दूध में घी मिलाकर पीने के फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान

दूध में घी मिलाकर पीने के फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान

दूध  में घी  मिलाकर पीने से कई शारीरिक समस्याएं ठीक हो सकती हैं. दूध में घी मिलाकर पीने का प्रचलन काफी पुराना है. इसके अद्भुत इलाज के बारे में सुनकर शायद वे लोग भी इसका सेवन करने लगेंगे जो अब तक इसे पसंद नहीं किया करते थे. खासतौर पर वे लोग, जो अधिकतर जोड़ों के दर्द और पेट के दर्द की परेशानी से ग्रसित रहते हैं. दरअसल गाय का घी एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होता है इसके साथ ही यह एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-फंगल गुणों से भी भरपूर होता है.

यदि शरीर में हर छोटे-छोटे कार्यों को करने पर कमजोरी महसूस हो रही है तो ऐसे में इस थकान का इलाज दूध में घी मिलाकर इसके सेवन से किया जा सकता है. इससे थकान ही दूर नहीं होती है, बल्कि शरीर का स्टैमिना भी बढ़ता है, इसलिए रोज दूध में गाय का घी डालकर इसका सेवन करना चाहिए.

पाचन प्रक्रिया को दुरूस्त बनाता है दूध में घी का सेवन


 
लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, दूध में गाय का घी डालकर पीने से पाचन शक्ति मजबूत होती है. इसके सेवन से पाचन संबंधित सभी एंजाइम से स्त्राव बढ़ता है, जिससे पाचन मजबूत होता है. जिनके पेट में कब्ज की समस्या है, उनके लिए इससे बढ़िया आयुर्वेदिक औषधि और कोई नही हो सकती है. साथ ही पेट में एसिडिटी की समस्या भी इसके सेवन से दूर होती है.

जोड़ों के दर्द को ठीक करने में सहायक

जिन लोगों को जोड़ों में दर्द की समस्या हमेशा बनी रहती है. उनके लिए दूध में घी का सेवन बेहतर औषधि है. इससे न सिर्फ जोडों का दर्द ठीक होता है बल्कि शरीर की हड्डियां और मांसपेशियां मजबूत भी होती हैं. यदि रोज ही दूध में घी मिलाकर इसका सेवन करेंगे तो लाभ होगा. यही नहीं सर्दियों के मौसम में होने वाले जोड़ों के दर्द में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है.

मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में सहायक

लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, दूध के साथ गाय के घी के सेवन से मेटाबॉलिज्म भी बढ़ता है. इससे शरीर में ऊर्जा का संचार होता है. इससे शरीर डिटॉक्स होता है, जिससे शरीर में मौजूद सभी विषैले पदार्थ मूत्र त्याग के जरिए बाहर निकल जाते हैं. रात में सोने से पहले दूध में घी मिलाकर पीने से फायदा होगा.

मानसिक थकान कम करने में सहायक

दूध के साथ घी में कई एंटी ऑक्सीडेंट तत्व होने के कारण शरीर में हल्कापन महसूस होता है, जिससे मानसिक थकान भी दूर हो जाती है. यह नुस्खा कैंसर से भी बचाव करता है, जो लोग प्रतिदिन इसका सेवन करते हैं, उन्हें कैंसर होने की आशंका कम हो जाती है.


सर्दी में एलर्जी से परेशान हैं तो जानिए बचाव के उपाय

सर्दी में एलर्जी से परेशान हैं तो जानिए बचाव के उपाय

सर्दी में लोगों को एलर्जी बेहद परेशान करती है। किसी को प्रदूषण से एलर्जी है तो किसी को खाने-पीने की चीजों, पेट डॉग या फिर खास महक से एलर्जी होती है। सर्द मौसम में तापमान में गिरावट के कारण हवा से एलर्जी के तत्व जल्दी नहीं हटते जिससे, सर्दी, खांसी, नाक बहना, स्किन एलर्जी, अस्थमा और भी कई तरह की एलर्जी हो सकती है। सर्दी में हम ठंड से बचने के लिए बंद जगह पर ज्यादा वक्त गुजारना पसंद करते है, जो एलर्जी का सबसे बड़ा कारण बनता है। लंबे समय तक बंद घर में रहने से हवा में मौजूद धूल के कण, फफूंद, पालतू जानवरों की रूसी और कॉकरोच ड्रॉपिंग एलर्जी का कारण बनते हैं। संवेदनशील स्किन वाले लोगों को स्किन एलर्जी होने का खतरा ज्यादा रहता है। सर्दी में रक्त नलिकाएं सिकुड़ जाती हैं जिससे हाथ व पैर में ब्लड सर्कुलेशन बाधित होता है। खून की कमी से ही हाथ या पैर की उंगलियों में सूजन होने लगती है। इस मौसम में फंगल इन्फेक्शन होने से खाज या खुजली होने की आशंका रहती है।


एलर्जी क्या है?

एलर्जी किसी खाने की चीज, पालतू जानवर, मौसम में बदलाव, कोई फूल-फल-सब्जी के सेवन, खुशबू, धूल, धुआं, दवा यानी किसी भी चीज से हो सकती है। इस स्थिति में हमारा इम्यून सिस्टम कुछ खास चीजों को स्वीकार नहीं कर पाता और नतीजा ऐसे रिऐक्शन के रूप में दिखता है।

एलर्जी के लक्षण:

सर्दी में गले की सर्दी, नाक बहना, सर्दी जुकाम होना एलर्जी के लक्षण है। एलर्जी की वजह से शरीर में लाल-लाल चकत्ते, नाक और आंखों से पानी बहना, जी मितलाना, उलटी होना या फिर सांस तेज-तेज चलने से लेकर बुखार तक हो सकता है।


सर्दी में खाने की चीजों से एलर्जी:

कुछ लोगों को खाने की चीजों जैसे कि मूंगफली, दूध, अंडा आदि खाने से एलर्जी हो सकती है। जिस चीज से एलर्जी है, उसे खाने के बाद जी मिचलाना, शरीर में खुजली होना या पूरे शरीर पर दाने और चकत्ते निकलने जैसी समस्या हो सकती है। एक्सपर्ट की माने तो गांवों में रहनेवालों के मुकाबले शहरों में रहने वाले लोगों में एलर्जी की समस्या ज्यादा होती है। उनके शरीर का इम्यून सिस्टम ज्यादा डिवेलप नहीं हो पाता।


कैसे बचाव करें:

अगर आपको धूल मिट्टी या फिर धुएं से एलर्जी है तो घर से बाहर निकलते समय नाक पर रुमाल या फिर मास्क का इस्तेमाल करें। घर में साफ-सफाई के लिए वैक्यूम क्लीनर का इस्तेमाल करें।
सर्दी में अपनी डाइट का विशेष ध्यान रखें। मौसमी फल, हरी सब्जी, गाजर आदि का सेवन करें, और पानी पर्याप्त मात्रा में पीएं।
स्किन को एलर्जी से बचाने के लिए रात में सोने से पहले बॉडी पर मॉइश्चराइजर लगाएं, इससे त्वचा में नमी बरकरार रहेगी।
पर्दे, चादर, बेडशीट व कालीन को नमी से बचाने के लिए धूप में रखें, ताकि इस्तेमाल होने वाली इन चीजों से आपको एलर्जी नहीं हो सके।
पालतू जानवरों से दूर रहें, जानवरों को एलर्जी है, तो घर में नहीं रखें।
सर्दी में धूप में बैठे, घर को हमेशा बंद न रखें, घर को हवादार बनाएं, ताकि साफ हवा आती रहे।
घर की साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें। खिड़कियों में महीन जाली लगवाएं और जाली वाली खिड़कियों को हमेशा बंद रखें क्योंकि खुली खिड़की से कीड़े और मच्छर आपके घर में घुस सकते हैं। 


तेज दिमाग पाने के लिए रोजाना इस तेल का करें इस्तेमाल       सर्दी में एलर्जी से परेशान हैं तो जानिए बचाव के उपाय       आंखो और त्वचा के लिए किसी दवा से कम नहीं है Witch Hazel, ऐसे करें इस्तेमाल       डायबिटीज के मरीज ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए स्नैक्स में खाएं ये चीजें       कोरोना के लक्षणों को घर पर ठीक करने के लिए अपनाएं ये आसान तरीके       क्या आप जानते हैं हथेली पर मौजूद इन निशानों का मतलब?       टोफू के स्क्युवर्स को तंदूरी फ्लेवर है बहुत ही लाजवाब       मिनटों में तैयार होने वाली बहुत ही स्वादिष्ट है ये दाल खिचड़ी       टेस्ट और हेल्थ दोनों के लिए स्नैक्स में बनाएं 'कैरट फ्रिटर्स'       राजस्थान की बेहद पॉपुलर ट्रेडिशनल डिश 'जैसलमेरी चना' है स्वाद का खजाना       खट्टा-मीठा स्वाद लिए हुए 'अंगूर का अचार' है बहुत ही टेस्टी और आसान       भुर्जी, स्क्रैम्बल एग से अलग आज सीखें 'मग ऑमलेट' बनाने की क्विक एंड ईजी रेसिपी       प्रोटीन रिच डाइट का बेहतरीन ऑप्शन है 'कॉलीफ्लॉवर चीज़'       डॉगी ने अपने दिव्यांग मालिक को कराई ऐसी सैर, देख आप कह उठेंगे OMG...       आपके अकाउंट में नहीं आई है सातवीं किस्त, तो यहां करें शिकायत; जानें क्या है प्रोसेस       अपने फोन से 10 मिनट में अपडेट करें अपना आधार कार्ड, जानिए ये आसान प्रॉसेस       PNB ग्राहक ध्यान दें, 1 फरवरी से इन ATM से नहीं निकाल पाएंगे पैसा       CLSS के तहत सब्सिडी, समयसीमा बढ़ाए जाने की मांग; अलग से टैक्स छूट भी चाहते हैं इंडस्ट्री के एक्सपर्ट       हेलमेट इंडस्ट्री की GST में कमी की मांग, EV इंडस्ट्री को चार्जिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर में निवेश की उम्मीद       रिजर्व बैंक ने कहा कि भारत की जीडीपी की वृद्धि दर सकारात्मक होने के बिल्कुल करीब