सुकन्या समृद्धि योजना वालों के लिए खुशखबरी

सुकन्या समृद्धि योजना वालों के लिए खुशखबरी

 यदि आपने एनएससी (NSC), पीपीएफ(PPF) और सुकन्या समृद्धि योजनाओं( Sukanya Samridhi Yojna) जैसी बचत योजना में निवेश किया है तो आपके लिए अच्छी खबर है 1 जुलाई, 2022 से इन स्कीमों पर जबरदस्त रिटर्न मिलने वाला है दरअसल, 1 जुलाई से केंद्र गवर्नमेंट अपनी पीपीएफ और सुकन्या समृद्धि जैसी बचत योजना पर ब्याज दरों में जबरदस्त वृद्धि कर सकती है

गौरतलब है कि वित्त मंत्रालय हर तिमाही के प्रारम्भ होने से पहले सरकारी बचत योजनाओं के ब्याज दरों की समीक्षा कर उसकी घोषणा करता है ऐसे में यह आशा जताई जा रही है कि 1 जुलाई, 2022 से वित्त मंत्रालय गवर्नमेंट की बचत योजनाओं पर 0.50 से लेकर 0.75 प्रतिशत तक ब्याज दरें बढ़ाने की घोषणा कर सकती है 

बचत योजनाओं पर बढ़ेंगी ब्याज दरें!

दरअसल, भारतीय रिजर्व बैंक ने जबसे रेपो दर में 0.90 प्रतिशत बढाया उसके बाद कई बैंकों ने डिपॉजिट्स पर ब्याज दरों को बढ़ा दिया है ऐसे में आशा जताई जा रही है कि 1 जुलाई से इन सरकारी बचत योजनाओं पर भी ब्याज दरों को बढ़ाया जा सकता इस समय पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (PPF) पर 7.1 प्रतिशत सलाना ब्याज रेट मिलता है, जबकि NSC पर 6.8 प्रतिशत सलाना ब्याज मिल रहा है

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samridhi Yojana) पर अभी 7.6 प्रतिशत और सीनियर सिटीजन टैक्स सेविंग स्कीम ( Senior Citizen Saving Scheme) पर 7.4 प्रतिशत ब्याज मिल रहा है इसके अतिरिक्त किसान विकास पत्र ( Kisan Vikas Patra) पर 6.9 प्रतिशत ब्याज मिल रहा है अब लोगों को आशा है कि गवर्नमेंट जुलाई से इन योजनाओं पर ब्याज बढ़ा सकती है

अप्रैल 2020 से नहीं हुआ बदलाव 

गौरतलब है कि वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही के बाद से छोटी बचत योजनाओं के ब्याज दरों में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है इससे पहले वित्त मंत्रालय ने एक अधिसूचना में कहा, वित्तीय साल 2022-23 की पहली तिमाही के लिए विभिन्न लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दर, 1 अप्रैल, 2022 से प्रारम्भ होकर 30 जून, 2022 को खत्म होने वाली, चौथी तिमाही (जनवरी) के लिए लागू वर्तमान दरों से अपरिवर्तित रहेगी’ आपको बता दें कि छोटी बचत योजनाओं के लिए ब्याज दरें तिमाही आधार पर संशोधित की जाती है 


 भारतीय जनता पार्टी सीकर की जिला कार्यसमिति की बैठक

 भारतीय जनता पार्टी सीकर की जिला कार्यसमिति की बैठक

 भारतीय जनता पार्टी सीकर की जिला कार्यसमिति की बैठक खंडेला विधानसभा खंडेलवाल वैश्य तीर्थ धाम में आयोजित हुई जिसमें संगठनात्मक संरचना बूथ कमेठियों, पन्ना प्रमुख का गठन और पीएम के मन की बात पर मंडलवार चर्चा हुई बैठक में बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष चितोड़गढ सांसद सीपी जोशी, प्रदेश मंत्री श्रवण सिंह बगड़ी, बीजेपी जिला प्रभारी दिनेश धाबाई, सांसद सुमेधानन्द सरस्वती, जिला अध्यक्ष  इंदरा चौधरी, पूर्व चिकित्सा राज्य मंत्री बंशीधर बाजिया खंडेला, पूर्व विधायक गोरधन वर्मा, पूर्व विधायक रतनलाल जलधारी, पूर्व विधायक झाबर सिंह खर्रा, किसान मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष हरिराम रणवा, प्रदेश मंत्री मधू कुमावत, पूर्व विधायक केडी बाबर, उप जिला प्रमुख ताराचंद धायल, सहित सभी बीजेपी जिला कार्यकारिणी सदस्य, सभी मंडल अध्यक्ष सहित उपस्थिति रहे मंच का संचालन जिला महामंत्री भंवरलाल वर्मा ने किया 

वक्ताओं ने केन्द्र गवर्नमेंट की योजनाओं का कारगर संबोधन देते हुए राजस्थान की कांग्रेस पार्टी की गहलोत गवर्नमेंट के विरूद्ध जनसमस्याओं पर आक्रोश व्यक्त किया बैठक में राज्य गवर्नमेंट की जनविरोधी नीतियों के विरूद्ध किसान बेकार, मदहोश कांग्रेस पार्टी सरकार, क्रिमिनल बैखोफ बेपरवाह कांग्रेस पार्टी सरकार, संवेदनहीन गवर्नमेंट ठगे गये बेरोजगार, बिजली, पानी और स्वास्थ्य के हाल बेहाल, आतंक, भ्रष्टाचार, उदयपुर की अपराधीक घटनाओं के विरूद्ध सियासी प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित किया गया बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष ने बताया की आनें वाले दिनों में आक्रोश रैली भी आयोजित की जायेगी

भाजपा नेताओं में हुआ जमकर विवाद
 बैठक समाप्त होने के बाद पूर्व विधायक झाबर खर्रा और श्याम चौधरी कब बीच टकराव हो गया श्याम चोधरी ने खर्रा पर पंचायत चुनावों में पार्टी के विरूद्ध काम करने का आरोप लगया जिस पर दोनों के बीच जमकर झगड़ा हुई दोनों के बीच जमकर टकराव हुआ बाद में लोगों ने श्याम चौधरी को अलग करते हुए शांत कराया