नृसिंह जयंति के पावन अवसर पर कुछ मंत्रों का करें जाप

नृसिंह जयंति के पावन अवसर पर कुछ मंत्रों का करें जाप

हिंदू धर्म में प्रत्येक साल वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को नृसिंह जयंती मनाई जाती है. आप सभी को बता दें कि इस वर्ष ये पर्व 14 मई 2022, आज यानि शनिवार को है. ऐसे में पौराणिक मान्यता के अनुसार, वैशाख माह में शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि के दिन भगवान विष्णु ने अपने भक्त प्रहलाद की रक्षा करने के लिए नृसिंह अवतार लिया था. उसी के बाद से इस दिन को नृसिंह जयंती के रूप में मनाया जाता है. आप सभी को बता दें कि नृसिंह जयंती के दिन भगवान नृसिंह की उपासना करने से सभी संकटों से मुक्ति मिलती है. जी दरअसल धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, विष्णु भगवान की कृपा से सभी मनोरथ सिद्ध हो जाते हैं. इसी के साथ नृसिंह जयंति के पावन अवसर पर कुछ मंत्रों का जाप करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है. अब आज हम आपको बताने जा रहे हैं वह मन्त्र और आरती जिनका आज के दिन जाप करना चाहिए

भगवान नरसिंह के सिद्ध मंत्र
एकाक्षर नृसिंह मंत्र : ''क्ष्रौं''
त्र्यक्षरी नृसिंह मंत्र : ''ॐ क्ष्रौं ॐ''
षडक्षर नृसिंह मंत्र : ''आं ह्रीं क्ष्रौं क्रौं हुं फट्''
अष्टाक्षर नृसिंह : ''जय-जय श्रीनृसिंह''
आठ अक्षरी लक्ष्मी नृसिंह मन्त्र: ''ॐ श्री लक्ष्मी-नृसिंहाय''
दस अक्षरी नृसिंह मन्त्र: ''ॐ क्ष्रौं महा-नृसिंहाय नम:'' 
तेरह अक्षरी नृसिंह मन्त्र: ''ॐ क्ष्रौं नमो भगवते नरसिंहाय''
नृसिंह गायत्री : ''ॐ उग्र नृसिंहाय विद्महे, वज्र-नखाय धीमहि. तन्नो नृसिंह: प्रचोदयात्.
नृसिंह गायत्री : ''ॐ वज्र-नखाय विद्महे, तीक्ष्ण-द्रंष्टाय धीमहि. तन्नो नारसिंह: प्रचोदयात्..''
आरती श्री नृसिंह भगवान की

आरती कीजै नृसिंह कुंवर की.
वेद विमल यश गाऊं मेरे प्रभुजी..

पहली आरती प्रह्लाद उबारे,
हिरणाकुश नख उदर विदारे.

दूसरी आरती वामन सेवा,
बलि के द्वार पधारे हरि देवा.
आरती कीजै नरसिंह कुंवर की
तीसरी आरती ब्रह्म पधारे,
सहसबाहु के भुजा उखारे.

चौथी आरती असुर संहारे,
भक्त विभीषण लंक पधारे.
आरती कीजै नरसिंह कुंवर की

पांचवीं आरती कंस पछारे,
गोपी ग्वाल सखा प्रतिपाले.

तुलसी को पत्र कंठ मणि हीरा,
हरषि-निरखि गावें दास कबीरा.
आरती कीजै नरसिंह कुंवर की

अन्य आरती-
ॐ जय नृसिंह हरे, प्रभु जय नृसिंह हरे.
स्तम्भ फाड़ प्रभु प्रकटे, स्तम्भ फाड़ प्रभु प्रकटे, जन का ताप हरे॥  ॥
ॐ जय नृसिंह हरे॥
तुम हो दीन दयाला, भक्तन हितकारी, प्रभु भक्तन हितकारी.
अद्भुत रूप बनाकर, अद्भुत रूप बनाकर, प्रकटे भय हारी॥ ॥
ॐ जय नृसिंह हरे॥
सबके ह्रदय विदारण, दुस्यु जियो मारी, प्रभु दुस्यु जियो मारी.
दास जान अपनायो, दास जान अपनायो, जन पर कृपा करी॥ ॥
ॐ जय नृसिंह हरे॥
ब्रह्मा करत आरती, माला पहिनावे, प्रभु माला पहिनावे.
शिवजी जय जय कहकर, पुष्पन बरसावे॥ ॥
ॐ जय नृसिंह हरे॥ 


पढ़ाई में लगातार पिछड़ रहा है आपका बच्‍चा जाने क्यू

पढ़ाई में लगातार पिछड़ रहा है आपका बच्‍चा जाने क्यू

किताबें आदमी की सबसे अच्छी दोस्त होती हैं बिना कम्पलेन किए किताबें अपनी दोस्ती निभाती है, हमारा ज्ञानवर्धन करते हुए हम सब बचपन से आज तक जितना कुछ जानते हैं या जान रहे हैं, उसमें पुस्तकों की किरदार बहुत अहम है कहानी संग्रह, कविताएं, उपन्यास हो या सामान्य ज्ञान की किताब इस बड़ी सी दुनिया में हमें कई किताबें ऐसी होती हैं, जो हमारे दिल के करीब होती है और उन्हें हम हमेशा सुरक्षित रखना चाहते हैं

हर वर्ष हमारी रूचि से जुड़ी ऐसी कई किताबें प्रकाशित होती हैं, जिन्हें हम खरीद लाते हैं, लेकिन एक समय के बाद इनका रख-रखाव कठिनाई हो जाता है ऐसे में आज हम आपको ऐसी बातें बताने जा रहे हैं, जिससे आप अपनी पुस्तकों को सुरक्षित और ठीक ढंग से आर्गेनाइज करते हुए रख सकते हैं यह टिप्स उनके लिए बहुत कारगर होंगे, जिनके घर में स्टडी रूम नहीं है

किताबों को रखने के बेहतरीन आइडियाज़

पहले करें बुक्स की छटाई

सबसे पहले आप सारी बुक्स को एक स्थान पर इकट्ठा कर लें और कैटेगरी और ज़रूरत को ध्यान रखकर उन्‍हें भिन्न-भिन्न करें फिर कोर्स बुक्स एक तरफ, किड्स बुक एक तरफ और कविता, कहानी और उपन्यास आदि से जुड़ी किताबें एक तरफ रखें

इसे भी पढ़ें : पुरानी पुस्तकों को वर्षों वर्ष नया रखने के लिए अपनाएं ये 9 टिप्‍स, हमेशा रहेंगी नयी सी

साइड टेबल पर सजाएं

आप अपनी कुछ फेवरेट बुक्स या ऐसी किताबें जिसकी आपको अक्सर ज़रूरत पड़ती हैं, उन्हें बेड के साइड टेबल पर सेट कर सकते हैं ऐसा करने पर आप दोपहर को आराम करते हुए या फिर रात को सोने से पहले इन्‍हें सरलता से पढ़ सकते हैं इसे यदि टेबल पर ढंग से सजाया जाए, तो यह दिखने में सुन्दर दिखेगा

बुक स्टैंड का करें प्रयोग

बेहतर व आर्गेनाइज ढंग से किताबें रखने के लिए आप बुक स्टैंड का इस्तेमाल कर सकते हैं यह न केवल कमरे को सुन्दर दिखाएगा, बल्कि बेतरतीबी से पड़े पुस्तकों को भी अरेंज करने में सहायता करेगा औनलाइन या ऑफलाइन बजट के हिसाब से सुन्दर बुक स्टैंड मिलते हैं

हैंगिंग बुक शेल्फ

अगर आपके घर में स्पेस से जुड़ी परेशानी है, तो आप हैंगिंग बुक शेल्फ बनवा सकते हैं आप इसे घर के लिविंग एरिया की वॉल से लेकर बेडरूम में बेड के पीछे की वॉल पर भी बनवा सकते हैं  इससे कमरे की रौनक तो बढ़ेगी ही, किताबें कहां रखें  जैसे प्रश्नों का भी उत्तर मिल जाएगा