आखिर क्यों होता है सिर में दर्द, जानें कारण और उपाय

आखिर क्यों होता है सिर में दर्द, जानें कारण और उपाय

मौसम बदलते ही मौसमी बीमारियां हमें अपनी गिरफ्त में लेने लगती है। कभी कभी मौसम में आये अचानक बदलाव के कारन बुखार के साथ-साथ सिर दर्द की भी समस्या हो जाती है। अगर तीन दिन से अधिक आपके सिर में दर्द बना रहे तो ये चिंता का विषय हो सकता है। सिर दर्द के कई कारन हो सकते है। 

ये हो सकते है सर दर्द के कारण:

# आपके सर में लगातार काफी दिनों से दर्द हो रहा हूँ तुरंत अपनी आँख की जांच करवाए। क्योकि आँखों के पावर के बढ़ने ता घटने के कारन सिर में दर्द हो सकता है।

# बहुत बार पेट में एसिडिटी की समस्या के कारन भी सिर में दर्द की समस्या हो सकता है। इसलिए इस बात का ध्यान रखे की कभी ज़्यादा देर तक खाली पेट न रहे और अपने खान-पान को संयमित रखे।

# अगर आपके सिर में तेज दर्द हो रहा होतो तुरंत अपने चेहरे को ठंडे पानी से धोये, और अपने सिर पर भी ठंडा पानी डाले। और एक कमरे में अँधेरा करके सो जाये।

# अगर आपको अक्सर सर में दर्द रहता है तो ज़्यादा देर तक धूप में ना रहे, इससे आपका दर्द तेज हो सकता है। इसके लिए आपको आराम की जरूरी है। 

# आपको माइग्रेन की समस्या है तो रोज रात को सोने से पहले दूध में गर्म जलेबी मिलाकर खाये। ऐसा करने से सर दर्द में आराम मिलता है।


लौंग के ज्यादा सेवन से भी हो सकती है एलर्जी

लौंग के ज्यादा सेवन से भी हो सकती है एलर्जी

शरीर की कई बिमारियों का इलाज तो हमारे किचन में ही रहता है बस थोड़ा ध्यान देने की जरूरत होती है। लौंग बहुत आम मसाला हैं जिसका आम तौर पर खाना पकाने के लिए उपयोग किया जाता है। परंपरागत रूप से कई बीमारियों के उपचार के लिए उपयोग किया जाता है। लेकिन ज्यादा लौंग भी कुछ मामलों में हानिकारक हो सकती है।

ज्यादा लौंग खाने के नुकशान:

अगर ब्लड शुगर सामान्य स्तर से नीचे हैं, तो आपको जल्दी से लौंग के इस्तेमाल को कम करना होगा इस स्वास्थ्य की स्थिति में लौंग खाना बहुत खतरनाक है। लौंग खून में ग्लूकोज के स्तर को कम करता है।

# लौंग का ज्यादा इस्तेमाल करने से एलर्जी हो सकती है। लौंग में यूजेनॉल होता है और यह केमिकल एलर्जी का सबसे महत्वपूर्ण कारण है। लौंग की अत्यधिक मात्रा में सेवन से चकत्ते, सूजन, और पित्ती हो जाते हैं।

# लौंग का बहुत अधिक मात्रा में सेवन करने से लंबे समय तक खून बह सकता है। लौंग खून को पतला कर देता है इस वजह से ब्लीडिंग हो सकती है।