ब्यूटी हाइज़ीन के बारे में, जिसकी मदद से रख सकती हैं लंबे समय तक खूबसूरती को बरकरार

ब्यूटी हाइज़ीन के बारे में, जिसकी मदद से रख सकती हैं लंबे समय तक खूबसूरती को बरकरार

ब्यूटी हाइजीन का मतलब एकदम क्लियर है अपने स्किन, हेयर्स, लिप्स के साथ सुंदरता से जुड़े दूसरे बॉडी पॉर्ट्स को भी साफ़ सुथरा रखना जिससे किसी तरह के इंफेक्शन होने का खतरा न हो। इसके साथ ही साथ मेकअप प्रोडक्ट्स और टूल्स को भी क्लीन और हाइजीनिक रखना।

ऐसे बरकरार रखें ब्यूटी हाइजीन

1. अपना ब्यूटी प्रोडक्ट्स किसी के भी साथ शेयर न करें, भले ही कोई आपका कितना ही खास क्यों न हों।

2. चेहरे को बार बार हाथों से ना छुएं।

3. कोरोना से बचाव मात्र के लिए ही नहीं, अच्छी सेहत के लिए भी हाथों को समय-समय पर धोएं। 

4. चेहरे के पिंपल्स से परेशान होकर उन्हें बार बार छूने और फोड़ने की गलती न करें।

5. स्किन के सीधे संपर्क में आने वाली चीज़ों की सफाई के साथ उन्हें डिसइंफ़ेक्ट करना भी बेहद जरूरी है।

6. एक ही फेस नैपकिन के बार-बार इस्तेमाल से बचें।

7. बालों की खूबसूरती और चमक के लिए स्कैल्प को हेल्दी रखना बेहद ज़रूरी है।

8. बहुत ज़्यादा स्टाइलिंग खासतौर से हीटिंग प्रोसेस से बचें।  

9. पसीने से बालों में बदबू की समस्या तो होती ही है साथ ही डैंड्रफ भी।

10. स्कैल्प में बहुत ज्यादा खुजली किसी तरह का इंफेक्शन हो सकती है, इसके लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

11. अगर आपके नाखून लंबे हैं तो उन्हें साफ रखें, क्योंकि लम्बे नाखूनों में मैल और गंदगी जमा होती रहती है जिससे इंफेक्शन का खतरा है। 

मेकअप के दौरान क्या करें और किन चीज़ों को अवॉयड करें

- हफ्ते में दो से तीन बार स्किन को एक्सफोलिएट करें जिससे डेड सेल्स आसानी से निकल जाते हैं और स्किन साफ-सुथरी नजर आती है।

- कच्चा दूध लेकर उसमें थोड़ा सा नमक मिलाकर क्लीनिंग करें। इससे पोर्स आसानी से साफ हो जाते हैं। 

- क्लेंजिंग, टोनिंग और माइश्चराइजिंग, ये स्किन रूटीन डेली फॉलो करें।

- खरीदने से पहले और बाद में भी स्किन और मेकअप प्रोडक्ट्स की एक्सपायरी डेट चेक करती रहें।

- बेहतर होगा लिपस्टिक हमेशा ब्रश से ही अप्लाई करें, ज़्यादातर लोग उंगली या फिर सीधे लिपस्टिक को ही लिप्स पर लगाते हैं लेकिन इससे बैक्टीरिया के पनपने का ख़तरा ज्यादा होता है। 

- लिप ब्रश हो या मेकअप ब्रश सारे मेकअप टूल्स को नियमित रूप से साफ और डिसइंफ़ेक्ट करते रहें।


बच्चों से कराएं कुछ क्रिएटिव, ऐसे सिखाएं ग्रीटिंग कार्ड्स बनाना

बच्चों से कराएं कुछ क्रिएटिव, ऐसे सिखाएं ग्रीटिंग कार्ड्स बनाना

गणतंत्र दिवस  हर साल 26 जनवरी को मनाते है। इसी दिन हमारा देश गणराज्य बना था। इस मौके पर पूरे देश झंडातोलन के साथ झांकियां निकाली जाती है। और हम सब एक दूसरें  के विश करते है। इस बार कोरोना के चलते गणतंत्र दिवस के मौके पर स्कूलों में ज्यादा एक्टिविटीज नहीं होंगी क्योंकि कोरोना का भय अभी गया नहीं है।

ज्यादातर बच्चे घर में रहकर ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं इसलिए बच्चों को इस दिन का महत्व बताने के लिए घर पर ही कुछ क्रिएटिव काम करवा सकते हैं। इस बार रिपब्लिक डे पर बच्चों को घर में क्राफ्ट एक्टिविटीज सिखाएं। इस बार गणतंत्र दिवस पर बच्चों को ग्रीटिंग कार्ड बनाना सिखाएं।और इसे देकर ही विश करने को बोले।

ऐसे बनाए कार्ड
सबसे पहले व्हाइट या ट्राई कलर में से किसी एक रंग की मीडियम आकार की शीट लें और उसे बीच में बराबर फोल्ड कर लें। बाहर हल्की पेटिंग करें और हाथ से गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं लिखें। कलरफुल शीट लें। इसे भी बीच में से फोल्ड करके बराबर आकार दें। अब ट्राई कलर की शीट को लेकर इसे बैलून शेप में काट लें।

पहली फोल्ड की शीट के अंदर देश भक्ति से जुड़ी कुछ पंक्तियां लिखें। अब धागा लेकर कटिंग किए बैलून जोड़ते जाएं। एक साइड पर ऑरेंज या अन्य मैचिंग कलर में एक पैच कटिंग करें जिस पर आप हैप्पी रिपब्लिक डे लिख दें। 

उसके बाद ग्लू की मदद से एक-एक बैलून शीट के बाहरी तरफ ऊपरी तरफ से जोड़ते जाएं और धागा नीचे छोड़ते जाएं। कटिंग किए पैच पर सारे धागे अटैच करें और पेंट को शीट के निचले हिस्से पर सैट करें जैसा तस्वीर में दिखाया गया है। ग्रीटिंग कार्ड तैयार है। इसे आप जानकारों को भेज सकते हैं।

अशोक चक्र बनाकर डेकोरेट करें
रिश्तेदार व दोस्तों को गणतंत्र दिवस के मौके पर घर के बने कार्ड भी भेज सकते हैं। इसके लिए एक व्हाइट सख्त पेपर को बीच में से फोल्ड करें। अब आगे ऊपर और नीचे वाले हिस्से को बराबर से संतरी और हरा कलर से पेंट करें। आप इसके ऊपर डिजाइनिंग पेपर काटकर भी लगा सकते हैं। सेंटर में अशोक च्रक बनाएं। अब इसे अपनी पसंद से डैकोरेट करें।

महत्व को समझाएं

इसके अलावा बच्चों को इतिहास के बारे में भी जानकारी दें। उन्हें बताएं कि 1950 में हमारे देश में सबसे पहला गणतंत्र दिवस मनाया गया था और डॉ. राजेन्द्र प्रसाद पहले राष्ट्रपति के तौर पर चुने गए थे। ऐतिहासित इमारतों के बारे में बताएं और उन्हें म्यूजियम के बारे में भी जानकारी दें।


BJP पर राहुल गांधी का बड़ा हमला - नागपुर का 'निकरवाला' कभी नहीं तय कर सकता किसी राज्य का भविष्य       Cold Wave India : उत्तर और मध्य भारत में अगले तीन से चार दिनों में पड़ेगी कड़ाके की सर्दी       पाकिस्तान के लिए एडा क्लास के 4 युद्धपोत बना रहा तुर्की, जानें भारत के लिए कितना खतरनाक       फ्री में मिलेगा BSNL 4G सिम कार्ड, जानें पाने का तरीका       Kisan Andolan: कांग्रेस की चेतावनी, किसानों की मांग पूरी नहीं हुई तो संसद सत्र होगा हंगामेदार       Honda Grazia का Sports Edition भारत में हुआ लॉन्च, जानें आपके बजट में कितनी है फिट       रात में बच्चे को सोने नहीं देती खांसी तो इन घरेलू उपायों से दिलाएं आराम       UP पुलिस का गब्बर स्टाइल में एक और ट्वीट, पूछा- कितने आदमियों ने ये ट्वीट देखा?       सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं नोनी के पत्‍तों का रस, इन 7 रोगों से दिलाए निजात       बिल्ली और केकड़े का ये वीडियो देख आप हमेशा अपने काम से काम रखोगे!       शशि थरूर कांग्रेस को बता रहे थे मजबूत विपक्ष, बिशन सिंह बेदी की 'गुगली' ने बंद की बोलती!       पॉर्न देखने वालों की मुश्किलें बढ़ीं, पॉप्युलर वेबसाइट का डेटा लीक       Corona Vaccine Update: भारत में 16 लाख से ज्यादा लोगों को कोरोना का टीका, दुनिया के बाकी देश कहां       India China Faceoff: 11 घंटे तक चली 9वें दौर की बातचीत, भारत ने फिर कहा- पीछे तो पूरी तरह ही हटना पड़ेगा       शराब पीने वालों के लिए बुरी खबर, 31 मार्च तक 5 दिन बंद रहेंगी वाइन की दुकानें       आपके मोबाइल में मौजूद है फर्जी ऐप, तो ऐसे करें असली-नकली की पहचान       नेपाल में प्रचंड धड़े ने पीएम केपी शर्मा ओली को पार्टी से निकाला, स्पष्टीकरण नहीं देने पर कार्रवाई       विवादित ढांचे को लेकर प्रकाश जावडेकर बोले, 6 दिसंबर 1992 को ऐतिहासिक गलती को किया गया ठीक       लालू प्रसाद यादव की हालत स्थिर, दिल और किडनी की है गंभीर समस्या       गणतंत्र दिवस परेड खत्म होने के बाद ही ट्रैक्टर पर निकल सकेंगे किसान, चप्पे-चप्पे पर तैनात रहेगी पुलिस