Coronavirus: क्या पत्तागोभी खाने से कोरोना वायरस फैल सकता है?, जानें

Coronavirus: क्या पत्तागोभी खाने से कोरोना वायरस फैल सकता है?, जानें

इन दिनों कोरोना वायरस को लेकर कई तरह के मिथक प्रचलित हो रहे हैं. इन्हें लेकर आम लोगों में बहुत ज्यादा भ्रम की स्थिति पैदा हो रही है. क्या है, इन मिथकों की सच्चाई, इस बारे में आपको बता रहा है हिन्दुस्तान. 

मिथक: क्या पत्तागोभी खाने से कोरोना वायरस फैल सकता है?

हकीकत: पत्तागोभी खाने से कोरोना वायरस फैल सकता है या पत्तागोभी की सतह पर यह वायरस 30 घंटे तक ठहरता है, ऐसी खबरें गलत हैं. दुनिया स्वास्थ्य संगठन ने ऐसी कोई भी रिपोर्ट जारी नहीं की है, न ही इस तरह का कोई मुद्दा सामने आया है. विशेषज्ञों का इतना ही मानना है कि हर फल व सब्जी को प्रयोग करने से पहले खूब अच्छी तरह धो लें.

मिथक: क्या कोरोना वायरस पुरुषों को अधिक होता है?
हकीकत: कोरोना वायरस किसी को भी प्रभावित कर सकता है. इसमें स्त्री-पुरुष का कोई भेद नहीं है. अभी तक मिले आंकड़े बताते हैं कि स्त्रियों की तुलना में पुरुषों में संक्रमण के मुद्दे अधिक हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, अभी तक संक्रमितों में 76 फीसदी पुरुष हैं व 24 फीसदी महिलाएं. लेकिन इसके कई अन्य कारण भी हैं. पहले से स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं, धूम्रपान जैसी कई चीजें इसकी वजह हो सकती हैं. इसलिए सरकार व स्वास्थ्य एजेंसियां घर में रहते हुए या घर से बाहर निकलते हुए आपसे जिन सुरक्षात्मक तरीकों को अपनाने को कह रही हैं, उनका पालन जरूर करें.
 मिथक: संक्रमित आदमी रक्तदान कर सकते हैं?
हकीकत:कई दिन से ये अफवाहें चर्चा में हैं कि रक्तदान करवाने वाली संस्थाएं रक्तदान करने वालों का कोरोना टेस्ट कर रही हैं. यह ठीक नहीं है. सलाह यह है कि अगर किसी को संक्रमण के लक्षण हैं या इसकी संभावना है, तो वह स्वस्थ होने के 28 दिन बाद ही रक्तदान करे. अभी इसका कोई प्रमाण नहीं है कि यह संक्रमण रक्त के जरिये फैलता है. यह विषाणु श्वसन तंत्र से जुड़ा है, जो छींकने-खांसने आदि के दौरान निकले ड्रॉपलेट के जरिये फैलता है. हां, रक्तदान कराने वाली संस्थाएं साफ-सफाई का उचित ख्याल रख रहे स्वस्थ लोगों से रक्तदान करने की विनती जरूर कर रही हैं.