कोरोना वायरस रोधी टीके है कम असरदार, चीन के अधिकारी का दावा

कोरोना वायरस रोधी टीके है कम असरदार, चीन के अधिकारी का दावा

चीन (China) के शीर्ष रोग नियंत्रण अधिकारी ने कहा है कि देश के कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण रोधी टीके कम असरदार हैं और सरकार इन्हें और अधिक प्रभावी बनाने पर विचार कर रही है। चीन के रोग नियंत्रण केन्द्र (CDC) के निदेशक गाओ फू ने शनिवार को चेंगदू शहर में एक संगोष्ठी में कहा कि चीन के टीकों में ‘‘बचाव दर बहुत ज्यादा नहीं है। गाओ का यह बयान ऐसे वक्त में सामने आया है जब चीन ने अन्य देशों को टीकों की करोड़ों खुराकें दी हैं और पश्चिमी देशों के टीकों के प्रभावी होने पर संशय पैदा करने और बढ़ावा देने की भी वह लगातार कोशिश कर रहा है।  उन्होंने कहा, अब इस बात पर गंभीरता से विचार हो रहा है कि क्या हमें टीकाकरण प्रक्रिया के लिए अलग-अलग टीकों का इस्तेमाल करना चाहिए।    

एमआरएनए-आधारित टीकों पर काम जारी
अधिकारियों ने रविवार को संवाददाता सम्मेलन में गाओ की टिप्पणी या आधिकारिक योजनाओं में संभावित परिवर्तनों को लेकर सवालों के सीधे जवाब नहीं दिए, लेकिन सीडीसी के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि एमआरएनए-आधारित टीकों पर काम किया जा रहा है। अधिकारी वांग हुआंग ने कहा, हमारे देश में विकसित एमआरएनए-आधारित टीके भी क्लीनिकल परीक्षण चरण में प्रवेश कर चुके हैं। विदेश मंत्रालय के अनुसार, दवा निर्माता कंपनियों सिनोवैक और सिनोफार्म द्वारा बनाए गए टीके मेक्सिको, तुर्की, इंडोनेशिया, हंगरी, ब्राजील और तुर्की सहित कई देशों को वितरित किए गए हैं।

अमेरिका, पश्चिमी यूरोप और जापान को चीनी टीके बेचे जाने की संभावना नहीं
ब्राजील के शोधकर्ताओं ने चीन की टीका निर्माता कंपनी सिनोवैक के संक्रमण रोधी टीकों के असरदार होने की दर लक्षण वाले संक्रमण से बचाव में 50.4 प्रतिशत पाई। वहीं, इसके मुकाबले फाइजर द्वारा बनाए गए टीके 97 प्रतिशत असरदार पाए गए। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि अनुमोदन प्रक्रिया की जटिलता के कारण अमेरिका, पश्चिमी यूरोप और जापान को चीनी टीके बेचे जाने की संभावना नहीं है।   

पश्चिम देशों के टीका निर्माता
चीन ने अपने देश में किसी अन्य देश के टीके के इस्तेमाल को अभी मंजूरी नहीं दी है। गाओ ने टीके के संबंध में रणनीति पर किसी तरह के बदलाव के ब्योरे तो नहीं दिए लेकिन उन्होंने एमआरएनए का जिक्र किया। यह प्रयोग की एक तकनीक है, जिसका इस्तेमाल पश्चिम देशों के टीका निर्माता करते हैं, वहीं चीन के दवा निर्माता पारंपरिक तकनीक का इस्तेमाल करते हैं।

उन्होंने कहा, प्रत्येक व्यक्ति को उन लाभ के बारे में विचार करना चाहिए, जो एमआरएनए टीके मानव जाति को पहुंचा सकते हैं। हमें सावधानी से उसका अनुसरण करना चाहिए और केवल इसलिए उसकी अनदेखी नहीं करनी चाहिए कि हमारे पास पहले से ही अनेक प्रकार के टीके हैं।


साइबर हमले के बाद अमरीकी फ्यूल पाइपलाइन जल्द हो सकती है शुरू

साइबर हमले के बाद अमरीकी फ्यूल पाइपलाइन जल्द हो सकती है शुरू

वॉशिंगटन: एक अमेरिकी ईंधन पाइपलाइन के ऑपरेटर ने बोला कि हमारा लक्ष्य इस हफ्ते के अंत तक परिचालन सेवाओं को रीस्टोर करना है, क्योंकि एक साइबर सुरक्षा हमले के कारण उन्हें अस्थाई रूप से रोक दिया गया था. इस बयान के बाद से इंटरनेशनल बाजार मं क्रूड ऑयल की मूल्य में कमी देखने को मिल रही है. दो दिनों में 2 US डॉलर की गिरावट देखने को मिल चुकी है.

फेजवाइज हो रहा है काम
विदेशी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक देश के पूर्वी और दक्षिण पूर्व हिस्सों में गैसोलीन और डीजल ईंधन ले जाने वाली पाइपलाइन के ऑपरेटर कोलोनियल पाइपलाइन कंपनी ने सोमवार को बोला कि सेवा में वापसी की सुविधा के लिए चरणबद्ध ढंग से कार्य किया जा रहा है. कंपनी ने एक बयान में बोला कि यह योजना हमारे परिचालन निर्णयों को चलाने वाले सुरक्षा और अनुपालन के साथ कई कारकों पर आधारित है और हफ्ते के अंत तक परिचालन सेवा को बहुत ज्यादा हद तक बहाल करने का लक्ष्य है.

7 मई को हुआ था साइबर अटैक
कंपनी ने बोला कि हालांकि इसकी मुख्य लाइनें बंद रहेंगे, पाइपलाइन के कुछ हिस्से बहाली की प्रक्रिया में हैं. बयान में बोला गया है कि प्रासंगिक संघीय नियमों के अनुपालन और ऊर्जा विभाग के साथ निकट परामर्श में हमारी पाइपलाइन के सेगमेंट को एक स्टेप वाइज फैशन में औनलाइन वापस लाया जा रहा है. 7 मई को रैंसमवेयर से जुड़े साइबर अटैक के हमले के बाद औपनिवेशिक पाइपलाइन कंपनी ने अस्थायी रूप से सभी पाइपलाइन परिचालन को रोक दिया था.

100 मिलियन गैलन से अधिक ईंधन का प्रोडक्शन
शटडाउन के बाद, परिवहन विभाग ने क्षेत्रीय वाहक घोषित किया, मोटर वाहक और ड्राइवरों के लिए प्रतिबंध हटाए गए जो परिष्कृत पेट्रोलियम उत्पादों की कमी से जूझ रहे क्षेत्रों को सहायता प्रदान कर रहे हैं. औपनिवेशिक पाइपलाइन अमेरिका का सबसे बड़ा परिष्कृत उत्पाद पाइपलाइन है, जो पूर्वी तट पर रोजाना 100 मिलियन गैलन से अधिक ईंधन का परिवहन करता है.


साइबर हमले के बाद अमरीकी फ्यूल पाइपलाइन जल्द हो सकती है शुरू       अमेरिका में 12 से 15 वर्ष तक के बच्चों को लगेगी वैक्सीन       भारत में Covid-19 की दूसरी लहर में हो रही मौतों से विश्व स्वास्थ्य संगठन चिंतित, कहा...       कोरोना वैक्सीन की पहली डोज के बाद हो जाए कोविड-19 तो डरे नहीं       बीते 24 घंटे में 3.29 लाख नए केस आए, 3876 मरीजों ने गंवाई जान       योगी सरकार के कोविड प्रबंधन का कायल हुआ डब्‍ल्‍यूएचओ       देश में अब तक 17.27 करोड़ से अधिक लोगों को लगी वैक्सीन       अफगानिस्तान में भारतीय राजनयिक विनेश कालरा का मृत्यु       जेपी नड्डा ने सोनिया गांधी को लिखी पांच पन्नों की चिट्ठी, कहा...       कोविड-19 मुद्दे में केन्द्र सरकार ने उच्चतम न्यायालय को दी अति उत्साह में निर्णय ना लेने की सलाह, कहा...       Ghazipur में गंगा नदी में दर्जनों लाशें दिखने से मचा हड़कंप       राहुल का प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी पर जोरदार हमला, कहा...       नगालैंड और तेलंगाना सरकार ने लिया संपूर्ण लॉकडाउन का फैसला!       सना मकबूल ने मनोकिनी में शेयर की कातिलाना फोटोज, तस्वीरों ने लूटा फैंस का दिल       शेफाली जरीवाला ने ट्रांसपेरेंट टॉप में दिखाईं ग्लैमरस अदाएं, देखें फोटोज       ये है दुनिया का सबसे अनोखा रेस्टोरेंट, हवा में ले सकते हैं खाना खाने का आनंद       अपने चेहरे को चमकदार और खूबसूरत बनाये रखने के लिए अपनाएं ये देसी तरीके       लम्बे समय तक ब्यूटीफुल और यंग दिखने के लिए फॉलो करें ये टिप्स       आखिर महिलाएं रोमांस के लिए क्यों करती है सर्दियों का इंतजार       अलाना पांडे के बोल्ड बिकिनी अवतार ने गर्माया इंस्टा का माहौल