OMG! अकांक्षा पुरी ने हटाया पारस छाबड़ा के नाम का टैटू उसपर नया टैटू बनाया       रघुबीर यादव की जिंदगी में आया भूचाल, लगे कई बड़े आरोप       'बेडरूम सीन' करके इतनी परेशान हो गई ये एक्‍ट्रेस, बोला...       अब किसानों के संगठन को नरेन्द्र मोदी सरकार देगी 15 लाख रुपए       दिल्ली हिंसा पीड़ितों को आज से मुआवज़ा देगी केजरीवाल सरकार       जानिए क्यों पड़ी इस दिन की जरुरत, भारत में मनाया गया पहला प्रोटीन डे ?       विदाई से 2 घंटे पहले क्या हुआ कि दूल्हे की कराई गई दूसरी शादी, जानें पूरा मामला       कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल की 'राजधर्म' पर भाजपा को नसीहत, कहा...       पी.चिदंबरम ने कहा कि राजद्रोह कानून पर अरविंद केजरीवाल सरकार की समझ गलत       खुलकर लीजिए सांस, दिल्‍ली की हवा हुई शुद्ध       तेज रफ़्तार ट्रेन की चपेट में आई यात्री बस, 20 लोगों की भयावह मौत       दुनियाभर के सामने फिर शर्मसार हुआ पाक       OH NO! इस लड़की का 2 घंटे में 12 दरिंदों ने किया रेप, सुनकर सभी के होश उड़ गए       सगे भाई ने ही लूटी बड़ी बहन की अस्मत, और फिर...       नाबालिग संग किया रेप, हवस की भूख में अँधा हुआ बुजुर्ग       रिक्शावाला ने पहली क्लास की छात्रा को स्कूल ले जाते वक्त कर दिया रेप और फिर...       दिल्ली हिंसा व अंकित की मर्डर के आरोपों से घिरे ताहिर का बयान       नाबालिग छात्रा को नशा देकर बलात्कार करता था टीचर       कपिल मिश्रा के बचाव में उतरे रविशंकर प्रसाद, कहा...       कई महान बीजेपी नेता हुए शामिल, महाप्रभु के दर्शन करने पहुंचे अमित शाह      

अमरीकी सैनिकों को एक बार फिर बनाया निशाना!

अमरीकी सैनिकों को एक बार फिर बनाया निशाना!

नई दिल्ली/बकूबा: एक बार फिर अमरीकी ठिकाने पर राकेट से हमले हुए हैं. यह हमला इराकी हवाई अड्डे कत्युशा पर किए गए. इराकी सेना ने मंगलवार को यह जानकारी देते हुए बोला कि यहां पर अमरीकी सैनिक तैनात हैं.

बगदाद के उत्तर में अमरीकी नेतृत्व वाली गठबंधन सेनाओं को निशाना बनाते हुए यह हमले किए गए थे. इराकी सेना ने बयान में हालांकि यह नहीं बताया कि ताजी स्थित में शिविर पर कितने रॉकेट दागे गए हैं. इसमें किसी के हताहत होने की समाचार नहीं है.

माना जा रहा है कि ये हमले भी ईरान ने किए हैं. बताते चलें कि इससे पहले भी बगदाद में ईरान ने अमरीकी सैन्य बेस पर करीब 22 रॉकेट दागकर जबरदस्त हमला किया था. इस हमले में उसने 80 अमरीकी सैनिकों को मारने का दावा किया था. इसके बाद से अमरीका व ईरान के बीच तनाव की स्थिति देखने को मिल रही है.

अमरीका ने ईरान पर अलावा प्रतिबंध लगा दिए हैं. अमरीका का बोलना है ईरान की किसी भी हरकत का वह मुहंतोड़ जवाब देगा. ट्रंप ने इस हमले में अब तक एक भी अमरीकी सैनिक के मरने की पुष्टि नहीं की है. यह तनाव तब पनपा जब अमरीका ने ईरान के कमांडर कसीम सुलेमानी की ड्रोन हमला कर मर्डर करवा दी. सुलेमानी का बदला लेने के लिए ईरान इस तरह की कार्रवाई को अंजाम दे रहा है.


दुनियाभर के सामने फिर शर्मसार हुआ पाक

दुनियाभर के सामने फिर शर्मसार हुआ पाक

नई दिल्ली: अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद के मसले पर पाक की दुनियाभर में थू-थू हो रही है। पाकिस्तानी अल्पसंख्यकों ने एक पोस्टर के माधयम से संयुक्त देश से मांग की है कि वो पाक के विरूद्ध कठोर एक्शन ले। जेनेवा में संयुक्त देश मानवाधिकार परिषद के 43वें सत्र में ब्रोकन चेयर स्मारक के पास पाक की कड़े शब्दों में निंदा की गई।

दरअसल, पोस्टर में बोला गया है कि पाकिस्तानी सेना वैश्विक आतंकवाद का केन्द्र है। इस पोस्टर में आरोप लगाया गया है कि पाकिस्तानी आर्मी द्वारा इंटरनेशनल टेररिस्ट ऑर्गनाइजेशन्स की गैरकानूनी सहायता की जाती है। प्रदर्शनकारियों का बोलना है कि पाक सरकार आतंकवादी गतिविधियों में संलिप्त है। पाक की इकॉनमी के बेकार होने के पीछे एक कारण ये भी है कि भारी मात्रा में पैसा आतंकवादी गतिविधियों में लगाया जा रहा है।

एक रिपोर्ट के अनुसार, पाक में आतंकवादी अपनी गतिविधियों को सरलता से ऑपरेट कर रहे हैं, उनके पास फंड की भी कमी नहीं है क्योंकि वहां की सरकार कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। बोला ये भी जा रहा है कि पाकिस्तानी सरकार इस समस्या का निराकरण नहीं करना चाहती क्योंकि वह खुद गैरकानूनी गतिविधियों में संलिप्त है। इसलिए प्रदर्शनकारियों का बोलना है कि UN इस पर एक्शन ले व पाक पर फ़ौरन कार्रवाई करे।

Loading...