भीष्म द्वादशी, जानें शुभ मुहूर्त और महत्व

भीष्म द्वादशी, जानें शुभ मुहूर्त और महत्व

भीष्म द्वादशी को माघ महीने के शुक्ल पक्ष की द्वादशी को मनाया जाता है। इस दिन भीष्म पितामह की स्मृति में व्रत किया जाता है। इस दिन महाभारत के भीष्म पर्व अध्याय का पाठ किया जाता है। साथ ही इस तिथि को कृष्ण जी की पूजा भी की जाती है। पौराणिक मान्यता के अनुसार, भीष्म पितामह ने भीष्म अष्टमी के दिन यानी माघ माह की अष्टमी तिथि को अपने शरीर का त्याग किया था। लेकिन उनके लिए सभी अनुष्ठानों और धार्मिक गतिविधियों को करने के लिए द्वादशी तिथि का चयन किया गया था। यही कारण है कि उनका निर्वाण दिवस द्वादशी तिथि को मनाई जाती है।

भीष्म द्वादशी का पूजा मुहूर्त:

माघ मास, शुक्ल पक्ष, द्वादशी तिथि, 24 फरवरी, बुधवार

द्वादशी तिथि आरंभ- 23 फरवरी 2021, मंगलवार शाम 6 बजकर 06 मिनट से

द्वादशी तिथि समाप्त- 24 फरवरी 2021, बुधवार शाम 6 बजकर 07 मिनट तक


भीष्म द्वादशी का महत्व:

मान्यता है कि भीष्म द्वादशी के दिन व्रत करने से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। इस दिन ब्राह्मणों को भोजन कराया जाता है। साथ ही उन्हें समार्थ्यनुसार दक्षिणा भी देना चाहिए। इस दिन स्नान-दान करने से व्यक्ति को सुख-सौभाग्य की प्राप्ति होती है। साथ ही धन-संतान की प्राप्ति भी होती है। ध्यान रहे कि ब्रह्माणों को भोजन कराकर ही खुद भोजन करें। इस दिन व्रत करने से व्यक्ति के सभी पापों का नाश हो जाता है। महाभारत में भगवान श्रीकृष्ण ने कहा था कि जो व्यक्ति भीष्म द्वादशी के दिन अपने पितरों के निमित दान करेगा तो उसे सदैव प्रसन्नता ही प्राप्त होगी।


बचे हुए राजमा का लें ज़ायका 'मसाला पूड़ी'

बचे हुए राजमा का लें ज़ायका 'मसाला पूड़ी'

सामग्री :

1 कटोरी बचा राजमा, 2.5 कप आटा, 2 टेबलस्पून ताजा कटा धनिया, 1/2 कप सूजी, 1 टीस्पून कसूरी मेथी, नमक, 1 नींबू का रस, 1 टीस्पून चीनी, जरूरत भर पानी, तेल तलने के लिए, थोड़ा-सा बारीक कटा धनिया

विधि :

एक बोल में राजमा लेकर मैश कर लें। इसमें आटा, नमक, चीनी, धनिया, सूजी, कसूरी मेथी, नींबू का रस, धनिया और एक टेबलस्पून तेल डालें। इसे मिलाएं। अब थोड़े-थोड़े पानी के साथ आटा गूंथें।
आटा गूंथने के बाद इसे ढककर करीब 10 मिनट के लिए अलग रख दें।
अब एक-एक कर पूड़ियां बेलें। कडा़ही में एक-एक डालकर दोनों ओर से पलटते हुए सेंकते जाएं।
एक प्लेटपर एब्जॉर्बेंट पेपर बिछाएं। इस पर पूड़ियां निकालते जाएं।
राजमा मसाला पूड़ी को आप खट्टे-मीठे अचार, तरीदार आलू की सब्जी और चाय के साथ गर्मागर्म सर्व करें।


गर्मियों में बीमारियों से बचने के लिए ध्यान रखें ये विशेष बातें       राजेश खन्ना के बंगले में जमीन पर बैठते थे डायरेक्टर-प्रोड्यूसर       अथिया शेट्टी ने किया rumoured बॉयफ्रेंड KL Rahul को बर्थडे विश       रिजिजू ने कहा कि टोक्यो ओलंपिक में डबल डिजिट में पदक आने की उम्मीद       कुम्भ मेले से लौटने वाले लोग बढ़ा सकते हैं कोरोना महामारी को : संजय राउत       अखिलेश ने कहा कि लखनऊ कैंसर इंस्टीट्यूट को कोरोना मरीजों के लिए खोले योगी सरकार       राज ठाकरे ने कहा कि प्रवासी मजदूर हैं महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के तेजी से फैलने के लिए जिम्मेदार       योगी सरकार के मंत्री ने ही लखनऊ में कोरोना हालात पर उठाए सवाल, CM पृथक-वास में       किसी वर्ग का नहीं, सबका होता है मुख्यमंत्री: योगी आदित्यनाथ       यूपी में कोरोना का कहर, योगी सरकार ने उठाए ऐहतियाती कदम       रमजान समेत अन्य त्योहारों को लेकर बोले सीएम योगी       उत्तरप्रदेश में टूटा Corona का कहर, एक दिन में मिला इतने नए केस       दिल्ली के बाद UP में भी लगा Lockdown, बंद रहेंगे सभी बाजार और दफ्तर       High Level मीटिंग के दौरान Nude दिखे कनाडा के सांसद       हवा के जरिए फैलता है कोरोना, 'द लांसेट' की रिपोर्ट में मिले पक्के सबूत       कोरोना वायरस रोधी टीके है कम असरदार, चीन के अधिकारी का दावा       रेप की घटनाओं पर इमरान खान का बेतुका बयान, कहा...       फ्रांस से तीन और राफेल विमान बिना रुके पहुंचे भारत       हर्षवर्धन ने साधा निशाना, मोदी सरकार को रास नहीं आए मनमोहन के कोरोना पर सुझाव       अभी अभी: मनमोहन सिंह कोरोना वायरस से संक्रमित, एम्स में भर्ती