कोरोना का एक बार फिर बढ़ा प्रकोप, इतने नए मामले

कोरोना का एक बार फिर बढ़ा प्रकोप, इतने नए मामले

भारत में बीते 24 घंटों में कोविड-19 के 3545 नए मामले सामने आए हैं. इसके बाद देश में अब तक संक्रमित हो चुके लोगों की संख्या बढ़कर 4 करोड़ 30 लाख 94 हजार 938 हो गई है. वहीं उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 19,688 रह गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शुक्रवार सुबह आठ बजे दिए गए आंकड़ों से यह जानकारी मिली है.   आंकड़ों के अनुसार, संक्रमण से 27 और लोगों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 5,24,002 हो गई है. वहीं उपचाराधीन मरीजों की संख्या कुल मामलों का 0.05 प्रतिशत है. जबकि राष्ट्रीय स्तर पर ठीक होने वाले संक्रमितों की दर 98.74 प्रतिशत आंकी गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, दैनिक संक्रमण दर 0.76 प्रतिशत, जबकि साप्ताहिक संक्रमण दर 0.79 प्रतिशत है.  

उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 31 की कमी   मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटों में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 31 की कमी दर्ज की गई है. वहीं संक्रमण से उबरे लोगों की संख्या बढ़कर 4,25,51,248 हो गई है, जबकि मृत्यु दर 1.22 प्रतिशत दर्ज की गई है. राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत देशभर में अब तक कोविड-19 रोधी टीकों की 189.81 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं.  

इस साल 26 जनवरी को मामले चार करोड़ के पार हो गए   देश में सात अगस्त 2020 को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त 2020 को 30 लाख और पांच सितंबर 2020 को 40 लाख से अधिक हो गई थी. संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर 2020 को 50 लाख, 28 सितंबर 2020 को 60 लाख, 11 अक्टूबर 2020 को 70 लाख, 29 अक्टूबर 2020 को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए थे. देश में 19 दिसंबर 2020 को ये मामले एक करोड़ से अधिक हो गए थे. पिछले साल चार मई को संक्रमितों की संख्या दो करोड़ और 23 जून 2021 को तीन करोड़ के पार पहुंच गई थी. इस साल 26 जनवरी को मामले चार करोड़ के पार हो गए थे.


खटाई में ना पड़ जाए Twitter डील

खटाई में ना पड़ जाए Twitter डील

 ट्विटर डील को लेकर अभी जंग जारी है. एलन मस्क और पराग अग्रवाल के बीच जुबानी जंग छिड़ी हुई है. टेस्ला के सीईओ एलन मस्क का बोलना है कि वह ट्विटर से डील को तब तक आगे नहीं बढ़ाएंगे जब तक कि कंपनी यह साबित नहीं कर देती कि उसके प्लेटफॉर्म पर 5 प्रतिशत से कम स्पैम एकाउंट हैं. जबकि मस्क ने हाल ही में दावा किया था कि माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर में कम से कम 20 फीसदी स्पैम एकाउंट हैं.

मस्क ने बोला कि जब तक सबूत नहीं मिलता, डील आगे नहीं बढ़ेगी. दरअसल पराग अग्रवाल ने दर्जनभर से अधिक ट्वीट किए थे. इसमें वह समझा रहे थे कि ट्विटर कैसे संभावित स्‍पैम का ‘ह्यूमन रिव्‍यू’ करता है. इन ट्वीट के रिप्लाई में मस्‍क ने केवल ‘पाइल ऑफ पू’ इमोजी ट्वीट किया.  ट्विटर के सीईओ ने सार्वजनिक तौर पर 5 प्रतिशत से कम बॉट्स होने का प्रूफ देने ने इनकार कर दिया. अब यह डील तब तक नहीं होगी, जब तक वह ऐसा प्रूव नहीं कर लेते.

ट्विटर के सीईओ ने दर्जन भर से ज्‍यादा ट्वीट्स में ‘डेटा, फैक्‍ट्स और कॉन्‍टेक्‍स्‍ट’ की सहायता से स्‍पैम के बारे में समझाने की प्रयास की. उन्‍होंने बताया कि कंपनी रोज 5 लाख से ज्‍यादा स्‍पैम अकाउंट्स को सस्‍पेंड करती है. हर सप्ताह करोड़ों अकाउंट्स लॉक किए जाते हैं. उन्‍होंने बोला क‍ि ‘हम स्‍पैम पकड़ने में परफेक्‍ट नहीं हैं.’ अग्रवाल के मुताबिक, पिछले 4 तिमाहियों के इंटरनल रिपोर्ट बताती हैं कि स्‍पैम अकाउंट्स की संख्‍या टोटल यूजरबेस के 5% से ज्‍यादा नहीं थी.

एक्सपर्ट्स का बोलना है कि ये मस्क की चाल हो सकती है कि वह ट्विटर को प्रारम्भ में दिए गए ऑफर से कम कीमत पर खरीद ले. एलन मस्क ने पिछले महीने ट्विटर को 44 अरब $ में खरीदने की पेशकश की थी. जब से मस्क ने ट्विटर को खरीदने की घोषणा की है, टेस्ला के सीईओ द्वारा अपनी हिस्सेदारी का खुलासा करने के बाद से कंपनी के स्टॉक ने अपना सारा प्रोफिट खो दिया है. बता दें कि एलॉन मस्क ने पिछले महीने 44 अरब $ ट्विटर को खरीदने की डील की थी. हालांकि, पिछले सप्ताह उन्होंने प्लेटफॉर्म पर उपस्थित बॉट्स या स्पैम एकाउंट की संख्या की डिटेल्स ना मिलने पर डील को होल्ड कर दिया.