मनरेगा और माइनिंग लीज मामले में 30 जून को होगी अगली सुनवाई

मनरेगा और माइनिंग लीज मामले में 30 जून को होगी अगली सुनवाई

उच्च न्यायालय ने गुरुवार को बोला कि शेल कंपनी, मनरेगा और माइनिंग लीज मुद्दे में पंजीकृत जनहित याचिकाओं की सुनवाई तबतक चलती रहेगी जबतक इस सम्बन्ध में उच्चतम न्यायालय से कोई स्टे आर्डर नहीं आ जाता है. चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन और जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की खंडपीठ में इस मुद्दे की सुनवाई हुई. न्यायालय ने इस मुद्दे की अगली सुनवाई की तारीख 30 जून तय की है.

राज्य गवर्नमेंट की तरफ से इस मुद्दे में कपिल सिब्बल ने पक्ष रखा. वहीं सुनवाई के दौरान यह बात सामने आई की अबतक मुख्यमंत्री की तरफ से पक्ष रख रहे अधिवक्ता अमृतांश वत्स ने वकालतनामा ही नहीं जमा किया है. इसपर न्यायालय ने उन्हें आज और कल के बीच में संबंधित वकालतनामा जमा करने का भी निर्देश दिया.

वहीं में सोरेन की तरफ उच्चतम न्यायालय में पंजीकृत एसएलपी के सम्बन्ध में न्यायालय ने साफ़ तौर पर बोला कि उच्चतम न्यायालय ने उच्च न्यायालय को याचिका के मेंटेबलटी पर सुनवाई करने का निर्देश दिया था. उसके बाद सोरेन से संबंधित याचिका पर झारखंड उच्च न्यायालय में सुनवाई हुई है. न्यायालय ने बोला जबतक इस मुद्दे में कोई स्टे आर्डर नहीं आ जाता है तबतक सुनवाई चलेगी उच्चतम न्यायालय ने उच्च न्यायालय को याचिका के मेंटेवलटी पर सुनवाई करने का निर्देश दिया था. उसके बाद हेमंत सोरेन से संबंधित याचिका पर झारखंड उच्च न्यायालय में सुनवाई हुई.

दरअसल इस मुद्दे में आईए दाखिल कर सोरेन की तरफ से और समय मांगा गया था. अपने आवेदन में सोरेन की तरफ से बोला गया कि उच्च न्यायालय के आदेश के विरूद्ध उच्चतम न्यायालय में एसएलपी दाखिल की गयी है इसलिए उसका आदेश आने तक अभी सुनवाई तीन सप्ताह तक स्थगित कर दी जाए.

इससे पहले 3 जून को न्यायालय ने उस याचिका को सुनवाई योग्य मानते हुए उसकी विस्तृत सुनवाई के लिए तिथि निर्धारित की. पिछली सुनाई के दौरान गवर्नमेंट की ओर से उनके वकील कपिल सिब्बल के कोविड-19 से संक्रमित होने की दलील देकर सुनवाई टालने का आग्रह किया गया था. जिसके बाद न्यायालय ने सुनाई की तिथि 23 जून निर्धारित की थी.


बागबेड़ा में जिला परिषद-8 जनप्रतिनिधि सम्मान समारोह आयोजित

बागबेड़ा में जिला परिषद-8 जनप्रतिनिधि सम्मान समारोह आयोजित

जमशेदपुर के बागबेड़ा स्थित अनुग्रह नारायण सिंह शिक्षण एवं सेवा संस्थान में जिला परिषद सदस्य कविता परमार द्वारा त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जीते हुए जनप्रतिनिधियों के लिए भव्य जनप्रतिनिधि सम्मान एवं मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया. कार्यक्रम की आरंभ सर्वप्रथम जिला पार्षद डॉ कविता परमार, शिवनाथ मंडी, हेमंत मुंडा, लक्ष्मी मुर्मू, गीतांजलि महतो, कुसुम पूर्ति, हिरण्यमय दास, पंचायत समिति प्रमुख पानी सोरेन, तथा संस्था के महासचिव श्री एस पी सिंह द्वारा दीप प्रज्ज्वलन करके की गई. इसके बाद डॉ कविता परमार ने अपने स्वागत भाषण में जिला पार्षदों के अतिरिक्त अपने आठों पंचायत के मुखिया पंचायत समिति सदस्य उप मुखिया और वार्ड सदस्यों का पंचायत चुनाव में निर्वाचन के लिए शुभकामना देते हुए हार्दिक स्वागत किया. 

न्होंने सभी को साथ मिलकर सकारात्मक सोच के साथ क्षेत्र के विकास के लिए एकजुट होने का आह्वान किया. उसके बाद जिला परिषद 8 के सभी पंचायतों ( पश्चिमी बागबेड़ा, उत्तरी बागबेड़ा, मध्य बागबेड़ा, बागबेड़ा कॉलोनी, पूर्वीबागबेड़ा, उत्तर पूर्वी बागबेड़ा, दक्षिणीबागबेड़ा, उत्तरी कीताडीह)के मुखिया पंचायत समिति सदस्य उप मुखिया और सभी वार्ड सदस्यों को अंग वस्त्र और पुष्पगुच्छ देकर के सम्मानित किया गया. सभी जनप्रतिनिधि सम्मान पाकर प्रफुल्लित थे. संचालन रिंकी सिंह ने किया. धन्यवाद ज्ञापन सी एस पी सिंह ने किया. कार्यक्रम को सफल बनाने में मुन्ना सिंह, पंकज सिंह, विपिन तिवारी, रितेश गुप्ता, धर्मेंद्र साहू ,जगदीश प्रसाद ,रामचंद्र सिंह ,राम सिंह श्री ,राम सिंह ,विनोद सिंह प्रतिमामुंडा,राहुल प्रजापति, विनोद कुमार, राजा वर्मा, संजय झा ,संजय सिंह, विजय सिंह ,अभिजीत कुमार, अभिषेक कुमार का बहुमूल्य सहयोग रहा