कुलपति अजीत कुमार सिन्हा विद्यार्थी भलाई को लेकर हैं गंभीर

कुलपति अजीत कुमार सिन्हा विद्यार्थी भलाई को लेकर  हैं गंभीर

रांची यूनिवर्सिटी के नवनियुक्त कुलपति अजीत कुमार सिन्हा विद्यार्थी भलाई को लेकर गंभीर हैं. यूनिवर्सिटी की छोटी सी छोटी परेशानी का निवारण करने को लेकर काम प्रारम्भ कर दिया है. उन्होंने बोला कि मैं शिक्षा के वर्तमान ढंग के संदर्भ में परिवर्तनकारी कदम उठाऊंगा सभी के साथ मिलना-जुलना लगा है यूनिवर्सिटी को बेहतर बनाने की कार्य योजना तैयार की जा रही है. बता दें कि दो दिन पहले ही वह कुलपति के पद पर नियुक्‍त हुये हैं.

कुलपति से Lagatar.in के संवाददाता ने की बातचीत 

सवाल : आपकी नियुक्ति Covid-19 काल के बाद हुई है आपको किन-किन चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है?

डॉ अजीत कुमार सिन्हा ने बोला कि ये सच है कि मेरी नियुक्ति कोविड के बाद हुई है और यह चुनौती भरा है मैं विद्यार्थियों के लिए हूं हर काम विद्यार्थी भलाई में करूंगा यूनिवर्सिटी की स्थितियों के अनूकुल काम करूंगा नयी शिक्षा नीति 2020 की आरंभ करूंगा, इसके साथ ही मैं शिक्षा के वर्तमान ढंग के संदर्भ में परिवर्तनकारी कदम उठाऊंगा

सवाल :– झारखंड आदिवासी बहुल राज्य है इसके लिए आप क्या कदम उठाएंगे

जवाब :  झारखंड हिंदुस्तान का एक आकांक्षी राज्य है हमारे पास छोटे पैमाने के मजदूर हैं, जो काम के लिए मुंबई, दिल्ली, कोलकाता जैसे राज्यों में जाते हैं उनको बहुत पैसे भी नहीं मिलते मेरा मानना है कि यदि किसी प्रशिक्षण के माध्यम से स्वरोजगार करने का अवसर दिया जाता है, तो थोड़े पैसों के लिए वो अपने घर नहीं छोड़ेंगे उन्होंने आगे अपनी योजनाओं और अनुभव के बारे में बात की उन्होंने बोला कि केंद्र गवर्नमेंट के लिए काम करते हुए मैंने लगभग 3000 स्त्रियों को आत्मनिर्भर बनाने का काम किया है मैं यह भी समझता हूं कि केंद्र कौशल हिंदुस्तान जैसे कई अवसर प्रदान करता है, जो लोगों को आत्‍मनिर्भर बनने का अवसर प्रदान करता है

सवाल: यूनिवर्सिटी में वाई फाई को लेकर आप क्या कर रहे हैं?

जवाब : पूरे यूनिवर्सिटी कैंपस में वाई फाई के लिए योजना बना लिया गया है बहुत जल्द इस पर काम प्रारम्भ कर दिया जाएगा

सवाल: रांची यूनिवर्सिटी के कैंपस में स्त्री छात्रावास नहीं है, क्या इसे आप बनवाएंगे?

जवाब :  मोरहाबादी वाले कैंपस में स्त्री छात्रवास बनाना संभव नहीं लग रहा है यदि प्रशासनिक भवन वाले कैंपस में बन सकता है, तो मैं बनवाने की प्रयास करूंगा


बागबेड़ा में जिला परिषद-8 जनप्रतिनिधि सम्मान समारोह आयोजित

बागबेड़ा में जिला परिषद-8 जनप्रतिनिधि सम्मान समारोह आयोजित

जमशेदपुर के बागबेड़ा स्थित अनुग्रह नारायण सिंह शिक्षण एवं सेवा संस्थान में जिला परिषद सदस्य कविता परमार द्वारा त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जीते हुए जनप्रतिनिधियों के लिए भव्य जनप्रतिनिधि सम्मान एवं मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया. कार्यक्रम की आरंभ सर्वप्रथम जिला पार्षद डॉ कविता परमार, शिवनाथ मंडी, हेमंत मुंडा, लक्ष्मी मुर्मू, गीतांजलि महतो, कुसुम पूर्ति, हिरण्यमय दास, पंचायत समिति प्रमुख पानी सोरेन, तथा संस्था के महासचिव श्री एस पी सिंह द्वारा दीप प्रज्ज्वलन करके की गई. इसके बाद डॉ कविता परमार ने अपने स्वागत भाषण में जिला पार्षदों के अतिरिक्त अपने आठों पंचायत के मुखिया पंचायत समिति सदस्य उप मुखिया और वार्ड सदस्यों का पंचायत चुनाव में निर्वाचन के लिए शुभकामना देते हुए हार्दिक स्वागत किया. 

न्होंने सभी को साथ मिलकर सकारात्मक सोच के साथ क्षेत्र के विकास के लिए एकजुट होने का आह्वान किया. उसके बाद जिला परिषद 8 के सभी पंचायतों ( पश्चिमी बागबेड़ा, उत्तरी बागबेड़ा, मध्य बागबेड़ा, बागबेड़ा कॉलोनी, पूर्वीबागबेड़ा, उत्तर पूर्वी बागबेड़ा, दक्षिणीबागबेड़ा, उत्तरी कीताडीह)के मुखिया पंचायत समिति सदस्य उप मुखिया और सभी वार्ड सदस्यों को अंग वस्त्र और पुष्पगुच्छ देकर के सम्मानित किया गया. सभी जनप्रतिनिधि सम्मान पाकर प्रफुल्लित थे. संचालन रिंकी सिंह ने किया. धन्यवाद ज्ञापन सी एस पी सिंह ने किया. कार्यक्रम को सफल बनाने में मुन्ना सिंह, पंकज सिंह, विपिन तिवारी, रितेश गुप्ता, धर्मेंद्र साहू ,जगदीश प्रसाद ,रामचंद्र सिंह ,राम सिंह श्री ,राम सिंह ,विनोद सिंह प्रतिमामुंडा,राहुल प्रजापति, विनोद कुमार, राजा वर्मा, संजय झा ,संजय सिंह, विजय सिंह ,अभिजीत कुमार, अभिषेक कुमार का बहुमूल्य सहयोग रहा