CAA हिंसा पर सोनिया गाँधी ने पहली बार तोड़ी चुप्पी       आज इन जगहों पर होगा भारी ट्रैफिक, ट्रंप का दिल्ली दौरा       दिल्ली हिंसा पर गृह मंत्रालय की बड़ी मीटिंग ख़त्म, अमित शाह बोले...       दिल्ली में कुछ उपद्रवी तत्व भड़का रहे हिंसा : किशन रेड्डी       सांस्कृतिक प्रोग्राम से भटकी मेलानिया ट्रंप की नजरे       राजीव शुक्ला ने गौतम गंभीर को लेकर बड़ा बयान       इल्तिजा मुफ़्ती का तंज, कहा- दिल्ली जल रही, लेकिन...       इन ​अधिकारियों पर मुकदमा हुआ दर्ज, भ्रष्टाचार के विरूद्ध मुख्यमंत्री योगी का जीरो टालरेंस       भीमा कोरेगांव मुद्दे में शरद पवार से की जाएगी पूछताछ       दिल्ली हिंसा पर मनोज तिवारी ने कहा कि भड़काने वालों को चिन्हित किया जाए       दिग्विजय मुझसे अभिव्यक्ति का अधिकार नहीं छीन सकते : भाजपा प्रवक्ता कोठारी       कपिल मिश्रा ने कहा कि ओवैसी मुझे गाली दे रहा है, क्योंकि मैंने आतंक के विरूद्ध बोलने का साहस किया       बिहार विधानसभा में CAA-NRC पर हंगामा, मुख्यमंत्री नितीश बोले...       सीएस प्रोफेशनल व एग्जीक्यूटिव के परिणाम घोषित, यहां देखें रिजल्ट       495 पदों के लिए निकली भर्ती, सैलेरी 1.77 लाख रुपए       कर्मचारी चयन आयोग के 1355 पदों पर भर्ती, जल्द से जल्द करें आवेदन       ऐसे करें इम्तिहान की तैयारी, गारंटेड होगा सिलेक्शन       उपनिरीक्षक, हेड कांस्टेबल पदों के लिए निकली भर्ती, फटाफट करें अप्लाई       इस दिन जारी होंगे राजस्थान बोर्ड 10वीं के एडमिट कार्ड       लाइब्रेरियन समेत कई भर्ती इम्तिहान की तिथि जारी      

ब्रिटेन के इस मंत्री ने बाइबल नहीं भगवत गीता की ली शपथ, गर्व से कहा...

ब्रिटेन के इस मंत्री ने बाइबल नहीं भगवत गीता की ली शपथ, गर्व से कहा...

भारतीय संस्कृति इतना प्रभावी है कि देश से जाने के बाद भी कोई इंसान इससे अलग नहीं रह सकता। इसी की एक मिसाल छोड़ रहा है ब्रिटेन का एक राजनेता। इस नेता ने एक इसाई देश में रहते हुए भी हिंदुस्तान का मान हमेशा बढ़ाया है। ये राजनेता जब भी सांसद बनता है सिर्फ हिंदूओ के पवित्र ग्रंथ भगवत गीता के उपर हाथ रखकर ही शपथ ग्रहण करता है। इस नेता का नाम है ऋषि सुनक। इंफोसिस (Infosys) के फाउंडर नारायण मूर्ति के दामाद ऋषि सुनक को हाल ही में ब्रिटेन का वित्त मंत्री बनाया गया है।

अंग्रेज के विरोध का देते हैं ऐसे जवाब
ऋषि सुनक द्वारा हर बार भगवत गीता पर हाथ रख कर शपथ लेने पर कई ब्रिटेन नागरिक विरोध करते रहे हैं। इस मामले में जब एक ब्रिटिश अखबार ने सवाल पूछा तो ऋषि सुनक ने बड़े ही बेबाकी व गर्व से बोला कि मैं अब ब्रिटेन का नागरिक जरूर हूं। लेकिन मेरा धर्म हिंदू है। मेरी धार्मिक व सांस्कृतिक विरासत भारतीय है। मैं गर्व से कहता हूं कि मैं हिंदू हूं व मेरी पहचान भी हिंदू ही है।

पिछले दशक भर से डंका बजा रहा है ये हिंदू सांसद
बताते चले ऋषि सुनाक पिछले दशक भर से ब्रिटेन की पॉलिटिक्स में सक्रिय हैं। वर्ष 2017 में सुनाक दूसरी बार सांसद बने थे। 39 वर्ष के ऋषि सुनक वित्‍त मंत्री के रूप में पीएम के बाद सरकार में दूसरे सबसे अहम पद को धारण करने जा रहे हैं। वित्‍त मंत्री के रूप में उनका नया पता नंबर 11, डाउनिंग स्‍ट्रीट होगा, जोकि पीएम कार्यालय यानी 10, डाउनिंग स्‍ट्रीट के बगल में है। सुनक, यॉर्कशायर में रिचमंड से सांसद हैं। 2015 में पहली बार ब्रिटिश संसद पहुंचे सुनक ने नारायण मूर्ति की बेटी अक्षता से शादी किया है। उनको सत्‍ताधारी कंजरवेटिव पार्टी में उभरता हुआ सितारा माना जा रहा है व यूरोपीय संघ से अलग होने के बड़े पैरोकारों में शुमार रहे हैं। वह ब्रेक्जिट के मसले पर जॉनसन के प्रमुख रणनीतिकारों में रहे हैं।


शत्रुघ्न सिन्हा ने PAK राष्ट्रपति आरिफ अल्वी से की मुलाकात, कहा...

शत्रुघ्न सिन्हा ने PAK राष्ट्रपति आरिफ अल्वी से की मुलाकात, कहा...

नई दिल्ली/इस्लामाबाद: पाक ( Pakistan ) के साथ तल्ख रिश्तों के बीच कांग्रेसी नेता शत्रुघ्न सिन्हा ( Congress leader Shatrughan Sinha ) के पाक यात्रा पर सियासी संग्राम प्रारम्भ हो गया है. हालांकि शत्रुघ्न सिन्हा ने इस पाक दौरे को व्यक्तिगत बताया है.

अपने पाक यात्रा पर शत्रुघ्न सिन्हा ने राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ( President Arif Alvi ) से मुलाकात की. इस बीच कई मुद्दों पर चर्चा भी की. इसको लेकर उठते सवालों के बीच एक बयान जारी करते हुए उन्होंने बोला कि अल्वी के साथ उनकी एक व्यक्तिगत मुलाकात थी. हम दोनों के बीच किसी भी तरह से कोई सियासी चर्चा नहीं हुई.

बता दें कि दो दिन के लिए पाक गए शत्रुघ्न सिन्हा को लाहौर में एक विवाह समारोह में शामिल देखकर सवाल उठने प्रारम्भ हो गए. हालांकि शादी समारोह में उपस्थित लोग उस वक्त दंग रह गए जब सभी ने अपने बीच शत्रुघ्न सिन्हा को देखा.

सोशल मीडिया पर छाई शत्रुघ्न के पाकिस्तान यात्रा की तस्वीर

शत्रुघ्न सिन्हा ने बोला कि वे अपने दोस्तों, शुभचिंतकों, समर्थकों व मीडिया से बोलना चाहते हैं कि एक आदमी को विदेशी जमीन पर राजनीत अथवा नीतिगत मुद्दों पर तब तक चर्चा नहीं करनी चाहिए जब तक उसे इस कार्य के लिए सरकार से अधिकृत नहीं किया गया हो. वे पर्सनल तौर पर अपने मित्र के बेटे की विवाह में शामिल होने गए थे.

आपको बता दें कि जब ये फोटोज़ सामने आई कि शत्रुघ्न सिन्हा पाक गए हैं, तो देखते ही देखते सोशल मीडिया पर फोटोज़ छा गई. सियासी गलियों में चर्चाएं प्रारम्भ हो गई. विवाह समारोह में शत्रुघ्न सिन्हा पाकिस्तानी एक्ट्रेस रीमा खान के साथ दिखे. दोनों की ये फोटोज़ भी मीडिया में छाई रही.

मालूम हो कि शत्रुघ्न सिन्हा इससे पहले भी राष्ट्रपति आरिफ अल्वी के पारिवारिक प्रोग्राम में शामिल हो चुके हैं.

गौरतलब है कि इससे पहले जब कांग्रेस पार्टी नेता नवजोत सिंह सिद्धू इमरान खान के शपथग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए पाक पहुंचे थे, तो इसको लेकर भी बहुत ज्यादा टकराव हुआ था. उस समय सिद्धू ने बोला था कि वे अपने दोस्त इमरान खान से मिलने गए हैं.

Loading...