटने के आसार बढ़ जाते हैं। इसके अलावा विटामिन-डी की कमी से इंफेक्शन के अलावा डायबिटीज़, उच्च रक्त चाप, ऑटोइम्यून डिसऑर्डर, डिसलिपिडेमिया और कैंसर भी हो सकता है।

विटामिन-डी की कमी को कैसे रोकें

सूरज की किरणें लें, लॉकडाउन के बावजूद सूरज में कुछ देर बैठें, इसके लिए चाहें वॉक करें या छट पर वर्कआउट। इसके साथ ही संतुलित आहार लें। अपने खाने में दालें, दही, मच्छली, अंडे और मीट जैसी चीज़ें शामिल करें और साथ ही मौसमी सब्ज़ियां और फल। 


जीवन को निरोगी, सुखद और सुंदर बनाना है तो रोज करें ये योग

जीवन को निरोगी, सुखद और सुंदर बनाना है तो रोज करें ये योग

योग सिर्फ आसन नहीं है। योग में यम, नियम, आसन, प्राणायाम, प्रत्याहार, धारणा, ध्यान, क्रिया, मुद्रा आदि सभी का समावेश है। सभी को अपनाकर ही कोई व्यक्ति योगी बनता है। लेकिन आधुनिक मनुष्य के लिए यह सब संभव नहीं है। इसीलिए हमने योग के कुछ चुनिंदा क्रियाओं को यहां संक्षिप्त में बताया है। इन्हें अपनाकर आप जीवनभर निरोगी और खुश तो रहेंगे ही साथ ही आप जीवन के हर क्षेत्र में सफल होने की क्षमता भी हासिल कर लेंगे।  

रोज करें ये योग:

यम और नियम : यम पांच है: अहिंसा, सत्य, अस्तेय, ब्रह्मचर्य और अपरिग्रह। नियम भी पांच है: शौच, संतोष, तप, स्वाध्याय और ईश्वर प्राणिधान। जिनमें से आप सत्य और शौच को अपना सकते हैं।   

आसन : आसन या योगासन तो कई है लेकिन सूर्य नमस्कार में लगभग अधिकतर आसनों का समावेश है। प्रतिदिन सूर्य नमस्कार और शवासन को करके आप शारीरिक और मानसिक रूप में सुदृढ़ हो सकते हैं।

प्राणायाम : प्राणायम भी कई है लेकिन नियमित रूप से नाड़ीशोधन प्राणामाम किया जाना चाहिए। यह उम्र और आत्मविश्वास बढ़ाने तथा तनाव घटाने में सहायक है। 

प्रत्याहार : वासनाओं की ओर जो इंद्रियाँ निरंतर गमन करती रहती हैं, उनकी इस गति को अपने अंदर ही लौटाकर आत्मा की ओर लगाना या स्थिर रखने का प्रयास करना प्रत्याहार है।

 क्रिया : क्रियाएं महत्वपूर्ण होती है। नेती, धौति, बस्ती, न्यौली, त्राटक, कपालभाति, धौंकनी, बाधी, शंख प्रक्षालयन आदि योग की क्रियाएं हैं। उक्त क्रियाओं से शरीर की आंतरिक शुद्धि होती है।

मुद्रा : मुद्राएं दो तरह की होती है। एक योगमुद्रा और दूसरी हस्तमुद्रा। आप सभी तरह की हस्तमुद्राएं आसानी से सीख सकते हैं। प्रत्येक मुद्रा के चमत्कारिक लाभ मिलते हैं।


गर्मियों में बीमारियों से बचने के लिए ध्यान रखें ये विशेष बातें       राजेश खन्ना के बंगले में जमीन पर बैठते थे डायरेक्टर-प्रोड्यूसर       अथिया शेट्टी ने किया rumoured बॉयफ्रेंड KL Rahul को बर्थडे विश       रिजिजू ने कहा कि टोक्यो ओलंपिक में डबल डिजिट में पदक आने की उम्मीद       कुम्भ मेले से लौटने वाले लोग बढ़ा सकते हैं कोरोना महामारी को : संजय राउत       अखिलेश ने कहा कि लखनऊ कैंसर इंस्टीट्यूट को कोरोना मरीजों के लिए खोले योगी सरकार       राज ठाकरे ने कहा कि प्रवासी मजदूर हैं महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के तेजी से फैलने के लिए जिम्मेदार       योगी सरकार के मंत्री ने ही लखनऊ में कोरोना हालात पर उठाए सवाल, CM पृथक-वास में       किसी वर्ग का नहीं, सबका होता है मुख्यमंत्री: योगी आदित्यनाथ       यूपी में कोरोना का कहर, योगी सरकार ने उठाए ऐहतियाती कदम       रमजान समेत अन्य त्योहारों को लेकर बोले सीएम योगी       उत्तरप्रदेश में टूटा Corona का कहर, एक दिन में मिला इतने नए केस       दिल्ली के बाद UP में भी लगा Lockdown, बंद रहेंगे सभी बाजार और दफ्तर       High Level मीटिंग के दौरान Nude दिखे कनाडा के सांसद       हवा के जरिए फैलता है कोरोना, 'द लांसेट' की रिपोर्ट में मिले पक्के सबूत       कोरोना वायरस रोधी टीके है कम असरदार, चीन के अधिकारी का दावा       रेप की घटनाओं पर इमरान खान का बेतुका बयान, कहा...       फ्रांस से तीन और राफेल विमान बिना रुके पहुंचे भारत       हर्षवर्धन ने साधा निशाना, मोदी सरकार को रास नहीं आए मनमोहन के कोरोना पर सुझाव       अभी अभी: मनमोहन सिंह कोरोना वायरस से संक्रमित, एम्स में भर्ती