लाइफ स्टाइल

शनिवार के दिन ये उपाय करने से साढ़ेसाती और ढैय्या का कम होगा प्रभाव

शनिदेव हर समय परेशानियां ही देते हैं ऐसा ठीक नहीं हैं यदि जातक की कुंडली में शनि देव अच्छे और शुभ रेट में विराजमान हैं तो वे जातक को रंक से राजा बना देते हैं शनिदेव को इन्साफ और कर्मफलदाता बोला जाता हैशनिदेव अच्छे कर्म करने पर मनुष्य को शुभ फल प्रदान करते हैं तो वहीं बुरे कर्म करने पर दंड भी देते हैं शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या लोगों के जीवन को काफी प्रभावित करती है

शनिवार के दिन जरूर करें ये 5 उपाय

हनुमान जी पूजा-उपासना जो भक्त करता है उस पर शनिदेव हमेशा प्रसन्न रहते हैं कुंडली में शनिदोष का असर कम करने के लिए हनुमान जी की पूजा अवश्य करनी चाहिए

शनिवार के दिन विशेष रूप से हनुमान चालीसा या फिर सुंदरकांड का पाठ करें हनुमान चालीसा और सुंदरकांड का पाठ करने पर साढ़ेसाती और ढैय्या का असर कम होता है

पीपल के वृक्ष में सभी देवी-देवताओं का वास होता है पीपल के पेड़ में ईश्वर विष्णु और माता लक्ष्मी का वास होता है शनिदेव ईश्वर विष्णु के स्वरूप श्रीकृष्ण के परम भक्त हैं

शनिवार के दिन जो जातक सूर्योदय के बाद पीपल की पूजा, जल और ऑयल का दीया अर्पित करने पर शनि गुनाह का असर कम होता है

कुंडली से साढ़ेसाती का असर कम करने लिए शनिवार के दिन शनिदेव को समर्पित मंत्रों और चालीसा का पाठ अवश्य करना चाहिए शनिवार के दिन ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः और ॐ शं शनिश्चरायै नमः मंत्रों का जाप अवश्य करें इसके अतिरिक्त शनि मंदिर जाकर शनि चालीसा और आरती भी करेंशनिदोष से मुक्ति पाने के लिए शनिवार के दिन काला तिल, काला छाता, सरसों का तेल, काली उड़द और जूते-चप्पल का दान करना चाहिए इसके अतिरिक्त गरीबों और असहायों को भोजन करवाएं

शनिवार के दिन कटोरी में ऑयल लें और उसमें एक अपना चेहरा देखते हुए मन में शनिदेव का स्मरण करें फिर इसके बाद इस ऑयल कोशनि मंदिर में दान करें इस तरीका से शनिदोष का असर कम होता है

Related Articles

Back to top button