मार्क जुकरबर्ग बने दुनिया में अधिक संपत्ति गंवाने वाले शख्स

मार्क जुकरबर्ग बने दुनिया में अधिक संपत्ति गंवाने वाले शख्स

दुनिया भर में महंगाई के कारण अर्थव्यवस्थाओं पर मंदी का खतरा मंडरा रहा है जिसके कारण शेयर बाजार में गिरावट का दौर जारी है और इसमें आम जनता के साथ-साथ दुनिया के बड़े उद्योगपतियों का तगड़ा हानि हो रहा है. ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स इंडेक्स के मुताबिक, पूरे विश्व के शेयर बाजारों में हो रही गिरावट के कारण इस वर्ष के शुरुआती छह महीनों के दौरान दुनिया के 500 सबसे अमीर व्यक्तियों को 1 ट्रिलियन $ से भी अधिक का हानि हुआ है, इसमें दुनिया के सबसे अमीर आदमी से लेकर एलन मस्क, मार्क जुकरबर्ग लेकर रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी का नाम शामिल हैं.

मार्क जुकरबर्ग को हुआ सबसे अधिक नुकसान: ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक, इस वर्ष दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची में सबसे अधिक हानि फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग को हुआ है. उनकी संपत्ति में 65.9 बिलियन $ की कमी आई है. इस वर्ष के आरंभ में उनकी संपत्ति 126.4 बिलियन $ की समापन थी, जो अब घटकर 59.6 बिलियन $ रह गई है.

जुकरबर्ग के बाद इस वर्ष सबसे अधिक हानि दुनिया के 3 सबसे अमीर लोगों को हुआ है. तीनों की संपत्तियों में करीब 170 बिलियन $ की कमी आई हैं. इस वर्ष के आरंभ में दुनिया के सबसे अमीर शख्स और टेस्ला के मालिक एलन मस्क की संपत्ति 270 बिलियन $ थी, जो अब घटकर 210 बिलियन रह गई है. इसके बाद अमेजन के संस्थापक जेफ बेजोस की संपत्ति जो कि वर्ष की आरंभ में करीब 213 बिलियन $ की थी, अब घटकर 123 बिलियन $ रह गई है. वहीं, फ्रांस की लग्जरी समान बनाने वाली कंपनी एलएमवीएच के मालिक बर्नार्ड अरनॉल्ट की संपत्ति में 2022 की आरंभ से अब तक 50.4 बिलियन $ की कमी आ चुकी है.

मुकेश अंबानी को हुआ नुकसान: अंबानी इस वर्ष उन गिने-चुने अमीर उद्योगपतियों में शामिल थे जिनकी संपत्ति में इस वर्ष गिरावट नहीं हुई थी, लेकिन शेयर बाजार में चल रही मंदी ने उन्हें भी अपनी चपेट में ले लिया है. हालांकि दुनिया के अन्य बड़े उद्योगपतियों के मुकाबले उन्हें काफी कम हानि हुआ है. इस वर्ष मुकेश अंबानी की संपत्ति में करीब 3.66 बिलियन $ घटी है.अडानी नंबर वन: इस वर्ष दुनिया में संपत्ति बढ़ाने के मुद्दे में अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी का नाम सबसे ऊपर है. इस वर्ष उनकी संपत्ति में 22 बिलियन $ का वृद्धि हुआ है जो दुनिया में सबसे अधिक हैं.