स्वास्थ्य

इस पत्ते सुबह खाली पेट चबा लें तो ये अनेक बीमारियों की है अचूक दवा

 वैसे तो हमारे आसपास विभिन्न प्रकार के पेड़-पौधे देखने को मिलते हैं यदि आप आयुर्वेद के जानकार हैं तो यह पौधे किसी ने किसी रोग में इलाज के तौर पर काम आते हैं आज हम आपको एक ऐसी ही आयुर्वेदिक औषधि के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके इस्तेमाल से शरीर की घातक रोंगों को जड़ से समाप्त किया जा सकता है कढ़ी पत्ता एक ऐसा पौधा है जिसका इस्तेमाल प्राचीन काल से ही आयुर्वेद और घरेलू उपचारों में होता आ रहा है करी पत्ते में कई ऐसे गुण उपस्थित होते हैं, जो कई रोगों का उपचार करने में सहायता करते हैं

दक्षिण हिंदुस्तान के व्यंजनों जैसे सांभर, रसम, चटनी आदि में कढ़ी पत्ते का प्रयोग किया जाता है ये पत्ता हर लिहाज सेहमारे लिए लाभ वाला होता है, यदि इसे सुबह खाली पेट चबा लें तो इसका लाभ और भी बढ़ जाता है

आसानी से मिल जाता है ये पौधा
बाराबंकी जिला हॉस्पिटल के आयुर्वेद विभाग के डाक्टर अमित वर्मा (एमबीबीएस, एमडी मेडिसिन) का बोलना है कि कढ़ी पत्ते को लोग मीठा नीम के रूप में जानते हैं, जो एक बहुत लाभदायक जड़ी-बूटी है यह विभिन्न रोंगों को जड़ से समाप्त करने में कारगर साबित होता है यह पौधा सरलता से हमारे आसपास और पार्कों में मिल जाता है इसके इस्तेमाल से आप कई रोंगों से छुटकारा पा सकते हैं करी पत्ते को उनके एंटीऑक्सीडेंट, एंटी डायबिटिक, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी ट्यूमर गुणों के कारण पूरे विश्व में आयुर्वेदिक चिकित्सा में व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाता है

इन रोंगों की अचूक दवा
डॉ अमित वर्मा ने कहा कि आयुर्वेद के मुताबिक मीठा नीम की पत्तियां हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी गुणकारी है ये हमे कोलेस्ट्रॉल, शुगर, चक्कर आना, पेशाब में जलन, पेट संबंधित कई गंभीर रोंगों से छुटकारा दिलाती है नीम करी या करी पत्ता के पौधे को भिन्न-भिन्न नाम से जाना जाता है इसमें कई तरह की विटामिन पाई जाती है साथ ही पाचन शक्ति बढ़ाने की अचूक दवा है इसकी जो तासीर है वह ठंडी होती है जिससे पेट संबंधित जो भी बीमारियां होती हैं वह ठीक रहती हैं इसको दाल या सब्जी में डालकर सेवन करें या चबाकर सेवन कर सकते हैं यह स्वाद में मीठी होती है इसका सेवन आराम से किया जा सकता है

खाली पेट करी पत्ते खाने के फायदे
डॉ अमित वर्मा ने कहा कि यदि किसी को चक्कर आता हो तो सुबह खाली पेट इसकी 4 से 6 पत्तियों का सेवन करने से काफी फायदा मिलता है यदि पेट को कम करना है तो इसके पत्ते को सब्जी दाल में डालकर सेवन कर सकते हैं इसके अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल, शुगर जैसी रोंगों में इसके सेवन से काफी लाभ होता है साथ ही साथ जिसको पेशाब की परेशानी होती है इसके पत्तों को पानी के साथ सेवन किया जाए तो पेशाब खुलकर होती है और जलन भी नही होती

Related Articles

Back to top button