गाड़ी के अंदर इन्तजार करते हुए गई शख्स की जान

गाड़ी के अंदर इन्तजार करते हुए गई शख्स की जान

ट्रक ड्राइवर को पेट्रोल पंप के पास अपनी वाहन में मृत पाया गया.

  • ईंधन के लिए कतार में इन्तजार करते हुए राष्ट्र में यह 10वीं मृत्यु है.
  • श्रीलंका ईंधन के साथ-साथ दवाओं की भी कमी का सामना कर रहा है

 श्रीलंका में हालात दिन-ब-दिन बद से बदतर होते जा रहे हैं. एक तरफ जहां प्रतिदिन के उपयोग की चीजें महंगी होती जा रही हैं, वहीं बाजार में उनका मिलना भी कठिनाई हो रहा है. पेट्रोल पंपों पर डीजल और पेट्रोल के लिए गाड़ियों की लंबी कतारें लग रही हैं, और लोगों को ईंधन के लिए कई दिनों तक कतार में खड़ा होना पड़ रहा है. श्रीलंका के पश्चिमी राज्य में एक पेट्रोल पंप पर 5 दिनों तक लाइन में खड़े रहने के बाद 63 वर्ष के एक ट्रक ड्राइवर की मृत्यु की समाचार सामने आ रही है.

गाड़ी के अंदर इन्तजार करते हुए गई शख्स की जान

बता दें कि श्रीलंका आजादी के बाद अपने सबसे खराब आर्थिक संकट से जूझ रहा है, और ऋण में गले तक डूब गया है. ट्रक ड्राइवर की मृत्यु श्रीलंका में पेट्रोल पंपों पर ईंधन खरीदने के लिए लाइन में लगने के दौरान हुई यह 10वीं मृत्यु है. पुलिस ने गुरुवार को इस बारे में जानकारी देते हुए बोला कि वह शख्स अपनी वाहन के अंदर अंगुरवाटोटा में पेट्रोल पंप पर लाइन में इन्तजार करते हुए मृत पाया गया. इस तरह लाइन में इन्तजार करते हुए मरने वालों की संख्या अब 10 हो गई है.

पानादुरा फ्यूल सेंटर में भी गई थी एक शख्स की जान
कतार में इन्तजार करते हुए मरने वाले सभी पुरुष थे और उनकी उम्र 43 से 84 साल के बीच थी. कतार में लगने के दौरान जान गंवाने वाले अधिकांश लोगों की मृत्यु दिल का दौरा पड़ने के कारण हुई. एक सप्ताह पहले कोलंबो के पानादुरा में एक फ्यूल सेंटर पर कई घंटों तक लाइन में इन्तजार करते हुए 53 वर्षीय एक आदमी की मृत्यु हो गई थी. बताया जा रहा है कि थ्री-वीलर में इन्तजार करते हुए उस आदमी की दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हुई थी.

श्रीलंका में खाने-पीने की चीजें महंगी, दवाओं की भारी कमी
लगभग 2.2 करोड़ की जनसंख्या वाला यह खूबसूरत राष्ट्र इस समय आजादी के बाद के 70 से अधिक वर्षों में अपने सबसे खराब आर्थिक संकट का सामना कर रहा है. श्रीलंका में फ्यूल की जबरदस्त कमी हो गई है, और खाने-पीने की चीजों की कीमतें आसमान छू रही हैं. साथ ही राष्ट्र दवाओं की भारी कमी का भी सामना कर रहा है. हालात इस कदर बिगड़ गए हैं कि सरकारी कर्मचारियों को खाद्य संकट कम करने के लिए शुक्रवार की छुट्टी के दौरान खेती-बाड़ी करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है.


इटली में बड़ा हादसा अल्पाइन ग्लेशियर का हिस्सा टूटा

इटली में बड़ा हादसा अल्पाइन ग्लेशियर का हिस्सा टूटा
  • चपेट में आने से आठ लोग हुए घायल
  • 18 लोग बर्फ-चट्टानों के मलबे के बीच फंसे
  • ग्लेशियर टूटने की वजह गर्मी भी हो सकती है

Italy News: इटली में अल्पाइन ग्लेशियर का एक बड़ा हिस्सा आज रविवार दोपहर को टूट कर नीचे गिर गया, जिसकी चपेट में आने से कम से कम पांच लोगों की मृत्यु हो गई और आठ घायल हो गए. ऑफिसरों ने यह जानकारी दी.

हेलीकॉप्टर और खोजी कुत्तों की मदद 

इटली के एक सरकारी टेलीविजन चैनल के मुताबिक,  बर्फ और चट्टानों के मलबे की चपेट में आने से छह लोग हताहत हुए हैं, लेकिन मृतकों की संख्या की पुष्टि नहीं हो पाई है. यह भी पता नहीं चला है कि कितने लोग लापता हैं. नेशनल अल्पाइन एंड केव रेसक्यू कोर ने ट्वीट किया कि मरमोलाडा चोटी क्षेत्र में जारी बचाव में पांच हेलीकॉप्टर और खोजी कुत्तों की सहायता ली जा रही. 

चपेट में आने से पांच लोगों की मौत 

आपात सेवा ने ट्वीट में कहा, “ग्लेशियर टूटने से इसकी चपेट में आकर पांच लोगों की मृत्यु हो गई. घटना में आठ लोग घायल हुए जिनमें से दो की हालत गंभीर है.” वेनेटो क्षेत्र में स्थित एसयूईएम डिस्पैच सर्विस ने बताया कि 18 लोग बर्फ और चट्टानों के मलबे के बीच फंसे हैं, जिन्हें अल्पाइन रेसक्यू कोर के कर्मी निकालने में जुटे हैं. 

जून से इटली में पड़ रही भयंकर गर्मी 

पूर्वी डोलोमाइट्स में मरमोलाडा सबसे ऊंची चोटी है, जिसकी ऊंचाई लगभग 11,000 फुट है. अल्पाइन बचाव सेवा के प्रवक्ता वाल्टर मिलान ने सरकारी टेलीविजन चैनल से बोला कि यह पता नहीं चल पाया है कि ग्लेशियर का बड़ा हिस्सा किन कारणों से टूटा. उन्होंने बोला कि जून से इटली भयंकर गर्मी का सामना कर रहा है. ग्लेशियर टूटने की वजह गर्मी भी हो सकती है. 

चीन: चाबा तूफान की चपेट में आई क्रेन, 27 लोग लापता

वहीं, दक्षिण चीन के ग्वांगडोंग प्रांत के तट पर चाबा तूफान की चपेट में आने के बाद एक क्रेन डूब गई और उसमें सवार कम से कम 27 लोगों के लापता होने की समाचार है. प्रांतीय समुद्री खोज एवं बचाव केंद्र ने रविवार को यह जानकारी दी. बचाव के लिए भेजे गए 38 विमानों ने लापता लोगों की तलाश के लिए 14 चक्कर लगाए हैं. 

यांगजियांग शहर के पास चाबा तूफान से बचाव करते समय इसकी लंगर की चेन टूट गई थी और नज़र प्रणाली के माध्यम से क्रेन को खतरे में पाया गया था. इसके बाद शनिवार को क्रेन पानी में डूब गई. चीन की सरकारी समाचार एजेंसी ने बचाव केंद्र के हवाले से बोला कि तीन लोगों को बचाया गया और 27 अन्य पानी में गिर गए और लापता हो गए. वर्ष के तीसरे तूफान चाबा ने शनिवार को ग्वांगडोंग के माओमिंग शहर के तटीय क्षेत्र में दस्तक दी. हालांकि, लापता लोगों के लिए खोज और बचाव के कोशिश अब भी जारी है.