गर्दन में दर्द ,इस गंभीर बीमारी का हो सकता है लक्षण

गर्दन में दर्द ,इस गंभीर बीमारी का हो सकता है लक्षण

गर्दन हमारे शरीर का बहुत महत्वपूर्ण अंग है कभी-कभी गर्दन में दर्द होने पर हम बेचैन-सा महसूस करने लगते हैं क्योंकि गर्दन में दर्द होने पर हम अपने काम पर फोकस नहीं कर पाते यहां तक कि खाने-पीने में भी दिक्कतों का सामना करते हैं अधिक देर तक काम करने से भी गर्दन में होने वाला दर्द हमारी मुश्किलें बढ़ा देता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि गर्दन में दर्द होना कुछ गंभीर रोंगों का संकेत हो सकता है आइए इस बारे में विस्तार से जानते हैं

 गर्दन में दर्द क्यों होता है?
सुबह सोकर उठने के बाद गर्दन में दर्द के कई कारण हो सकते हैं, जैसे सोते हुए कठोर गद्दे या तकिये का उपयोग करना या फिर ऊंचे तकिए पर सोने से भी आपको कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है वैसे चिकित्सक बिना तकिये के सोने की राय देते हैं इसके अतिरिक्त कम्प्यूटर और लैपटॉप पर भी अधिक देर तक काम करने पर गर्दन में दर्द और खिंचाव महसूस होने लगता है रात में ठीक से ना सो पाने की वजह से भी आपको कभी-कभी दर्द का सामना करना पड़ता है

नॉन-स्पेसिफिक नेक पेन

कई मामलों में ऐसा भी होता है कि गर्दन में दर्द का ठीक कारण पता लगाना कठिनाई हो जाता है लेकिन जब गर्दन में बिना किसी कारण दर्द हो तो इसका मतलब ये हो सकता है कि आपका कोई मसल्स टिश्यू टूट गया हो हालांकि गर्दन में इस तरह का दर्द होना आम होता है

चिंता और स्ट्रेस 
स्ट्रेस में अक्सर पीठ और गर्दन में दर्द की कम्पलेन देखने को मिलती है क्योंकि स्ट्रेस के कारण मांसपेशियां कठोर हो जाती हैं

गर्दन के पीछे दर्द भी सबसे आम परेशानी है यह परेशानी एक ही स्थान पर अधिक देर तक बैठने, ठीक मुद्रा में न सोने और अचानक गर्दन में नस चढ़ने की वजह से हो सकती है एक्सपर्टस का मानना है कि छोटी-सी परेशानी आगे चलकर सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस में बदल सकती है गर्दन में दर्द, अकड़न, सिर दर्द और कंधे के आसपास दर्द या कंधे में अकड़न इसके आम लक्षणों में से हैं

इन बातों का रखें ध्यान

  • गर्दन में दर्द दूर करने के लिए प्रतिदिन एक्सरसाइज करें
  • पर्याप्त धूप लेने से भी इस तरह के दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है
  • गुनगुने पानी में नमक डालकर सिकाई करना भी लाभदायक होता है
  • दिनभर में कम से कम तीन से चार बार सिकाई करें
  • जब भी बैठें या लेटें, तो ध्यान रखें कि गर्दन सीधी हो
  • जब भी वाहन चलाएं तो पीठ को सीधा रखें
  • सोते समय नरम और कम ऊंचाई वाला तकिया लगाएं

भारत में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 16 हजार से अधिक केस

भारत में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 16 हजार से अधिक केस
कोविड-19 बना जानलेवा, संक्रमण से 5 रोगियों की मौत" : राष्ट्र की राजधानी में एक बार फिर कोविड-19 वायरस जानलेना बन गया है दिल्ली में एक दिन में कोविड के 648 न‌ए मुद्दे सामने आए, जबकि संक्रमण से 5 रोगियों की मृत्यु हो गई है पॉजिटिविटी दर में भी उछाल आया है कोविड-19 संक्रमण रेट 4.29 फीसदी हु‌ई पिछले 24 घंटों के दौरान दिल्ली में कोविड-19 के कुल 15103 टेस्ट किए गए और 785 रोगी ठीक हुए

 देश की राजधानी में एक बार फिर कोविड-19 वायरस जानलेना बन गया है दिल्ली में एक दिन में कोविड के 648 न‌ए मुद्दे सामने आए, जबकि संक्रमण से 5 रोगियों की मृत्यु हो गई है पॉजिटिविटी दर में भी उछाल आया है कोविड-19 संक्रमण रेट 4.29 फीसदी हु‌ई पिछले 24 घंटों के दौरान दिल्ली में कोविड-19 के कुल 15103 टेस्ट किए गए और 785 रोगी ठीक हुए फिलहाल, दिल्ली में कोविड-19 के कुल 3268 सक्रिय रोगी हैं और कंटोनमेंट जोन की संख्या घटकर 370 हो गई है

भारत में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 16 हजार से अधिक केस

भारत में पिछले 24 घंटों में 16,103 नए मुद्दे सामने आए हैं, जो एक दिन पहले के मुकाबले करीब एक हजार कम है एक्टिव मामलों की संख्या 1 लाख 11 हजार से अधिक हो गई है स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, हिंदुस्तान में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 16,103 मुद्दे सामने आए हैं, वहीं 31 लोगों की मृत्यु भी हो गई है इस समय दैनिक पॉजिटिविटी रेट 4.27 प्रतिशत हो गई है जो कि पिछले दिनों के मुकाबले बढ़ी है 

कोरोना वैक्सीनेशन में हिंदुस्तान गवर्नमेंट लगातार आगे

भारत में अब तक 1 अरब 97 करोड़ से अधिक कोविड-19 की वैक्सीन लग चुकी हैं यही वजह है कि कोविड-19 के मामलों के लगातार सामने आने के बावजूद राष्ट्र की स्वास्थ्य प्रबंध पर अधिक असर नहीं पड़ा है कोविड-19 संक्रमित अधिकांश लोग घरों पर ही आईसोलेट होकर अपना उपचार करा रहे हैं