NSA ओ'ब्रायन ने सैंडर्स के आरोपों को किया खारिज, बोले...       शत्रुघ्न सिन्हा ने PAK राष्ट्रपति आरिफ अल्वी से की मुलाकात, कहा...       मरने वालों की 2,442 हुई संख्या, कोरोना ने निगली कई जिंदगियां       कोरोना से भयभीत हुआ चीन, चिनफिंग बोले...       मोदी के रहते कश्मीर में कुछ नहीं हो सकता : इमरान खान       रेप के बाद नाबालिग ने दिया बेटी को जन्म, फिर किया ये काम       एक दिन के नवजात मासूम को मिली ऐसी सजा, सुनकर हो जाएंगे हैरान       कमरे में अकेली बेटी को देख बिगड़ गई पिता की नियत       मुख्यमंत्री नितीश कुमार का बड़ा बयान, कहा...       संघ प्रमुख डॉ मोहन भागवत का बड़ा बयान, कहा...       विपक्ष पर हमलावर हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया, कहा...       कितनी दूर है दिल्ली से अमेरिका, ट्रंप के दौरे से पहले गूगल पर सर्च कर रहे लोग       इस बार दिल्ली में रामवीर सिंह विधूड़ी को मिला मौका       अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हिन्दी में ट्वीट पर प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी बोले...       मनमोहन सिंह ने कहा कि अब तक 9 भारतीय प्रधानमंत्रियों ने किया अमेरिकी दौरा       US प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप भी खाएंगे हरिओम के पान       नियॉन रंग की टाई में दिखें डोनाल्ड ट्रंप, सफेद रंग के जंपसूट में हिंदुस्तान पहुंची मेलानिया ट्रंप       ओबामा को परोसी गई थी ये फिश, ट्राउट का स्वाद नहीं चख पाएंगे ट्रंप       आज के दिन श्रीदेवी ने संसार को किया था अलविदा       बिग बॉस 13 से निकलते ही जमकर प्रसिद्ध हुए आसिम रियाज      

चिंता या तनाव होने पर दबाएं शरीर के ये...

चिंता या तनाव होने पर दबाएं शरीर के ये...

चिंता व तनाव, ये देानों ऐसी चीजे हैं, जो आज के समय में लगभग हर किसी के ज़िंदगी का एक भाग बन चुकी हैं। तनाव या चिंता होने के पीछे कई कारण हो सकते हैं जिसमें पारिवारिक समस्‍याएं व कार्य का दबाव मुख्य रूप से शामिल हैं। हालांकि कुछ हद तक चिंता करने के कुछ फायदे भी हैं, लेकिन जब इस चिंता व तनाव का स्‍तर बढ़ जाता है तो यह खतरनाक होने कि सम्भावना है।

इस चुनौतीपूर्ण स्थिति का सामना करने के लिए स्थिति से बाहर निकलने व आराम करने के लिए आप अपने शरीर के कुछ हिस्‍सों की मसाज व उन्‍हें दबाकर आराम पा सकते हैं। जब कभी भी आपको ऐसा एहसास हो कि आप इस स्थिति की ओर जा रहे हैं तो आप शरीर के कुछ बिंदुओं पर दबाव व उनकी मालिश करके शांति व राहत महसूस कर सकते हैं।

कान के ऊपरी भाग को मसाज करें

इस बिंदु पर मालिश, तनाव व अनिद्रा से राहत पाने के लिए किया जाता है। कान के इस बिंदु की मालिश करने के लिए आपको अपने अंगूठे व तर्जनी का उपयोग करते हुए, अपने कान के ऊपरी भाग पर एक हल्‍के दबाव के साथ मसाज करना होगा।

आईब्रो के बीचों बीच
आईब्रो के बीचों बीच मसाज आपको तनाव से राहत दिलाने में मददगार होने कि सम्भावना है क्‍योंकि इस बिंदु पर दबाव व मालिश करने से आपको चिंता से तुरंत राहत मिलती है। इसके लिए आप अपनी आंखें बंद करें, कुछ धीमी व गहरी सांसें लें। फिर आप अपने अंगूठे या तर्जनी के साथ धीमी व गोलाकार गति में आईब्रो के बीचों बीच हल्‍के दबाव के साथ मसाज करें। अंगूठे व तर्जनी के बीच का प्‍वाइंट दबाएं
अंगूठे व तर्जनी के बीच के प्‍वाइंट को दबाने व उसकी मालिश करने से सिरदर्द व तनाव में बहुत ज्यादा कमी आती है। आपको बस बैठने की आवश्यकता है, कुछ गहरी सांस लें व अपने अंगूठे व तर्जनी का उपयोग करके एक हाथ से दूसरे हाथ की उगलियों के बीच के प्‍वाइंट को 10 सेकंड के लिए दबाएं व मालिश करें।

कलाई की मसाज करें
हथेली के पास कलाई से लगभग तीन अंगुल की दूरी पर, आपको बस लगभग 05 सेकंड के लिए अपने अंगूठे से इस बिंदु पर दबाव देने की आवश्यकता है। इसके बाद आप गहरी सांस लें व फिर हाथों पर दबाव को वैकल्पिक रूप से जारी रखते हुए मसाज करें।

कंधे की मसाज करें
कंधे पर अपनी गर्दन के बगल में अपनी बीच की उंगली व अंगूठे से इस बिंदु पर मालिश करें। इससे न केवल तनाव दूर करने में मदद मिलती है, बल्कि कार्य की थकान को कम करने में भी मदद मिलेगी। तनाव से राहत पाने के लिए, एक बार जब आप इस बिंदु को दबाते हुए मसाज करते हैं, तो 05 सेकंड के लिए उस भाग पर दबाव दें। ऐसा करने से आपको तनाव को दूर करने व उससे राहत पाने में मदद मिल सकती है लेकिन बेहतर होगा कि आप एक बार इसके लिए मसाज या एक्‍यूपंक्‍चर स्‍पेशलिस्‍ट की सलाह भी ले लें।


क्या आपको पता हैं उल्टी-दस्त और कब्ज में हरड़ के इस्तेमाल से मिलती है राहत

क्या आपको पता हैं उल्टी-दस्त और कब्ज में हरड़ के इस्तेमाल से मिलती है राहत

हरड़ पाचन तंत्र को मजबूत बनाती है. साथ ही यह शरीर को डिटॉक्स कर वजन घटाने में भी मदद करती है. इसमें कई प्रकार के एसिडिक तत्व पाए जाते हैं जो शरीर के इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं. इसमें कई अन्य अघुलनशील पदार्थ भी होते हैं. इसमें 18 प्रकार के अमीनो एसिड भी पाए जाते हैं.


उल्टी-दस्त से मिलता आराम

बुखार, पेट फूलना, उल्टी-दस्त, गैस बनना व बवासीर जैसी समस्याओं में इसका इस्तेमाल किया जाता है. हरड़ का चूर्ण व शहद का इस्तेमाल करने से उल्टी-दस्त में आराम मिलता है.
कब्ज में राहत

हरड़ में गैलिक एसिड पाया जाता है जो रक्त में प्लाज्मा इंसुलिन बढ़ाकर कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है. कब्ज के लिए चुटकीभर हरड़ चूर्ण को नमक के साथ खाना चाहिए. इसे लौंग या दालचीनी के साथ लें. दस्त की समस्या में हरड़ की चटनी बनाकर दिन में 3-4 बार खाने से दस्त में आराम मिलता है.
जरूर बरतें सावधानी

कमजोर शरीर, अवसादग्रस्त आदमी तथा गर्भवती स्त्रियों को इसका इस्तेमाल करने से बचना चाहिए. इसको बिना आयुर्वेद विशेषज्ञ से परामर्श के नहीं लें.

Loading...