विवादित एक बच्चे की नीति के बाद चीन अब आबादी बढ़ाने की दिशा में अग्रसर

विवादित एक बच्चे की नीति के बाद चीन अब आबादी बढ़ाने की दिशा में अग्रसर

विश्व की सबसे ज्यादा आबादी वाला देश चीन एक बार फिर अपने यहां जन्मदर बढ़ाने की कवायद शुरू करने वाला है। चीन ने चार साल पहले तक विवादित एक बच्चे की नीति का अनुसरण करता था। दशकों तक चीन ने अपने यहां जनसंख्या पर कड़ा नियंत्रण रखने के उपाय किए थे। उस समय उसकी दलील थी कि सीमित संसाधनों को बचाना जरूरी है। चीन घटती जन्मदर को रोकना चाहता है। 

अब वह जन्मदर बढ़ने को आर्थिक उन्नति और सामाजिक स्थिरता के लिए जरूरी मान रहा है। चीन ने कहा है कि वह जन्मदर बढ़ाने के लिए पहले अपने यहां उत्तरपूर्वी क्षेत्र पर ध्यान देगा। यह क्षेत्र पुराने समय का औद्योगिक उदय माना जाता है। यहां जनसंख्या में भारी गिरावट आ गई है। नौजवान और उनके परिवार बेहतर अवसरों के लिए यहां से पलायन कर गए हैं। अधिकारियों के अनुसार पिछले साल जन्म दर में 15.3 प्रतिशत की गिरावट आई है। चीन में 2010 की जनगणना के अनुसार एक अरब 34 करोड़ जनसंख्या थी। वार्षिक जन्मदर 0.57 फीसद रही। जबकि एक दशक पहले जन्मदर 1.07 फीसद थी। जन्मदर को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के अनुसार 2027 तक भारत आबादी के लिहाज से चीन को पछाड़ देगा।

 चीन की आबादी तकरीबन एक अरब 40 करोड़ से ज्‍यादा है। यह दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश है। कुछ दशक पहले तक चीन की लगातार बढ़ रही आबादी उसके लिए चिंता का सबब बनी हुई थी। अपनी बढ़ती जनसंख्‍या को नियंत्रित करने के लिए चीन ने वर्ष 1979 में एक बच्चे की नीति बना दी। इसके तहत केवल एक ही बच्चा पैदा करने की अनुमति थी। हालांकि कुछ साल पहले चीन को एहसास हुआ कि देश में बुजुर्गों की संख्या बढ़ती जा रही है, उसके अनुपात में युवाओं की जनसंख्या काफी कम हो रही है। लिहाजा वर्ष 2016 में चीन ने एक बच्चे की नीति को निरस्त कर दो बच्चों की नीति बना दी। मतलब चीन में अब एक कपल दो बच्चे पैदा कर सकता है।


राफेल के मालिक, डसॉल्ट की हेलीकॉप्टर क्रैश में मौत

राफेल के मालिक, डसॉल्ट की हेलीकॉप्टर क्रैश में मौत

नई दिल्ली: फ्रांस के अरबपति बिजनेसमैन और राजनेता ओलिवियर डसॉल्ट का हेलीकॉप्टर दुर्घटना में निधन हो गया है। डसॉल्ट की मौत पर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने ट्वीटर पर शोक जताया है। डसॉल्ट फ्रांस की संसद के सदस्य भी थे। इनकी कंपनी राफेल फाइटर प्लेन भी बनाती है।

डसॉल्ट का जन्म एक जून, 1951 को हुआ था और वह डसॉल्ट समूह के संस्थापक परिवार से थे। ओलिवियर डसॉल्ट फ्रांसीसी अरबपति उद्योगपति सर्ज डसॉल्ट के सबसे बड़े बेटे थे, जिनका समूह राफेल युद्धक विमानों का निर्माण करता है और साथ ही इस ग्रुप का ले फिगारो नाम का एक अखबार भी है।

राष्ट्रपति ने जताया शोक
फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने ट्वीट करते हुए कहा कि ओलिवियर डसॉल्ट फ्रांस से प्यार करते थे। उन्होंने उद्योग, कानून निर्माता, स्थानीय निर्वाचित अधिकारी, वायु सेना में कमांडर के रूप में देश की सेवा की। उनका आकस्मिक निधन एक बहुत बड़ी क्षति है।


दुनिया का 361वां सबसे अमीर शख्स
राजनीतिक कारणों और हितों के टकराव से बचने के लिए उन्होंने डसॉल्ट बोर्ड से अपना नाम वापस ले लिया था। साल 2020 फोर्ब्स की सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में दसॉ को अपने दो भाइयों और बहन के साथ 361वां स्थान मिला था। खबरों के मुताबिक रविवार को डसॉल्ट छुट्टियां मनाने गए थे। रविवार दोपहर निजी हेलीकॉप्टर नॉर्मंडी में दुर्घटनाग्रस्त हो गया।

ओलिवियर डसॉल्ट फ्रांस की नेशनल एसेंबली के लिए साल 2002 में चुने गए थे और फ्रांस के ओइस एरिया का प्रतिनिध‍ित्व करते थे। रिपब्लिकन पार्टी के सांसद डसॉल्ट की संपत्त‍ि करीब 7.3 अरब अमेरिकी डॉलर है। जानकारी के मुताबिक ओलिवियर डसॉल्ट के अलावा इस दुर्घटना में उनका पायलटर भी मारा गया है।


सोने के दाम में भारी गिरावट, फटाफट चेक करें नया रेट       7th pay commission: कर्मचारियों के लिए खुशखबरी       इन राशियों के लिए खुल रहे हैं सफलता के द्वार, जानें       महाशिवरात्रि स्पेशल, भगवान शिव एक पत्नी और दो पुत्रों के पिता नहीं, जानें       विष्णु का प्रिय शंख, भोलेबाबा की पूजा में वर्जित, आखिर क्यों       Beautiful to Bold! वुमेन्स डे पर अपने जीवन की खास स्त्रियों को भेजें ये मैसेज       Lovely Ladies! बढ़ती आयु में इन 8 बातों की टेंशन छोड़कर खुलकर जिएं       दुनिया में इस स्मार्टफोन को सबसे ज्यादा लोग करते हैं पसंद       सोशल मीडिया पर छेड़छाड़, बचाव के लिए करें ये काम       Flipkart सेल: इन स्मार्टफोन्स पर मिल रहा बड़ा डिस्काउंट       भुलकर भी एक साथ न खाएं ये चीजें, हो सकता है ये बड़ा नुकसान       तेजी से कम होगी पेट की चर्बी, सोने से पहले करें इस चीज का सेवन       इस तरह शरीर में बहने लगेगी पॉजिटिविटी, कई रोंगों का रामबाण उपचार है भ्रामरी प्राणायाम       ज्‍यादा खाने पर नुकसान भी पहुंचा सकते हैं ड्राई फ्रूट्स       खाना खाते वक्‍त क्‍या आप भी पीते हैं पानी?       बिना GYM जाए तेजी से कम होगा वजन, रोज 15 मिनट घर बैठे करें यह काम       Women’s Day: महिला डॉक्टर ने प्रग्नेंसी के दौरान किया ऐसा काम       खाने में ज्यादा नमक है जहर की तरह       मिलावटी चीजों से रहें सतर्क, ऐसे करें पहचान, खान-पान होगा शुद्ध       दुनिया का सबसे धनी बोर्ड बीसीसीआई महिला इवेंट को लेकर सबसे पीछे!