फिल्म की कहानी 5 ऐसे युवाओं की है जो प्यार की तलाश में,हिमांशु मलिक

फिल्म की कहानी 5 ऐसे युवाओं की है जो प्यार की तलाश में,हिमांशु मलिक

करीब 20 वर्ष पहले आयी फिल्म 'तुम बिन' के तीन नायकों में से एक नायक हिमांशु मलिक निर्माता, निर्देशक और लेखक बन गए हैं. उनके नए अवतार की पहली फिल्म 'चित्रकूट' 20 मई को प्रदर्शित हो रही है. 'चित्रकूट' फिल्म विभिन्न अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोहों में अपने प्रदर्शन के दौरान ख़ासी चर्चा बटोर चुकी है. ईरान के कद्दावर फ़िल्मकार माजीद मजिदी ने तो इसे नए निर्देशक की बहुत बढ़िया फिल्म बताया है. 'चित्रकूट' नाम है लेकिन भगवान राम, रामायण और चित्रकूट से इस का संबंध नहीं है

हिमांशु बताते हैं-'माना जाता है कि भगवान राम और सीता के जीवन में चित्रकूट ही एक ऐसा जगह था जहां वह अपने प्रेम की आदर्श स्थिति में थे. उनके जीवन में शृंगार रस यहीं देखने को मिलता है. मेरी फिल्म भी प्रेम कहानी है जो यह दर्शाती है कि प्यार आदमी के जीवन में कुछ पलों के लिए ही मिलता है.'

फिल्म की कहानी 5 ऐसे युवाओं की है जो प्यार की तलाश में हैं. जिनमें तीन युवतियां हैं और दो युवक. इनके नाम हैं-देबू, अलिशा,शान,सलोनी और किम. जब देबू अलिशा से मिलता है तो उन दोनों की प्रेम कहानी प्रारम्भ होती है. उधर शान और सलोनी अपने संबंध के साथ संघर्ष करते हैं. एक चरित्र किम का है जो एक होम बेकर है. वार्ता के दौरान इन जोड़ों के प्रेम के माध्यम से उसे भी प्रेम की अनुभूति होती है. प्यार में पड़ने पर सबकी ज़िंदगी में काफी परिवर्तन आ जाता है. पूछने पर हिमांशु बताते हैं- 'फिल्म का बड़ा संदेश यही है कि प्यार कभी रुकता नहीं है. चाहे प्रेमी बिछुड़ जाएं, चाहे उनके जीवन में कितने ही परिवर्तन आ जाएं. फिल्म की शूटिंग मुंबई,पूणे,गोवा के साथ गुजरात में भी की गयी.

औरिता घोष, विभोर नायक, नैना त्रिवेदी, किरण श्रीनिवास और श्रुति बापना फिल्म के मुख्य कलाकार हैं. अकबर अराबियान, मेहदी गुलज़ार, आदित्य कृष्णा आदि निर्माता हैं. 'चित्रकूट' में छायांकन हरदीप सचदेव ने किया है तो संगीत सोमेश साहा का है. इस फिल्म में गायक अरिजित का विशेष गीत भी है.


पढ़ाई में लगातार पिछड़ रहा है आपका बच्‍चा जाने क्यू

पढ़ाई में लगातार पिछड़ रहा है आपका बच्‍चा जाने क्यू

किताबें आदमी की सबसे अच्छी दोस्त होती हैं बिना कम्पलेन किए किताबें अपनी दोस्ती निभाती है, हमारा ज्ञानवर्धन करते हुए हम सब बचपन से आज तक जितना कुछ जानते हैं या जान रहे हैं, उसमें पुस्तकों की किरदार बहुत अहम है कहानी संग्रह, कविताएं, उपन्यास हो या सामान्य ज्ञान की किताब इस बड़ी सी दुनिया में हमें कई किताबें ऐसी होती हैं, जो हमारे दिल के करीब होती है और उन्हें हम हमेशा सुरक्षित रखना चाहते हैं

हर वर्ष हमारी रूचि से जुड़ी ऐसी कई किताबें प्रकाशित होती हैं, जिन्हें हम खरीद लाते हैं, लेकिन एक समय के बाद इनका रख-रखाव कठिनाई हो जाता है ऐसे में आज हम आपको ऐसी बातें बताने जा रहे हैं, जिससे आप अपनी पुस्तकों को सुरक्षित और ठीक ढंग से आर्गेनाइज करते हुए रख सकते हैं यह टिप्स उनके लिए बहुत कारगर होंगे, जिनके घर में स्टडी रूम नहीं है

किताबों को रखने के बेहतरीन आइडियाज़

पहले करें बुक्स की छटाई

सबसे पहले आप सारी बुक्स को एक स्थान पर इकट्ठा कर लें और कैटेगरी और ज़रूरत को ध्यान रखकर उन्‍हें भिन्न-भिन्न करें फिर कोर्स बुक्स एक तरफ, किड्स बुक एक तरफ और कविता, कहानी और उपन्यास आदि से जुड़ी किताबें एक तरफ रखें

इसे भी पढ़ें : पुरानी पुस्तकों को वर्षों वर्ष नया रखने के लिए अपनाएं ये 9 टिप्‍स, हमेशा रहेंगी नयी सी

साइड टेबल पर सजाएं

आप अपनी कुछ फेवरेट बुक्स या ऐसी किताबें जिसकी आपको अक्सर ज़रूरत पड़ती हैं, उन्हें बेड के साइड टेबल पर सेट कर सकते हैं ऐसा करने पर आप दोपहर को आराम करते हुए या फिर रात को सोने से पहले इन्‍हें सरलता से पढ़ सकते हैं इसे यदि टेबल पर ढंग से सजाया जाए, तो यह दिखने में सुन्दर दिखेगा

बुक स्टैंड का करें प्रयोग

बेहतर व आर्गेनाइज ढंग से किताबें रखने के लिए आप बुक स्टैंड का इस्तेमाल कर सकते हैं यह न केवल कमरे को सुन्दर दिखाएगा, बल्कि बेतरतीबी से पड़े पुस्तकों को भी अरेंज करने में सहायता करेगा औनलाइन या ऑफलाइन बजट के हिसाब से सुन्दर बुक स्टैंड मिलते हैं

हैंगिंग बुक शेल्फ

अगर आपके घर में स्पेस से जुड़ी परेशानी है, तो आप हैंगिंग बुक शेल्फ बनवा सकते हैं आप इसे घर के लिविंग एरिया की वॉल से लेकर बेडरूम में बेड के पीछे की वॉल पर भी बनवा सकते हैं  इससे कमरे की रौनक तो बढ़ेगी ही, किताबें कहां रखें  जैसे प्रश्नों का भी उत्तर मिल जाएगा