पावर कट हुआ तो CM पर भड़की धोनी की पत्नी

पावर कट हुआ तो CM पर भड़की धोनी की पत्नी

 जाने माने प्रसिद्ध क्रिकेटर कप्तान महेंद्र सिंह की बीवी साक्षी धोनी ने झारखंड में बिजली की कमी का मसला एक बार फिर से सोशल मीडिया पर उठाया है. उन्होंने अपनें सोशल मीडिया पर बताया था कि कैसे उनका इलाका बिजली कटौती की परेशानी से जूझ रहा है तथा उन आदमीयों को बिजली नहीं मिल पा रही. अब उन्होंने इसी परेशानी पर करदाता होने के नाते उत्तर माँगा है.

वही अपने ट्विटर पर उन्होंने लिखा, “झारखंड के एक करदाता के तौर पर, मैं सिर्फ यह जानना चाहती हूँ कि झारखंड में इतने सालों से बिजली संकट क्यों है? हम ऊर्जा की बचत करने में अपना भूमिका निभा रहे हैं!” साक्षी के इस ट्वीट के पश्चात् इस परेशानी से जूझने वाले तमाम लोग उन्हें उत्तर देकर स्थितियों के बारे में बताने लगे. आलोक प्रसुन्न जिन्होंने 2021 में कहा था कि हजारीबाग में 15-16 घंटे बिजली नहीं रहती, उन्हीं आलोक ने बोला, "साक्षी मैम ये हाल तब है जब आप प्रदेश की राजधानी राँची में रहती हैं, सोचिए अन्य शहरों की क्या स्थिति हैं. ये प्रत्येक झारखंडी की किस्मत बन गई है. हेमंत सोरेन गवर्नमेंट पहली सभी गवर्नमेंटों से भी घटिया है कि बिजली भी नहीं दे सकती.

बता दें कि ये पहली बार नहीं है कि साक्षी ने प्रदेश में बिजली कटौती का मसला सोशल मीडिया पर उठाया हो. उन्होंने साल 2019 में भी ऐसा ही एक पोस्ट किया था तथा राँची के आदमीयों की आवाज उठाते हुए बोला था, “राँची के लोगों के घर प्रति दिन 4-7 घंटे बिजली जाती है.” उन्होंने 19 सितंबर 2019 को लिखा था कि उनके घर 5 घंटे से बिजली नहीं है जबकि मौसम भी ठीक है तथा कोई त्योहार भी नहीं है. अपने पोस्ट में उन्होंने आशा व्यक्त की थी कि उनकी परेशानी संबंधित अफसरों द्वारा सुनी जाएगी. हालाँकि, उस पोस्ट के 3 साल पश्चात् भी ऐसा लगता है कि झारखंड की स्थिति सुधरी नहीं हैं जो झारखंड के सबसे बड़े करदाताओं में प्रसिद्ध महेंद्र सिंह धोनी के परिवार को भी इसकी कम्पलेन करनी पड़ रही है.


होटल से कूदकर आत्महत्या करने वाले कारोबारी की मौत का खुलासा

होटल से कूदकर आत्महत्या करने वाले कारोबारी की मौत का खुलासा

जमशेदपुर: झारखंड के जमशेदपुर में होटल से कूदकर सुसाइड करने वाले व्यवसायी की मृत्यु का खुलासा WhatsApp वीडियो के माध्यम से हुआ. मरने से पहले व्यवसायी ने एक वीडियो रिकॉर्ड कर अपने ससुराल पक्ष पर प्रताड़ना का आरोप लगाया. दरअसल, बिजनेसमैन राहुल अग्रवाल ने बृहस्पतिवार की शाम बिष्टुपुर के एक होटल की 7वीं  मंजिल से कूदकर जान दे दी थी.

WhatsApp पर उन्होंने अपने भाई को वीडियो भेजा, जिसमें अपनी मृत्यु के कारण जिक्र करते हुए बोला कि वह अपने ससुर, सास, साले और पत्नी की प्रताड़ना से परेशान होकर मृत्यु को गले लगा रहा है. उसका ससुर प्रदीप चूरीवाला शहर का नामी बिल्डर है. मृतक ने वीडियो में अपने भाई को बोला, मरने के बाद उसकी अस्थियों को हरिद्वार में तब तक विसर्जित ना किया जाए जब तक कि प्रदीप का पूरा परिवार बर्बाद ना हो जाए.

वीडियो में मृतक राहुल ने बोला कि उसकी अस्थियों को बैंक के लॉकर में रखा जाए. वह वहीं से सब कुछ देखता रहेगा. प्रदीप की बर्बादी के पश्चात् ही उसकी अस्थियों को हरिद्वार में प्रवाहित किया जाए. इसी के साथ राहुल ने वीडियो में अपनी पत्नी एवं बच्चों का भी जिक्र किया. उसने कहा कि वह अपनी पत्नी और बच्चों से बहुत प्यार करता है. पत्नी इतनी भी बुरी नहीं थी किन्तु उसकी मां ने उसे बुरा बना दिया. वीडियो में राहुल ने आगे कहा कि रूपये के लिए प्रदीप चूरीवाला कुछ भी कर सकता है. किसी रूपये वाले के साथ प्रदीप अपकी बेटी की विवाह करवाना चाहता है, इसलिए मुझे प्रताड़ित कर रहा है. वीडियो में राहुल ने अपने माता-पिता तथा भाई से क्षमा मांगते हुए कहा, मैं नहीं चाहता कि आप लोग मेरे कारण कोर्ट-कचहरी के चक्कर काटें. वही अब पुलिस द्वारा मुद्दे की जाँच की जा रही है.