जलने के बाद अपनाएं ये घरेलू उपाय

जलने के बाद अपनाएं ये घरेलू उपाय

अक्सर हम जलने के बाद या तो बर्फ के टुकड़े लगा लेते हैं या फिर टूथपेस्ट, ठंडा पानी डालकर काम चला लेते हैं, लेकिन इन सब उपाए से केवल उस समय तक जलन से छुटकारा मिलता हैं लेकिन जलने का निशान हमेशा के लिए रह जाता हैं। अब आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि जलने के बाद तुरंत क्या करे जिससे निशान ना रहे।

अपनाएं ये घरेलू उपाय:

जले हुए स्थान पर आलू या आलू का छिलका लगाकर रख ले क्योंकि इससे जलन से राहत मिलेगी और ठंडक मिलेगी। इसी के साथ निशान भी नहीं पड़ेगा।

जलने वाले स्थान पर काले तिलों को पीसकर लगा ले इससे जलन और दाग-धब्बों से छुटकारा मिल सकता है।

जले हुए स्थान पर तुरंत हल्दी का पानी लगाने से दर्द कम हो जाएगा और निशान नहीं होगा। जलने के बाद तुरंत उस पर ठंडा पानी डालें, ताकि फफोले ना पड़ सकें और निशान भी ना बने।

आग से जलने पर मेथी के दानों को पानी में पीसकर लेप करने से जलन दूर होती है और फफोले नहीं पड़ते। इसी के साथ निशान से भी छुटकारा मिलता है।


स्किन इन्फेक्शन में फायदेमंद है नीम, ऐसे करें उपचार

स्किन इन्फेक्शन में फायदेमंद है नीम, ऐसे करें उपचार

किसी भी तरह के संक्रमण या त्वचा संबंधी रोग, जानवर के काटने या बाहरी रूप से कोई चोट लगने पर विशेषज्ञ नीम का प्रयोग करने की सलाह देते हैं। यह बाहरी रूप से संक्रमण को खत्म कर तुरंत राहत देता है। संक्रमण से बचाव : नीम की पत्तियों में खासकर यदि पत्तियां ताजा हों तो इनमें एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटीवायरल गुण काफी मात्रा में पाए जाते हैं।

नीम का सेवन:

गैस पर धीमी आंच पर एक भगोने पानी में नीम की 20-25 पत्तियों को उबालें, ठंडा होने पर छानें और इससे नहाएं। इससे शरीर पर होन वाली खुजली व दानें आदि की समस्या खत्म होगी।

ब्लैकहेड्स, वाइटहेड्स जैसी त्वचा संबंधी समस्याओं में भी नीम उपयोगी है। इसके लिए कुछ पत्तियों को चटनी की तरह पीसकर दही, शहद या दूध में मिलाकर पेस्ट की तरह चेहरे पर लगाएं।

त्वचा पर उभरने वाले मुहांसों को दूर करने में भी इन पत्तियों को प्रयोग में ले सकते हैं। इसके लिए नीम की पत्तियों वाला गुनगुना पानी मुंह धोने में इस्तेमाल करें।