बंदूकधारी शख्स एक बैंक में घुस गया और कर्मचारियों व ग्राहकों को बंधक बनाया

बंदूकधारी शख्स एक बैंक में घुस गया और कर्मचारियों व ग्राहकों को बंधक बनाया

A man took hostages at a bank in Lebanon: लेबनान के बेरूत में गुरुवार को एक बंदूकधारी शख्स एक बैंक में घुस गया और कर्मचारियों और ग्राहकों को बंधक बना लिया इसके बाद उसने कर्मचारियों से बोला कि बैंक में फंसी मेरी जमा रकम मुझे दी जाए, नहीं तो मैं स्वयं को आग लगा लूंगा एक अधिकारी ने बताया कि आरोपी की पहचान 42 वर्षीय बस्सम अल-शेख हुसैन के रूप में हुई है वह बेरूत के हमरा ज़िले में फेडरल बैंक में कथित रूप से घुस गया था उसके पास गैसोलीन का कनस्तर भी था कई घंटों की जद्दोजहद और बैंक ऑफिसरों की तरफ से कुछ रुपये तुरंत देने के आश्वासन के बाद आरोपी ने सरेंडर कर दिया हालांकि जिस वकील की मौजूदगी में यह मध्यस्थता हुई, उसका बोलना है कि आरोपी को अभी एक भी रुपये नहीं मिले हैं

काफी रिक्वेस्ट के बाद छोड़ा था एक बंधक को

इससे पहले सूचना के बाद लेबनान के सैनिकों, राष्ट्र के आंतरिक सुरक्षा बल के पुलिस ऑफिसरों और खुफिया एजेंट ने क्षेत्र को घेर लिया अधिकारी हुसैन से वार्ता कर किसी निवारण पर पहुंचने की प्रयास में लगे रहे, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली हुसैन ने एक बंधक को बाद में मुक्त कर दिया बैंक के अंदर से मोबाइल से रिकॉर्ड एक वीडियो में दिख रहा है कि आरोपी हाथ में शॉटगन लिए हुए है और अपना धन वापस मांग रहा है एक अन्य वीडियो में पुलिस के दो अधिकारी उससे कम से कम एक और बंधक को मुक्त करने की निवेदन कर रहे हैं, लेकिन उसने इनकार कर दिया

2 हजार $ की निकासी की कर रहा था मांग

बैक एम्प्लॉइज सिंडिकेट के प्रमुख जॉर्ज अल हज ने क्षेत्रीय मीडिया को बताया कि आरोपी ने 7-8 कर्मचारियों के साथ ही 2 ग्राहकों को भी बंधक बनाया उसने चेतावनी देने के लिए तीन गोलियां भी चलाईं बताया जा रहा है कि बैंक में उसके करीब दो लाख $ फंसे हुए हैं दरअसल लेबनान में 2019 के अंत से ही कैश की कमी है और बैंकों से विदेशी मुद्रा निकालने पर कड़े प्रतिबंध लागू हैं इस वजह से वह शख्स भी पैसा नहीं निकाल पा रहा है उसके भाई आतिफ ने सरेंडर करने से पहले असोसिएटिड प्रेस से बोला कि यदि बैंक हुसैन के रुपये उसे वापस कर देता है तो वह सरेंडर कर देगा, क्योंकि उसे पिता के उपचार के बिल का भुगतान करने और परिवार के खर्चे पूरे करने के लिए रुपयों की आवश्यकता है आतिफ ने बोला कि उसके भाई का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है, उसने अपने रुपये लेने के लिए विवशता में ऐसा किया है

आरोपी के समर्थन में आए लोगों ने किया प्रोटेस्ट

वहीं, घटना में बच निकले बैंक के एक ग्राहक ने क्षेत्रीय मीडिया को बताया कि वह हॉस्पिटल में भर्ती अपने पिता के उपचार के लिए 2,000 $ की निकासी की मांग कर रहा है इस बीच इस घटना की सूचना मिलते ही दर्जनों प्रदर्शनकारी क्षेत्र में आ गए और उन्होंने लेबनान की गवर्नमेंट और बैंकों के विरूद्ध जमकर नारेबाज़ी की आरोपी शख्स को लोगों का काफी समर्थन मिल रहा है