नीदरलैंड में 17.1 फीसद पहुंची महंगाई दर

नीदरलैंड में 17.1 फीसद पहुंची महंगाई दर

Inflation in Italy & Netherlands:इन दिनों एशिया और यूरोप समेत पश्चिमी राष्ट्र तक महंगाई की मार झेल रहे हैं. इसी कड़ी में इटली और नीदरलैंड भी हैं, जहां महंगाई चरम पर है. इटली में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक ने 2021 में इसी महीने की तुलना में सितंबर में 8.9 प्रतिशत की वृद्धि के साथ एक नया रिकॉर्ड बनाया, जो यूरो मुद्रा के निर्माण के बाद से साल-दर-साल सबसे बड़ी वृद्धि दर्ज की गई है.

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार  अगस्त 2021 और इस वर्ष अगस्त के बीच यानी पूरे एक वर्ष में कीमतों में 8.4 फीसदी की वृद्धि हुई है. अब तक इटली की महंगाई रेट में साल-दर-साल चार सबसे बड़ी वृद्धि पिछले चार महीनों में दर्ज की गई है.  इटली के राष्ट्रीय सांख्यिकी संस्थान (आईएसटीएटी) के मुताबिक वर्ष के पहले नौ महीनों में राष्ट्र की महंगाई रेट एक वर्ष पहले की समान अवधि की तुलना में 7.1 फीसदी अधिक थी. कीमतों के अधिक बढ़ने के पीछे का मुख्य कारक प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष ऊर्जा-संबंधी लागत हैं.

खाद्य वस्तुओं में 11.5 फीसद की बढ़ोत्तरी

 ऊर्जा वस्तुओं की कीमतें एक वर्ष पहले की समान अवधि की तुलना में सितंबर में 44.5 फीसदी अधिक थीं. उच्च ऊर्जा लागत का असर परिवहन सेवाओं समेत अन्य क्षेत्रों में भी महसूस किया गया, जिसमें पिछले साल की तुलना में 7.2 फीसदी की वृद्धि देखी गई. सितंबर में खत्म होने वाले 12 महीनों में खाद्य पदार्थो में भी 11.5 फीसदी की वृद्धि देखी गई और वस्तुओं की कीमतों में 11.7 फीसदी की वृद्धि हुई.

नीदरलैंड में 17.1 फीसद पहुंची महंगाई दर
नीदरलैंड में सितंबर में महंगाई रेट रिकॉर्ड ऊंचाई के साथ 17.1 प्रतिशत पर पहुंच गई है, जो डच गवर्नमेंट के लिए एक झटका है. समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने शुक्रवार को क्षेत्रीय मीडिया से वित्त मंत्री सिग्रिड काग के हवाले से कहा, “यह भयानक है, यह वास्तव में बहुत अधिक है. यूरोपियन हार्मोनाइज्ड इंडेक्स ऑफ कंज्यूमर प्राइस (एचआइसीपी) द्वारा मापी गई और डच सेंट्रल ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्टिक्स (सीबीएस) द्वारा रिपोर्ट की गई रिकॉर्ड उच्च सालाना रेट अगस्त के 13.7 फीसदी की रेट से ऊंचाई पर है, जो पहले से ही एक रिकॉर्ड था.

इस सहायता से क्या रुक सकेगी महंगाई
सीबीएस के मुताबिक ऊर्जा की बढ़ती कीमतों ने मुद्रास्फीति में जरूरी सहयोग दिया है. 17.1 फीसदी एचआइसीपी आंकड़ा अभी भी अपूर्ण साधन डेटा पर आधारित पहला अनुमान है. नियमित डच उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआइ) के अनुसार, मुद्रास्फीति सहित नियमित आंकड़े 6 अक्टूबर को प्रकाशित किए जाएंगे. काग ने बोला कि डच गवर्नमेंट ने पहले ही अधिकतर घरों के लिए क्रयशक्ति को संरक्षित करने के लिए 17 अरब यूरो (16 अरब डॉलर) के तरीकों का एक पैकेज पेश किया था और वे अभी भी ऊर्जा मूल्य कैप पर काम कर रहे हैं.

खर्च पर करें नियंत्रण
नीदरलैंड के लोगों को राय दी गई है कि सावधान रहना होगा कि हम अभी सारा पैसा खर्च न करें अन्यथा मंदी की स्थिति में हमारे पास कुछ नहीं बचेगा.अधिक हस्तक्षेप वास्तव में मुद्रास्फीति को बढ़ावा दे सकता है. यह एक संतुलनकारी कार्य है, जो कई राष्ट्रों में किया जा रहा है. इसलिए लोगं को अभी से इसके प्रति सतर्क रहना चाहिए. खर्च पर जितना हो सके नियंत्रण पाने की प्रयास करें.