उइगर मुस्लिमों पर रिपोर्टिंग करने वाले बीबीसी संवाददाता का उत्पीड़न

उइगर मुस्लिमों पर रिपोर्टिंग करने वाले बीबीसी संवाददाता का उत्पीड़न

उइगर मुस्लिमों पर रिपोर्टिंग करने वाले बीबीसी के एक पत्रकार (BBC journalist) का चीनी अधिकारियों ने इस कदर उत्पीड़न किया कि उन्हें सुरक्षा कारणों से परिवार सहित देश छोड़ना पड़ा। बीबीसी ने बुधवार को बताया कि जॉन सडवर्थ चीन में उनके पत्रकार थे। सुरक्षा कारणों से वह चीन से ताइवान पहुंच गए हैं। फॉरेन कोरस्पोंडेंट क्लब ऑफ चाइना ने कहा है कि जॉन की सुरक्षा को खतरा था। उनके साथ उनकी पत्नी वोने मुरे भी हैं, जो आइरिश ब्रॉडकॉस्टर आरटीइ की कोरस्पोंडेंट हैं।

जॉन ने चीन के अधिकारियों का वह सच उजागर कर दिया था, जो दुनिया से देश छिपाना चाह रहा था। जॉन को यहां पर अब धमकियां दी जा रही थीं। उनको चीन से केवल पहने हुए कपड़ों में ही देश से बाहर जाना पड़ा। जॉन नौ साल तक चीन में रहे। इस दौरान उन्होंने उइगर मुस्लिमों पर अत्याचार की कई रिपोर्ट दीं। उन्हें शिनजियांग के यातना शिविरों की रिपोर्टिग के लिए पिछले साल जॉर्ज पोल्क अवार्ड भी दिया गया था।


चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि हमने कभी जॉन को नहीं धमकाया है। उन्होंने क्यों देश छोड़ा, इसका कारण उन्हें नहीं मालूम है। हाल ही में अमेरिका ने शिनजियांग में उइगर मुस्लिम और अन्य जातीय और धार्मिक अल्पसंख्यक समूहों के खिलाफ चीनी कार्रवाई को 'नरसंहार' घोषित कर दिया था। अमेरिकी विदेश विभाग ने कहा था कि शिनजियांग में उइगर मुस्लिमों के खिलाफ अपराध हुए हैं।

बीते दिनों दुनियाभर में रहने वाले उइगरों ने चीन के शिनजियांग प्रांत में रहने वाले मुस्लिमों पर सरकारी अत्याचार के विरोध में अमेरिका से गुहार लगाई थी। निर्वासित उइगरों ने अमेरिकी विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन को पत्र लिखकर शिनजियांग के यातना कैंपों को बंद कराने की गुजारिश की थी। उइगरों के मामले में पहले ही अमेरिकी विदेश मंत्री ब्लिंकन चीन को चेतावनी दे चुके हैं।


हवा के जरिए फैलता है कोरोना, 'द लांसेट' की रिपोर्ट में मिले पक्के सबूत

हवा के जरिए फैलता है कोरोना, 'द लांसेट' की रिपोर्ट में मिले पक्के सबूत

भारत में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 24 घंटे में दो लाख के पार तक पहुंच चुकी है। ऐसे में मेडिकल जनरल 'द लांसेट' में छपे एक आंकलन में इस बात के ठोस सबूत मिले हैं कि कोरोना वायरस मुख्य रूप से हवा के जरिए फैलता है।

इंग्लैंड, अमेरिका, कनाडा के 6 एक्सपर्ट के मुताबिक जो पब्लिक हेल्थ से जुड़े कदम उठाए जा रहे हैं, उनमें वायरस  को मुख्य रूप से एयरबोर्न की तरह नहीं माना जा रहा है और इसकी वजह से लोग असुरक्षित हैं। वायरस तेजी से फैल सकता है।

जो मिला विशेषज्ञ को
विशेषज्ञों की टीम ने वायरस के हवा से फैलने को लेकर कई सबूत पेश किए हैं। उनकी सबूतों की लिस्ट में टॉप पर स्कैगिट चोइर आउटब्रेक जैसे सुपर स्प्लेंडर इवेंट हैं। इस इवेंट में एक संक्रमित केस से 53 लोग संक्रमित हुए थे। अध्ययन से पुष्टि हुई है कि ऐसे आयोजन का स्पष्टीकरण करीबी संपर्क या सहत या चीजों को छूने से नहीं दिया जा सकता। 

टीम ने जो सबूत दिए
टीम ने उस रिसर्च पर जोर दिया जिसमें अनुमान लगाया गया कि जो लोग खांस और छींक नहीं रहे हैं उनसे साइलेंट ट्रांसमिशन (बिना लक्षण या लक्षण देखने से पहले की स्थिति) में कुल ट्रांसमिशन का 40 फीसदी तक है। आंकलन के मुताबिक दुनिया भर में कोविड संक्रमण फैलने में सबसे बड़ी भूमिका साइलेंट ट्रांसमिशन की है और यह मुख्य रूप से एयरबोर्न ट्रांसमिशन के संकेत देता है।

शोधकर्ताओं ने उन लोगों के बीच वायरस ट्रांसमिशन का भी केस रखा जो होटलों के करीबी कमरों में थे और कभी एक दूसरे के संपर्क में नहीं आए। टीम को इस मामले में कोई सबूत नहीं मिला कि वायरस बड़ी ड्रॉपलेट्स से आसानी से फैल जाता है। जो कि हवा से जल्दी गिर जाती है और लोगों को संक्रमित करती है।

बंद जगह पर ज्यादा संक्रमण
रिसर्च में बताया गया है कि खुली जगहों की बजाय बंद जगहों में संक्रमण ज्यादा तेजी से फैलता है। बंद जगहों को हवादार बनाकर संक्रमण के प्रसार को कम किया जा सकता है। 


गर्मियों में बीमारियों से बचने के लिए ध्यान रखें ये विशेष बातें       राजेश खन्ना के बंगले में जमीन पर बैठते थे डायरेक्टर-प्रोड्यूसर       अथिया शेट्टी ने किया rumoured बॉयफ्रेंड KL Rahul को बर्थडे विश       रिजिजू ने कहा कि टोक्यो ओलंपिक में डबल डिजिट में पदक आने की उम्मीद       कुम्भ मेले से लौटने वाले लोग बढ़ा सकते हैं कोरोना महामारी को : संजय राउत       अखिलेश ने कहा कि लखनऊ कैंसर इंस्टीट्यूट को कोरोना मरीजों के लिए खोले योगी सरकार       राज ठाकरे ने कहा कि प्रवासी मजदूर हैं महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के तेजी से फैलने के लिए जिम्मेदार       योगी सरकार के मंत्री ने ही लखनऊ में कोरोना हालात पर उठाए सवाल, CM पृथक-वास में       किसी वर्ग का नहीं, सबका होता है मुख्यमंत्री: योगी आदित्यनाथ       यूपी में कोरोना का कहर, योगी सरकार ने उठाए ऐहतियाती कदम       रमजान समेत अन्य त्योहारों को लेकर बोले सीएम योगी       उत्तरप्रदेश में टूटा Corona का कहर, एक दिन में मिला इतने नए केस       दिल्ली के बाद UP में भी लगा Lockdown, बंद रहेंगे सभी बाजार और दफ्तर       High Level मीटिंग के दौरान Nude दिखे कनाडा के सांसद       हवा के जरिए फैलता है कोरोना, 'द लांसेट' की रिपोर्ट में मिले पक्के सबूत       कोरोना वायरस रोधी टीके है कम असरदार, चीन के अधिकारी का दावा       रेप की घटनाओं पर इमरान खान का बेतुका बयान, कहा...       फ्रांस से तीन और राफेल विमान बिना रुके पहुंचे भारत       हर्षवर्धन ने साधा निशाना, मोदी सरकार को रास नहीं आए मनमोहन के कोरोना पर सुझाव       अभी अभी: मनमोहन सिंह कोरोना वायरस से संक्रमित, एम्स में भर्ती