वायु प्रदूषण से घट रही है लोगों की उम्र, जानें स्टडी की चौंकाने वाली बातें

वायु प्रदूषण से घट रही है लोगों की उम्र, जानें स्टडी की चौंकाने वाली बातें

दुनिया में इस समय वायु प्रदूषण (Air Pollution) एक गंभीर परेशानी बन गया है इसकी वजह से लोगों के स्वास्थ्य पर कई नुकसानदायक असर देखने को मिल रहे हैं हिंदुस्तान के कई इलाकों में वायु प्रदूषण गंभीर स्तर पर रहता है, जो लोगों की जीवन (Life Expectancy) घटा रहा है इसका खुलासा एक हालिया स्टडी में हुआ है आपको जानकर आश्चर्य होगी कि विश्व की बड़ी जनसंख्या असुरक्षित हवा में सांस ले रही है इसकी वजह से उनकी जीवन के कुछ वर्ष कम होते जा रहे हैं

क्या कहती है स्टडी?

यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो के एनर्जी पॉलिसी इंस्टीट्यूट (EPIC) ने हाल ही में एयर क्वालिटी लाइफ इंडेक्स (AQLI) की रिपोर्ट जारी की है इसके अनुसार पूरे विश्व में वायु प्रदूषण की वजह से लोगों की जीवन प्रत्याशा (Life Expectancy) करीब 2 वर्ष से अधिक घट गई है चौंकाने वाली बात यह है कि हिंदुस्तान में 2013 के बाद तेजी से प्रदूषण बढ़ा है और इसकी वजह से यहां के लोगों की जीवन प्रत्याशा करीब 5 वर्ष घट गई है बीते कुछ समय में साउथ एशिया में प्रदूषण का सबसे अधिक घातक असर देखने को मिला है इसके अतिरिक्त साउथ ईस्ट एशिया, सेंट्रल और वेस्ट अफ्रीका, अमेरिका और यूरोप में भी प्रदूषण से लोगों की हेल्थ प्रभावित हो रही है

जानें स्टडी की चौंकाने वाली बातें

इस स्टडी के अनुसार दुनिया की 97 प्रतिशत जनसंख्या ऐसे इलाकों में रह रही है, जहां पर वायु प्रदूषण का स्तर सामान्य से कई गुना अधिक है हवा में उपस्थित PM2.5 के कण फेफड़ों को गंभीर हानि पहुंचाते हैं स्टडी में चेतावनी दी गई है कि वायु प्रदूषण को सार्वजनिक स्वास्थ्य का मामला नहीं बनाया गया, तो हालात और भी गंभीर हो सकते हैं यदि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा रिकमेंड किए गए PM2.5 के स्तर को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पांच माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर तक कम कर दिया जाए, तो जीवन प्रत्याशा औसतन 2.2 वर्ष तक बढ़ जाएगी

क्या कहते हैं एक्सपर्ट?

सर गंगाराम हॉस्पिटल (दिल्ली) के डिपार्टमेंट ऑफ प्रिवेंटिव हेल्थ एंड वेलनेस की डायरेक्टर डाक्टर सोनिया रावत के अनुसार वायु प्रदूषण की वजह से हमारे फेफड़ों पर सबसे अधिक असर होता है धूल-मिट्टी और धुंए में लंबे समय तक रहने से फेफड़े कमजोर हो जाते हैं कई बार इनमें सिकुड़न और सूजन आ जाती है, जिससे सांस लेने में परेशानी हो जाती है कई मामलों में इंफेक्शन भी देखने को मिलता है लंबे समय तक प्रदूषण वाले इलाकों में रहने से अस्थमा और एलर्जी की परेशानी हो जाती है इसके अतिरिक्त प्रदूषण से सीने में दर्द, गैस्ट्रिक प्रॉब्लम, आंखों का लाल होना, मुंह ड्राई होने जैसे लक्षण भी देखने को मिलते हैं

वायु प्रदूषण से ऐसे करें बचाव

डॉ सोनिया रावत के मुताबित वायु प्रदूषण से बचने के लिए आप बाहर जाते समय मास्क लगाएं ऐसी जगहों पर जाने से बचें, जहां पर धूल-मिट्टी या धुआं अधिक हो आप कुछ इनडोर प्लांट्स लगाकर भी इस परेशानी से राहत पा सकते हैं घरों की खिड़कियां बंद रखें और एयर प्यूरीफायर भी लगाया जा सकता है जो लोग स्मोकिंग करते हैं, उन्हें खास सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है किसी तरह की परेशानी महसूस हो, तो तुरंत एक्सपर्ट से संपर्क करना चाहिए


कैल्शियम की कमी से होते हैं चेहरे पर सफेद धब्बे

कैल्शियम की कमी से होते हैं चेहरे पर सफेद धब्बे

White Marks On Face Due To Calcium Deficiency: कैल्शियम एक ऐसा खनिज तत्व है, जो हड्डियों को मजबूत रखने के साथ दांतों का भी ख्याल रखता है कैल्शियम खून के थक्के और मसल्स को मजबूत रखने में अहम किरदार निभाता है शरीर में लगभग 99 प्रतिशत कैल्शियम केवल हड्डियों में जमा होता है, जबकि 1 प्रतिशत कैल्शियम मसल्स, ब्लड और टिशूज में मिलता है यदि शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाए तो चेहरे पर सफेद धब्बे भी नजर आ सकते हैं कैल्शियम की कमी एक आम परेशानी बनती जा रही है, जिसकी वजह से बहुत सी स्किन प्रॉब्लम देखने को मिल सकती हैं, जैसे एग्जिमा, विटिलिगो इस परेशानी को कम करने के लिए डाइट भी अपना रोल निभाती है इसलिए कैल्शियम युक्त डाइट लेनी चाहिए, जिससे चेहरे पर सफेद धब्बों को भी दूर किया जा सके

किसके लिए कितना कैल्शियम जरूरी?

कैल्शियम की कमी के आरंभ में कोई लक्षण नहीं दिखाई देते, लेकिन यदि इनका उपचार न किया जाए तो बाद में रिस्की हो सकता है ओस्टियोंपीनिया यानी लो बोन डेंसिटी जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं दैनिक आवश्यकता के आधार पर लगभग 19 से 50 वर्ष की स्त्रियों के लिए हर रोज 1000 मिलीग्राम कैल्शियम की आवश्यकता होती हैअगर कोई स्त्री गर्भवती है या बच्चे को स्तनपान करवाती है तो उसे भी 1000 मिलीग्राम कैल्शियम की आवश्यकता होती है इसी तरह 19 से 70 वर्ष तक के मर्दों के लिए दैनिक आवश्यकता के मुताबिक 1000-1200 मिलीग्राम कैल्शियम की आवश्यकता होती है

कैल्शियम की कमी कैसे करें दूर?

-फल, हरे पत्तेदार साग, बीन्स, और स्टार्च वाली सब्जियों को आहार में शामिल करें
-बादाम, सोया और चावल के दूध में कैल्शियम की अच्छी मात्रा होती है
-पनीर, दूध को अपने आहार में शामिल करें
-ऑरेंज जूस का सेवन भी हर दिन कर सकते हैं
-शलजम, पालक, सरसों में कैल्शियम अच्छी मात्रा में होता है
यदि शरीर में कैल्शियम की कमी हो गयी है तो एक अच्छी और प्रॉपर डाइट की सहायता से इसे कम किया जा सकता है लेकिन परेशानी अधिक होने पर डॉक्टर की राय जरूर लें