ट्रंप को फिर झटका: YouTube ने लिया एक्शन, हटाए वीडियो

ट्रंप को फिर झटका: YouTube ने लिया एक्शन, हटाए वीडियो

नई दिल्ली: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। कुछ दिन पहले ही ट्विटर, फेसबुक, और स्नैपचैट ने डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) के अकाउंट को बैन किया था। इसी कतार में अब यू-ट्यूब (YouTube) ने भी डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) के खिलाफ सख्त रवैया अपनाया है। बता दें कि यू-ट्यूब (YouTube) ने डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) के चैनल को सस्पेंड कर दिया है। यू-ट्यूब (YouTube) का कहना है कि डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) ने एक वीडियो अपलोड किया था जो सेवा शर्तों के खिलाफा था, इसलिए उनके के इस चैनल को सस्पेंड कर दिया है।

ट्रंप के चैनल को लेकर कंपनी ने दिया बयान
डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) के चैनल को लेकर यू-ट्यूब (YouTube) ने एक बयान भी जारी किया है। यू-ट्यूब (YouTube) अपने इस बयान में कहा है, “ट्रंप ने एक वीडियो अपलोड किया था जो कि हमारी नीतियों का उल्लंघन कर रहा था जिसके बाद उनके चैनल पर ऑटोमेटिक स्ट्राइक आया है। पहला स्ट्राइक कम-से-कम सात दिनों के लिए होता है। ऐसे में अगले सात दिनों तक ट्रंप अपने चैनल पर कोई वीडियो अपलोड नहीं कर पाएंगे। स्ट्राइक के अलावा उनके चैनल के कमेंट सेक्शन को भी बंद कर दिया गया है।”

नीतियों के उल्लंघन पर लगते है 3 स्ट्राइक्स
जानकारी के अनुसार, यू-ट्यूब (YouTube) चैनल के नितियों का जब कोई उल्लंघन करता है, तो नीतियों के उल्लंघन को लेकर कंपनी 3 स्ट्राइक्स लगाती है। जब 3 स्ट्राइक्स के बाद में उल्लंघन होता है तो कंपनी उसके चैनल को ब्लॉक कर देती है। माना जाता है कि कुछ समय पहले भी अमेरिकी नागरिक अधिकार समूह (American Civil Rights Group) ने भी मांग की थी कि वह डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) के यू-ट्यूब (YouTube) चैनल को बैन कर देना चाहिए। अगर गूगल (Google) ऐसा नहीं किया तो उसका बहिष्कार किया जाएगा।

ट्रंप के चैनल के 2.77 मिलियन सब्सक्राइबर्स
फिलहाल, डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) ने कौन से वीडियो को अपलोड करके सेवा शर्तों का उल्लंघन किया है, इस पर कंपनी ने अभी तक कोई जानकारी नहीं दी है। बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) के यू-ट्यूब (YouTube) चैनल के 2.77 मिलियन सब्सक्राइबर्स है।


प्रेसिडेंट इलेक्ट ने 1.9 ट्रिलियन डॉलर के राहत पैकेज का ऐलान किया, हर जरूरतमंद के खाते में 1400 डॉलर आएंगे

प्रेसिडेंट इलेक्ट ने 1.9 ट्रिलियन डॉलर के राहत पैकेज का ऐलान किया, हर जरूरतमंद के खाते में 1400 डॉलर आएंगे

20 जनवरी को अमेरिकी राष्ट्रपति बनने जा रहे जो बाइडेन ने अपना सबसे अहम चुनावी वादा निभाने का ऐलान कर दिया। बाइडेन ने कोरोना की वजह से गंभीर रूप से प्रभावित हुई अमेरिकी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए 1.9 ट्रिलियन डॉलर के राहत पैकेज का ऐलान किया। इसको कुछ हिस्सों में बांटा गया है।

पैकेज को अमेरिकी संसद के दोनों सदनों से पास कराना होगा। मोटे तौर पर देखें तो पैकेज लागू होने के बाद हर अमेरिकी के खाते में 1400 डॉलर आएंगे। इस पैकेज में छोटे कारोबारियों को भी राहत दी गई है। पैकेज को अमेरिकन रेस्क्यू प्लान नाम दिया गया है।

पैकेज में किसके लिए क्या
बाइडेन के पैकेज का सिर्फ एक मकसद है कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाया जाए। पैकेज में जिस तरह फंड अलॉकेट करने का प्रपोजल है, उससे साफ हो जाता है कि कारोबार, शिक्षा और हर अमेरिकी को राहत देने का फैसला किया गया है। इसके साथ ही वैक्सीनेशन पर भी फोकस किया गया है।

  • 415 अरब डॉलर : कोरोना के खिलाफ जंग पर खर्च किए जाएंगे।
  • 440 अरब डॉलर : स्मॉल स्केल बिजनेस (छोटे कारोबारों) की हालत सुधारने पर खर्च होंगे।
  • हर एलिजिबल अमेरिकी के अकाउंट में 1400 डॉलर​ ​ट्रांसफर होंगे।
  • प्रति घंटे के हिसाब से कर्मचारियों को न्यूनतम वेतन (मिनिमम वेज) 15 डॉलर ​​​दिया जाएगा। पहले यह 7 डॉलर था।

क्या पैकेज में कुछ दिक्कत आ सकती है?
बिल्कुल आ सकती है। नवंबर-दिसंबर में जब ट्रम्प राहत पैकेज लेकर आए थे तब, बाइडेन और उनकी डेमोक्रेटिक पार्टी ने कई सवाल उठाए थे। सीनेट में अब भी रिपब्लिकन पार्टी का बहुमत है। वो आपत्ति जता सकते हैं। दूसरी बात, पैकेज में डिफेंस सेक्टर के लिए अलग से कोई ऐलान नहीं किया गया है। इस पर आपत्ति हो सकती है।

बाइडेन ने क्या कहा?
बाइडेन ने कहा- संकट बड़ा और रास्ता मुश्किल है। अब हम और वक्त बर्बाद नहीं कर सकते। जो करना है वो, फौरन करना है। बाइडेन चाहते हैं कि 100 दिन में करीब 10 करोड़ अमेरिकी नागरिकों को वैक्सीनेट किया जाए। वे बेरोजगारी भत्ता 300 डॉलर से बढ़ाकर 400 डॉलर हर महीने करना चाहते हैं। स्कूल फिर खोलने के लिए 130 अरब डॉलर खर्च किए जाने की योजना है।

भारत की कुल अर्थव्यवस्था के आधे से ज्यादा का राहत पैकेज
भारत की कुल अर्थव्यवस्था इस वक्त करीब 3 ट्रिलियन डॉलर की है। इस लिहाज से देखें तो बाइडेन ने जो राहत पैकेज घोषित किया है वो भारत की अर्थव्यवस्था के आधे से भी ज्यादा है।


अभी अभी : सरकार का बड़ा ऐलान! कर्मचारियों को तोहफा, अब होगी पैसों की बारिश       क्या बिना रजिस्ट्रेशन वैक्सीन लगवाई जा सकती है? जानें       फिर बेनतीजा रही किसान नेताओं और सरकार के बीच वार्ता       सेना ने किया कमाल, पहली बार साथ उड़े 75 ड्रोन्स       Schools in Himachal Pradesh: 15 फरवरी से तैयार रहें, हुआ ये बड़ा ऐलान       मंत्रालय ने दी ये जानकारी, वैक्सीन लगवाने से पहले जान लें साइड इफेक्ट्स       झारखंड: सोशल मीडिया पर कैंपेन चलाने वालों पर होगा एक्शन       सेना के भयानक हथियार, हिले चीन-पाकिस्तान       अब घर तक शराब पहुंचाएगी सरकार       हरसिमरत का राहुल पर निशाना, बोलीं...       भारत में बनी इस वैक्सीन को लेकर अमेरिकी मीडिया ने खड़े किये सवाल       इन 2 राशियों को मिलेगा लाभ, जानें किसका होगा बुरा हाल       शतभिषा नक्षत्र में ये 2 राशियां रहें सावधान!       UPPCL Junior engineer recruitment 2021: यूपीपीसीएल ने जूनियर इंजीनियर के पदों पर निकली भर्तियां, इस तारीख तक करें आवेदन       IFFI 2020: 51वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का हुआ आगाज, इस बार ये है खास       रिषभ पंत को इसके कारण शेन वॉर्न और मार्क वॉ ने दी नसीहत, कहा- दायरे में रहकर करें अपना काम       पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा- कोरोना वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित, मैं खुद चाहता था लगवाना       OHB समूह के लिए लाॅन्च होगा कम्युनिकेशन सैटेलाइट       Republic Day Parade 2021: दिल्ली-NCR में 15 फरवरी तक ड्रोन व ग्लाइडर उड़ाने पर रहेगा प्रतिबंध       ये दे रहे हैं तन, मन और धन से किसान आंदोलन को धार