अंतर्राष्ट्रीय

खूनी संघर्ष!फिलिस्तीनी समूह हमास ने इजरायल पर रॉकेट दागना शुरू

Israel Updates: इजरायल से लौटने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन को 9/11 याद आ गया उन्होंने इजरायल को ‘गुस्सा’ नहीं करने की राय दी है साथ ही उन्होंने कहा कि अमेरिका ने भी ‘गलतियां’ की थीं बाइडेन लगातार हमास के विरुद्ध लड़ रहे इजरायल के लिए सहायता जुटाने की अपील की है अमेरिकी राष्ट्रपति के बाद ब्रिटेन के पीएम ऋषि सुनक भी ऑयल अवीव पहुंचे थे

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बाइडेन ने कहा, ‘जब मैं कल इजरायल में था, तो मैंने बोला अमेरिका ने भी 9/11 के बुरे दौर का सामना किया है हम भी बहुत गुस्से में थे जब हम इन्साफ पाने के लिए निकले और इन्साफ पाने के दौरान कई गलतियां की ऐसे में मैंने इजरायल गवर्नमेंट को गुस्से में अंधे नहीं होने की राय दी है

9 सितंबर 2001 में एयरलाइन्स हाइजैक करने और कई आत्मघाती हमलों की श्रृंखला के जरिए आतंकी संगठन अल-कायदा ने अमेरिका को निशाना बनाया था इस दौरान संगठन का प्रमुख ओसामा-बिन-लादेन था पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के शासन में नेवी सील की टीम ने मई 2011 में पाक के लादेन का पता लगाकर उसे ढेर कर दिया था

इजरायल से लौटने के बाद बाइडेन ने अमेरिका की जनता को संबोधित किया था उन्होंने अमेरिका के साझेदारों और अमेरिकी मूल्यों की बात कही बाइडेन का बोलना था कि यदि ‘हम इजरायल से मुंह मोड़ लेंगे’ तो ये सबकुछ खतरे में आ जाएगा इससे पहले भी अमेरिका इजरायल को हमास के विरुद्ध जंग में कई आधुनिक हथियार और सेना उपकरण उपलब्ध करा चुका है

बाइडेन ने बोला है कि इजराइल और यूक्रेन का अपने-अपने युद्धों में विजयी होना ‘अमेरिकी की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए अहम’ है बाइडेन ने गुरुवार रात अमेरिका के राष्ट्रपति के औपचारिक कार्यस्थल ‘ओवल कार्यालय’ से राष्ट्र के नाम संबोधन के दौरान दोनों राष्ट्रों को दी जा रही अमेरिकी सहायता को सही ठहराया

खूनी संघर्ष
7 अक्टूबर को फिलिस्तीनी समूह हमास ने इजरायल पर रॉकेट दागना प्रारम्भ कर दिए थे इसके बाद दोनों पक्षों के बीच लगातार संघर्ष जारी है आंकड़े बता रहे हैं कि जारी जंग में 3 हजार 859 लोगों की मृत्यु हो चुकी है इनमें जान गंवाने वालों में कम से कम 1400 इजरायली नागरिक हैं समाचार है कि गाजा में बड़ी संख्या में लोगों को बंधक भी बना रखा है

Related Articles

Back to top button