प्रेमलता ने गोबर से बनाए से आभूषण

प्रेमलता ने गोबर से बनाए से आभूषण

 सोने और चांदी के आभूषण तो आपने कई बार देखा और पहना होगा, लेकिन क्या आपने कभी गोबर से बनने वाले आभूषणों के बारे में सोचा है यदि नहीं तो ये समाचार आपके लिए है वैसे तो गाय हमारे लिए काफी उपयोगी मानी जाती है गाय के दूध से बनने वाले कई सारे प्रोडक्ट्स जैसे- दही, घी, मक्खन, पनीर इत्यादी का  उपयोग हम अपने जीवन में करते हैं वहीं गाय के गोबर का हम इंधन के रूप में उपयोग करते हैं  लेकिन क्या गोबर का उपयोग इसके अतिरिक्त किसी अन्य कामों में भी किया जा सकता है? क्या गोबर से आत्मनिर्भर बना जा सकता है? इन बातों पर शायद ही किसी का ध्यान गया हो मगर ऐसी कलाकृति गोबर से अपने जीवन की उपयोगिता को जोड़कर एक स्त्री ने नया कीर्तिमान स्थापित किया है 

दरअसल, मूलरूप से बिहार के समस्तीपुर जिला की रहने वाली स्त्री प्रेमलता ने गाय की उपयोगिता को प्रेरणा मानकर लोगों तक एक संदेश पहुंचाने का काम किया है उन्होंने डेरी प्रोडक्ट से लेकर गोबर तक की उपयोगिता को प्रत्येक व्यक्ति तक पहुंचाने का बीड़ा उठाया है प्रेमलता लगभग 30 सालों से भिन्न-भिन्न राज्यों और छोटे-छोटे गांव, कस्बों में जाकर वहां की स्त्रियों और बेरोजगार लोगों को गोबर की उपयोगिता के बारे में बताती है उस गोबर का इस्तेमाल कर और अपनी कला लोगों को दिखा कर उन्हें आत्म निर्भर होने की ओर प्रेरित भी करती है

गोबर से बनाए 2000 प्रोडक्ट
प्रेमलता ने गोबर से कई सारे चीजों को बनाकर पर्यावरण के दृष्टिकोण से ऑर्गेनिक और हाइजीनिक वस्तुओं को लोगों के घरों तक पहुंचाने और इससे जुड़े लोगों को रोजगार के रूप में भी जोड़कर देखती है उनका बोलना है कि उन्होंने गोबर से अब तक लगभग 2000 आइटम बनाए हैं जिसमें ज्वेलरी से लेकर घर में उपयोग की जाने वाली वस्तुएं, पूजा हवन की आवश्यकता की चीजें धूप, अगरबत्ती, घर में साज-सज्जा के लिए मूर्तियां, गोबर की ईटें, चप्पल ,घड़ियां ,खिलौने, कान की बाली, गले का हार, हाथ के चूड़ी कंगन ,हेयर क्लिप से लेकर कई सारे आइटम शामिल है 

प्रेमलता ने अपनी कला से लोगों का ध्यान अपनी ओर आकृष्ट किया है उन्होंने अब तक कई राज्यों में जाकर स्त्रियों और बेरोजगार लोगों को इसकी फ्री ऑफ कॉस्ट ट्रेनिंग दिया है जिससे जुड़कर कई महिलाएं आत्मनिर्भर भी बन रही है गोबर से बनाए वस्तुओं को बेचकर इसे आमदनी का जरिया भी बनाया जा सकता है प्रेमलता का बोलना है कि जो महिलाएं गोबर से बने प्रोडक्ट को स्वयं सेल ना करके मुझे देती है तो उसे खरीद कर मैं एग्जीबिशन में सेल कर देती हूं जिससे अच्छा खासा फायदा होता है ज्यादातर एग्जिबिशन के दौरान विदेशी सैलानियों को गोबर से बने सामान पसंद आते हैं और इसे खरीद कर वो अपने साथ अपने राष्ट्र लेकर जाते हैं मैं चाहती हूं कि इसका प्रचार प्रसार और जोर से हो ताकि गांव कस्बों में रहने वाली महिलाएं भी इस रोजगार से जुड़ सकें और गाय की उपयोगिता को लोग समझें  कई लोग जब गाय दूध देना बंद कर देती है तो उसकी देखभाल नहीं करते और उसे आवारा छोड़ देते हैं जबकि उसके गोबर के उपयोग से गाय के संरक्षण को और बढ़ावा मिलेगा प्रेमलता इन दिनों झारखंड के बोकारो जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में घूम घूम कर कैंप भी लगाती है और लोग गोबर से बने वस्तुओं की तथा उनकी कला की सराहना भी करते हैं कई क्षेत्रों में सामाजिक और बुद्धिजीवी लोगों ने इसके लिए इन्हें सम्मानित भी किया है


 भारतीय जनता पार्टी सीकर की जिला कार्यसमिति की बैठक

 भारतीय जनता पार्टी सीकर की जिला कार्यसमिति की बैठक

 भारतीय जनता पार्टी सीकर की जिला कार्यसमिति की बैठक खंडेला विधानसभा खंडेलवाल वैश्य तीर्थ धाम में आयोजित हुई जिसमें संगठनात्मक संरचना बूथ कमेठियों, पन्ना प्रमुख का गठन और पीएम के मन की बात पर मंडलवार चर्चा हुई बैठक में बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष चितोड़गढ सांसद सीपी जोशी, प्रदेश मंत्री श्रवण सिंह बगड़ी, बीजेपी जिला प्रभारी दिनेश धाबाई, सांसद सुमेधानन्द सरस्वती, जिला अध्यक्ष  इंदरा चौधरी, पूर्व चिकित्सा राज्य मंत्री बंशीधर बाजिया खंडेला, पूर्व विधायक गोरधन वर्मा, पूर्व विधायक रतनलाल जलधारी, पूर्व विधायक झाबर सिंह खर्रा, किसान मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष हरिराम रणवा, प्रदेश मंत्री मधू कुमावत, पूर्व विधायक केडी बाबर, उप जिला प्रमुख ताराचंद धायल, सहित सभी बीजेपी जिला कार्यकारिणी सदस्य, सभी मंडल अध्यक्ष सहित उपस्थिति रहे मंच का संचालन जिला महामंत्री भंवरलाल वर्मा ने किया 

वक्ताओं ने केन्द्र गवर्नमेंट की योजनाओं का कारगर संबोधन देते हुए राजस्थान की कांग्रेस पार्टी की गहलोत गवर्नमेंट के विरूद्ध जनसमस्याओं पर आक्रोश व्यक्त किया बैठक में राज्य गवर्नमेंट की जनविरोधी नीतियों के विरूद्ध किसान बेकार, मदहोश कांग्रेस पार्टी सरकार, क्रिमिनल बैखोफ बेपरवाह कांग्रेस पार्टी सरकार, संवेदनहीन गवर्नमेंट ठगे गये बेरोजगार, बिजली, पानी और स्वास्थ्य के हाल बेहाल, आतंक, भ्रष्टाचार, उदयपुर की अपराधीक घटनाओं के विरूद्ध सियासी प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित किया गया बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष ने बताया की आनें वाले दिनों में आक्रोश रैली भी आयोजित की जायेगी

भाजपा नेताओं में हुआ जमकर विवाद
 बैठक समाप्त होने के बाद पूर्व विधायक झाबर खर्रा और श्याम चौधरी कब बीच टकराव हो गया श्याम चोधरी ने खर्रा पर पंचायत चुनावों में पार्टी के विरूद्ध काम करने का आरोप लगया जिस पर दोनों के बीच जमकर झगड़ा हुई दोनों के बीच जमकर टकराव हुआ बाद में लोगों ने श्याम चौधरी को अलग करते हुए शांत कराया