सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं नोनी के पत्‍तों का रस, इन 7 रोगों से दिलाए निजात

सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं नोनी के पत्‍तों का रस, इन 7 रोगों से दिलाए निजात
हाल के वर्षों में नोनी के सेहत से जुड़े फायदों और एंटीऑक्सीडेंट गुणों की तरफ सभी का ध्यान खींचा है। हालांक‍ि, ज्यादातर नोनी के पेड़ को इसकी आकर्षक पत्तियों के लिए उगाया जाता है।नोनी के पत्तों का साग झारखंड, बिहार, बंगाल और उड़ीसा में खूब खाया जाता है। नोनी के पत्तों में फ्लेवोनॉइड, प्रोटीन, सैपोनिन और टैनिन होते हैं। ये विटामिन-ए, विटामिन-बी, विटामिन-सी, विटामिन-डी और विटामिन-ई से भरपूर होते हैं।
ज‍िसके चलते नोनी के पत्तों का रस एंटी-बैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटी-ऑक्सीडेंट और सूजन को कम करने में फायदेमंद होते हैं और डायजेशन बेहतर करने में भी मददगार है। तो आइए जानते हैं क‍ि नोनी के पत्तों का रस क‍िन बीमार‍ियों या सेहत से जुड़ी समस्याओं में उपयोगी है।

​याददाश्त में कमी में भी मददगार

नोनी के पत्तियों का रस याददाश्त में कमी की समस्याओं को ठीक करने में कारगर है। कमजोर याददाश्त के मरीजों पर किए गए र‍िसर्च स्टडी के मुताब‍िक, नोनी की पत्तियों के रस के सेवन से द‍िमाग में ब्लड सर्कुलेशन सुधरता है और मेमोरी फंक्शंस को बेहतर बनाने में मदद मिलती है।नोनी की पत्तियों का रस शरीर में शुगर लेवल को कम करने में मदद करता है जिससे घाव जल्द भरने में मदद म‍िलती है।

​लीवर की सुरक्षा में फायदेमंद

नोनी के पत्तों का रस रोजाना पीने से लीवर को कई समस्याओं से बचाया जा सकता है। नोनी के पत्तों का रस लीवर पर हेपाटो-प्रोटेक्टिव इफेक्ट्स डालता है जो कि क्रोनिक एक्सोजेनस केमिकल्स से सुरक्षित रखते हुए लिवर डैमेज जैसी बड़ी बीमारियों से बचाता है।

​अल्ट्रावॉयलेट क‍िरणों से बचाता है त्वचा को

नोनी की पत्त‍ियों का रस धूप के चलते होने वाली लालिमा और सूजन को कम करता है। स्टडी से पता चलता है क‍ि इसके पत्ते त्वचा पर सीधे इस्तेमाल के ल‍िए सुरक्षित हैं और त्वचा के लिए अल्ट्रावॉयलेट क‍िरणों से होने वाले नुकसान को कम करने में फायदेमंद हो सकते हैं। स्टडीज के मुताब‍िक, नोनी के पत्तों का रस एंथ्राक्विनोन से भरपूर होता है, जो स्क‍िन में झुर्रियां बनने से रोकता है। इसके एंटी-बैक्टीरियल, सूजन कम करने वाले गुण सेलुलर स्तर पर काम करते हैं और मुंहासे, जलन, स्क‍िन में होने वाली एलर्जी र‍िएक्शन को ठीक करने में उपयोगी होते हैं।

​इम्यून‍िटी बूस्टर है नोनी के पत्तों का साग और रस

र‍िसर्च में सामने आया है क‍ि नोनी के पत्तियों में एंटीऑक्सीडेंट तत्वों की मौजूदगी इसे इम्यून‍िटी बूस्टर बनाती है। इसके पत्तियों को कच्चा चबाकर खाने से, साग बनाकर खाने से या रस पीने से बॉडी की टी और बी सेल्स की एक्टिव‍िटीज बढ़ती है, जिससे शरीर में संक्रमण से लड़ने वाली श्वेत रक्त कोशिकाएं 50% ज्यादा बेहतर काम करती है।

​गठिया की समस्या

वैज्ञान‍िक जांच में नोनी के पत्तियों के रस में एनाल्जेसिक लक्षणों के बारे में बताया गया है जो दर्द और संवेदनशीलता को कम करने में मदद करता है, जिससे गठिया की समस्या में राहत म‍िलती है। स्टडीज से यह भी बात पता चलती है क‍ि नोनी रस के औषधीय गुण बाजार में म‍िलने वाली कुछ मशहूर एनाल्जेसिक दवाओं के बराबर है।

​हार्ट की ब‍ीमार‍ियों से करता है बचाव

हाई ब्लड प्रैशर द‍िल की बीमार‍ियों का सबसे बड़ा कारण है। नोनी के पत्तों में रुटिन की उच्च मात्रा होती हैं जो क‍ि आमतौर पर चाय और सेब में पाया जाने वाला एक फ्लेवोनोइड है। इसके अलावा इसमें स्कोपोलेटिन होता है। ये दोनों ब्लड प्रैशर कम करने में हेल्पफुल है।

​टाइप-2 डायब‍िटीज के खतरे को करता है कम

डायब‍िटिक लोगों को नोनी के पत्तियों का साग बनाकर खाने से बहुत फायदा हो सकता है। टाइप-2 डायब‍िटीज के खतरे को कम करने में नोनी की पत्तियां बहुत असरदार है। इसके पत्तियों का साग या रस का सेवन शरीर में ग्लाइकोसिलेटेड हीमोग्लोबिन, सीरम ट्राइग्लिसराइड्स और लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा, यह इंसुलिन सेंसेव‍िटी को बढ़ाने में मदद करता है।


कोरोना वैक्सीन के दूसरे चरण की आज से हो रही है शुरूआत, जानें

कोरोना वैक्सीन के दूसरे चरण की आज से हो रही है शुरूआत, जानें

एक मार्च मतलब आज से कोरोना वैक्सीन के दूसरे चरण की शुरूआत हो रही है। जिसमें 60+ बुजुर्गों और 45 पार के बीमारों को टीका लगना है। दूसरे दौर में 27 करोड़ लोगों को लगना है टीका। कोरोना वायरस का टीका लगवाने के लिए पहले रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। तो क्या है इसका पूरा प्रोसेस और व्यवस्था, जानेंगे इससे जुड़ी हर एक जरूरी जानकारी।इस तरह कराना होगा रजिस्ट्रेशन

टीका लगवाने का सबसे पहला स्टेप रजिस्ट्रेशन है। इसके लिए 4 विकल्प हैं। पहला है कोविन 2.0 पोर्टल (CO-Win 2.0 portal) जिस पर आप अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। जिसका लिंक आपको आरोग्य सेतु एप पर भी मिल जाएगा।आरोग्य सेतु एप से इस वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है। आरोग्य सेतु से भी सेंटर और स्लॉट की बुकिंग की जा सकती है। दूसरा ऑप्शन है सीधे COWIN.GOV.IN की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन कराना। तीसरा ऑप्शन है आसपास के किसी कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर रजिस्ट्रेशन कराना। 60 से ज्यादा उम्र वाले लोगों की सुविधा के लिए सरकार ने चौथा ऑप्शन भी दिया है। जहां ऐसे लोग फोन से भी रजिस्‍ट्रेशन करा सकते हैं। इसके लिए कॉल सेंटर का नंबर 1507 डायल कर रजिस्ट्रेशन से संबंधित हर एक जानकारी प्राप्त की जा सकती है।


रजिस्ट्रेशन के स्टेप्स

अगर आपके घर में बुजुर्ग या कोई 45 पार का बीमार व्यक्ति है तो उसे इस चरण में टीका जरूर लगवाएं।

- रजिस्ट्रेशन कराने के लिए CO-Win ऐप या वेबसाइट पर जाएं।

- यहां अपना मोबाइल नंबर दर्ज करें, इसके बाद आपके नंबर एक OTP आएगा। इस OTP को दर्ज करने के बाद आपका अकाउंट बन जाएगा।

- इसके बाद नाम, उम्र, लिंग के साथ कुछ और जानकारी देनी होती है।


- कोई एक फोटो पहचान पत्र भी अपलोड करना होगा।

- अब आपको किस सेंटर पर टीका लगवाना है और किस तारीख को लगवाना है, ये दर्ज करना होगा।

- 60 पार के लोगों को सिर्फ पहचान पत्र दिखाना होगा।

- अगर आप 45 साल से ज्‍यादा की उम्र के हैं और को-मॉर्बिडिटी है तो उसका सर्टिफिकेट अपलोड करना होगा।

- सरकारी सेंटर पर मुफ्त, प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीनेशन के लिए देने होंगे 250 रूपए।


खत्म हुई अब दूरी, लोगों को पहली बार मिली ये सेवा       75 फीसदी आरक्षण, हरियाणा से पलायन कर सकते हैं उद्योग       ‘Aruvi’ के हिन्दी रीमेक में नजर आएंगी फातिमा सना शेख, कहा...       Virat Kohli अनुष्का शर्मा की हाइट को लेकर थे परेशान, जानें       Shweta Tiwari पलक तिवारी और रेयांश के साथ आई नजर       सिद्धार्थ मल्होत्रा के साथ नजर आएंगी रश्मिका मंदाना, Mission Majnu की शूटिंग लखनऊ में हुई शुरू       इस एक्टर के निधन की ख़बर सुनकर इसलिए सुन्न पड़ गये थे अभिषेक कपूर       Saif Ali Khan ने कोविड-19 वैक्सीन की ली डोज       इस एक्ट्रेस के बॉयफ्रेंड ने खेल मंत्री किरण रिजिजू से आयकर छापे मामले में मांगी मदद       क्या ‘इंडियन आइडल 12’ बंद होने जा रहा है? शो को लेकर सोशल मीडिया पर चर्चा       जेपी दत्ता और बिंदिया गोस्वामी की बेटी निधि जयपुर में कर रहीं शादी       ‘Liger’ का गोवा शेड्यूल हुआ पूरा, इस एक्ट्रेस ने शेयर किए पार्टी के फोटो       आज है श्री राम की भक्त माता शबरी की जयंती, जानें       आज है फाल्गुन मास की कालाष्टमी, इस मुहूर्त में करें पूजा       भगवान शिव ने स्वयं बताई है महाशिवरात्रि व्रत की महिमा, जानें       कैसे हुई थी माता शबरी की प्रभु श्री राम से मुलाकात       मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए शुक्रवार को जरुर करें ये उपाय       इस महाशिवरात्रि करें ये दो कार्य, आप पर होगी भगवान शिव की कृपा       कालाष्टमी आज, जानें मुहूर्त, राहुकाल एवं दिशाशूल       भगवान शिव ने क्यों लिया अर्धनारीश्वर अवतार, हमारे और आप से जुड़ा है कारण