UNSC की बैठक में आमने-सामने आए दोनों देश, कोरोना को लेकर चाइना पर भड़का अमेरिका       कोरोना ख़त्म होने के बाद क्या होगा संसार का हाल ?       संक्रमितों की संख्या में हुई खौफनाक बढ़ोतरी, कोरोना से पाकिस्तान के हाल बेहाल       आइसोलेशन में गए किंग सलमान, सऊदी के शाही परिवार पर 'कोरोना' का हमला       संकट में मदद देने के लिए US के बाद इजरायल ने हिंदुस्तान को कहा- शुक्रिया       कोरोना से नहीं हारे जॉनसन: आईसीयू से बाहर आए, डोनाल्ड ट्रंप ने कहा...       अमेरिका ने चाइना को दी Telecom बैन करने की धमकी, कोरोना को लेकर गहराया विवाद       कोरोना: 10 लाख लोगों के लिए सिर्फ 5 बेड, सुविधाओं की कमी से जूझ रहे अफ्रीकी देश       लंदन उच्च न्यायालय ने टाली सुनवाई, दिवालिया घोषित नहीं होगा विजय माल्या       घर आंगन में फिर फुदकने लगी है नन्ही गौरेया       कोरोना: न्यूजीलैंड ने हिंदुस्तान के साथ प्रारम्भ किया था लॉकडाउन       तस्वीरें: लॉकडाउन से पर्यावरण में पड़ी जान, गंगा-यमुना का पानी हुआ साफ       Honor Play 4T व Play 4T Pro हुए लॉन्च, दोनों में मिलेगी 4,000mAh की बैटरी       महाराष्ट्र: उद्धव ठाकरे की कुर्सी पर मंडराया कोरोना का खतरा       वर्ल्ड हैपिनेस रिपोर्ट के बहाने उदित राज ने साधा निशाना, बोले...       पीएम मोदी ने कहा कि भारत कोरोना से निपटने में अपने मित्रों की हरसंभव मदद करने के लिए तैयार       संकट में मदद देने के लिए US के बाद इजरायल ने हिंदुस्तान को कहा...       जानें कैसे करती है कोरोना से बचाव, 350 रुपये में तैयार की पीपीई किट       जेईई मेन के आवेदनकर्ता को मिला सुनहरा मौका       जम्मू और कश्मीर पर टिप्पणी करने पर हिंदुस्तान ने चाइना को घेरा, कहा...      

A PHP Error was encountered

Severity: 8192

Message: Array and string offset access syntax with curly braces is deprecated

Filename: libraries/My_upload.php

Line Number: 2727

Backtrace:

File: /home/newsexpre/web/newsexpress24.com/public_html/application/core/Core_Controller.php
Line: 7
Function: __construct

File: /home/newsexpre/web/newsexpress24.com/public_html/application/core/Core_Controller.php
Line: 100
Function: __construct

File: /home/newsexpre/web/newsexpress24.com/public_html/application/controllers/Home.php
Line: 8
Function: __construct

File: /home/newsexpre/web/newsexpress24.com/public_html/index.php
Line: 315
Function: require_once

इसरो यंग साइंटिस्ट प्रोगाम युविका 2020: आवेदन की अंतिम तिथि जानें
सेक्स के बावजूद नहीं होना चाहती है प्रेगनेंट, तो ...

सेक्स के बावजूद नहीं होना चाहती है प्रेगनेंट, तो ...

Content Team Feb 15, 2020 39

आप जानते है सेक्स के बाद क्या चाहती है पार्टनर

आप जानते है सेक्स के बाद क्या चाहती है पार्टनर

Content Team Mar 21, 2020 17

नगर विकास विभाग में अगले हफ्ते निकेंगी 1056 भर्तियां

नगर विकास विभाग में अगले हफ्ते निकेंगी 1056 भर्तियां

Content Team Dec 15, 2019 42

लॉकडाउन में औनलाइन सुनें संकटमोचन संगीत समारोह
सेक्स के बावजूद नहीं होना चाहती है प्रेगनेंट, तो ...

सेक्स के बावजूद नहीं होना चाहती है प्रेगनेंट, तो ...

Content Team Feb 15, 2020 39

आप जानते है सेक्स के बाद क्या चाहती है पार्टनर

आप जानते है सेक्स के बाद क्या चाहती है पार्टनर

Content Team Mar 21, 2020 17

नगर विकास विभाग में अगले हफ्ते निकेंगी 1056 भर्तियां

नगर विकास विभाग में अगले हफ्ते निकेंगी 1056 भर्तियां

Content Team Dec 15, 2019 42

इसरो यंग साइंटिस्ट प्रोगाम युविका 2020: आवेदन की अंतिम तिथि जानें

इसरो के युवा विज्ञानी प्रोग्राम (युविका) 2020 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 10 दिन आगे बढ़ा दी गई है. इसरो भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने ट्विट कर यह जानकारी दी है. पहले अंतिम तिथि 24 फरवरी थी. प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने हाल ही में मन की बात प्रोग्राम में ISRO YUVIKA 2020 की तारीफ की थी. आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि स्कूली विद्यार्थियों को अंतरिक्ष की जानकारी व उसकी टेकनोलॉजी समझने के लिए यंग साइंटिस्ट कार्यक्रम का दूसरा संस्करण प्रारम्भ किया है. 

अब इसरो के युवा विज्ञानी प्रोग्राम (युविका) 2020 के लिए 5 मार्च, 2020 तक www.isro.gov.in पर आवेदन किए जा सकते हैं. यह प्रोग्राम गर्मियों के छुट्टियों के दौरान दो हफ्ते 11 मई से 22 मई 2020 तक चलेगा. इसरो का युविका प्रोग्राम 2019 में प्रारम्भ किया गया था. इस प्रोग्राम का मकसद बच्चों को स्पेस टक्नोलॉजी, स्पेस साइंस जैसी चीजों के बारे में जागरूक करना है.

योग्यता
जिन स्टूडेंट्स ने आठवीं की इम्तिहान पास कर ली है व नौवीं में पढ़ाई कर रहे हैं, वह इस प्रोग्राम में शामिल होने के लिए आवेदन कर सकते हैं. इस प्रोग्राम में भाग लेने के लिए सीबीएसई, आईसीएसई व राज्‍य पाठ्यक्रम को मिलाकर हर राज्‍य/केंद्र शासित प्रदेश से तीन विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा. देश भर से प्रवासी भारतीय नागरिक (ओसीआई) अभ्यर्थियों के लिए पांच अन्य सीटें आरक्षित हैं.

चयन
उम्मीदवारों का चयन औनलाइन पंजीकरण के जरिए किया जाएगा. इसके लिए 24 फरवरी तक औनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया चलेगी. 8वीं के प्राप्त मार्क्स व ज्यादा करिकुलर एक्टिविटीज में प्रदर्शन के आधार स्टूडेंट्स का चयन होगा. 

और अधिक जानकारी के लिए [email protected] पर मेल करें.
या युविका सचिवालय पर इस नंबर पर कॉल करें- 080 2217 2269


लॉकडाउन में औनलाइन सुनें संकटमोचन संगीत समारोह

हनुमान जन्मोत्सव २०२० (Hanuman Janmotsav 2020): आज हनुमान जयंती है लेकिन कोरोना वाराणसी वायरस के वजह से लगे लॉकडाउन के चलते सारे धार्मिक प्रोग्राम व आयोजन रद्द कर दिए आगये हैं। हनुमान जयंती पर हर वर्ष वाराणसी का मशहूर संकटमोचन संगीत समारोह आयोजित होता है। लेकिन इस वर्ष लॉकडाउन के कारण आप घर बैठे ही औनलाइन माध्यम के जरिये संकटमोचन संगीत समारोह का आनंद ले सकेंगे। मशहूर संगीतकार वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये हनुमान जी के भजन पेश करेंगे।

कार्यक्रम में ये कलाकार देंगे औनलाइन प्रस्तुति:
पंडित जसराज अमेरिका से ही संगीत समारोह में शामिल होंगे, इसके अतिरिक्त गायन में प। राजन-साजन मिश्र, पं। अजय पोहनकर, पं। अजय चक्रवर्ती, उस्ताद राशिद खां, अरमान खां, सुश्री कौशिकी चक्रवर्ती, पं। उल्लास कसालकर , वादन में श्री यूं राजेश-शिवमणि, पं। विश्वजीत राय चौधरी, पं। निलाद्री कुमार, श्री शाकिर खां, उस्ताद मोईनुद्दीन खा-मोमिन खां, पं। भजन सोपोरी-अभय सोपोरी अपनी प्रस्तुति देंगे। नृत्य में पं। राममोहन महराज, पं। कृष्णमोहन महराज के अतिरिक्त तबला पर पं। कुमार बोस, पं। सुरेश तलवलकर, पं। अनिंदों चटर्जी-अनुब्रत चटर्जी, पं। समर साहा, पं। संजू सहाय व उस्ताद अकरम खां-जरगाम खां भी अपनी प्रस्तुति पेश करेंगे।

संकटमोचन मंदिर कॉन्फ्रेंसिंग के अन्य डिजिटल प्लेटफार्म पर प्रसारित करेगा, ताकि हनुमान जी के भक्त व संगीतप्रेमी लाखों लोगों तक यह पहुंच सके। इस बार का आयोजन 12 से 17 अप्रैल तक छह दिवसीय होगा।

सुबह 6 बजे से हनुमान जी का पूजन-अर्चन व बैठकी की झांकी होगी। प्रातः काल 7 बजे से रामायण का पूजन-अर्चन व मानस का एकाह पाठ, रामार्चा पूजन आदि धार्मिक अनुष्ठान पहले की होगी। 9 से 11 अप्रैल तक प्रतिदिन पारंपरिक रूप से रामायण सम्मेलन होगा। मंदिर में ही व्यास जी रामचरित मानस का कथा हनुमान जी को सुनाएंगे। लॉकडाउन चलते यह प्रक्रिया मंदिर के अंदर मंदिर के पुजारी ही करेंगे।

महंत जी ने लोगों से बोला है कि लॉकडाउन का पालन करें व घर पर ही हनुमान जयंती मनाएं व अपनी श्रद्धा और भक्ति घर से ही अर्पित करें। हनुमान जी से कामना करें कि दुनिया इस संकट से जल्द उबरे। उन्होंने बोला कि गोस्वामी तुलसीदास महाराज ने हनुमान जी का नाम संकटमोचन रखा व वह उन्हें सीता माता का वरदान भी प्राप्त है। बजरंगबली इस संकट को काटने में सक्षम हैं। बस उनको बार-बार इस बात की याद दिलानी होती है।