आपके कपड़ों का रंग भी बदल सकता है आपकी किस्मत, जानिए

आपके कपड़ों का रंग भी बदल सकता है आपकी किस्मत, जानिए

अक्सर रंग हमारे जीवन में खुशहाली लाने का का काम करते है। इससे हमारी जिंदगी भी रंगीन लगने लगती है। प्रत्येक दिन की अपनी अहमियत, रंग और ऊर्जा होती है। ज्योतिष के अनुसार, अगर दिन के अनुसार रंग का चयन करके कपड़े पहने जाएं तो उस दिन की ऊर्जा और ज्यादा प्रबल हो जाती है, साथ ही बुरे ग्रहों का असर कम होता है। 

कब और कौन से रंग के पहनने चाहिए कपड़े:

सोमवार का स्वामी चंद्र होता है जो कि शीतलता का प्रतीक है। इस दिन सफेद, क्रीम, हल्के गुलाबी, आसमानी तथा हल्के पीले रंग के कपड़े इस दिन पहने जा सकते हैं।

मंगलवार का दिन संकटमोचन हनुमान बाबा को समर्पित है। मंगलवार के दिन चटक रंग के वस्त्र धारण करना चाहिए। इस दिन केसरिया, नारंगी, पीला, लाल रंग पहनने से भीतरी उत्साह तथा कार्य क्षमता में वृद्धि होती है।

बुधवार का दिन प्रभु श्री गणेशजी को सर्मपित होता है। गणेश जी को हरे रंग की दूर्वा प्रिय होती है। इस दिन हरे रंग या उससे मिलते जुलते रंग के कपड़े पहनने चाहिए। इसे पहनने से बुध संबंधी परेशानियां नहीं होंगी।

प्रभु श्री विष्णु को गुरुवार का दिन समर्पित होता है। इस दिन पीले रंग, सुनहरे अथवा नारंगी रंग के कपड़े पहनने चाहिए। इसके अतिरिक्त घर से निकलते वक़्त हल्दी का तिलक अवश्य लगाएं। 

शुक्रवार का दिन देवी मां का दिन होता है। मातारानी को लाल रंग पसंद होता है। इसलिए लाल रंग के कपड़े पहनें। इसके अतिरिक्त फूलों वाले प्रिंट के कपड़े धारण करें।

शनिवार का दिन कर्मफल दाता शनि देव को समर्पित है। शनिदेव को काला, नीला रंग प्रिय होता है। शनिवार के दिन काला, गहरा भूरा, गहरा नीला, जामुनी, बैंगनी आदि गहरे रंग के वस्त्र धारण करना चाहिए।

रविवार सूर्य देव का दिन माना जाता है। सूर्यदेव को भी लाल रंग बहुत प्रिय है। इस दिन लाल, नारंगी तथा पीले और सुनहरे रंग के कपड़े पहनने चाहिए। इससे तेज में बढ़ोतरी होती है।


घर में इस दिशा में नहीं लटकाना चाहिए कैलेंडर, जानें

घर में इस दिशा में नहीं लटकाना चाहिए कैलेंडर, जानें

कई बार कड़ी मेहनत करने के बाद तरक्की में मुश्किलें आती रहती है। इसका कारण आपके घर में लगा कैलेंडर भी हो सकता है। वास्तुशास्त्र में ये बताया गया है कि कैलेंडर को घर की किस जगह पर लगाना शुभ होता है। आइए जानते है....

1. वास्तुशास्त्र के अनुसार कैलेंडर हमेशा उत्तर, पश्चिम या पूर्व की दीवार पर ही लगाना चाहिए। वहीं कैलेंडर में किसी हिंसक जानवर की फोटो नहीं होना चाहिए। इनसे घर में नकारात्मकता आती है।

2. उत्तर दिशा में वही कैलेंडर लगाना चाहिए, जिस पर हरियाली, नदी, समुद्र, विवाह आदि की तस्वीर हो।

3. पश्चिम दिशा को बहाव की दिशा माना जाता है। इस दिशा में कैलेंडर लगाने से आपके रुके हुए काम शुरू हो जाएंगे।

4. दक्षिण दिशा में कैलेंडर लगाने से तरक्की रुक जाती है, क्योंकि यह कैलेंडर समय का सूचक है। इस दिशा में कैलेंडर लगाना से घर के मुखिया की सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है।

5. वास्तु शास्त्र की मानें तो मुख्य दरवाजे के सामने कैलेंडर नहीं लगाना चाहिए क्योंकि दरवाजे से गुजरने वाले ऊर्जा प्रभावित होती है।


Mohammad Nabi के 16 वर्ष के बेटे ने कर दी छक्कों की बारिश       CT 100 या Sport कम मूल्य में कौन है माइलेज और विशेषता में बेस्ट       ट्विटर पर फिर से छाए सीएम योगी आदित्यनाथ, आज टॉप ट्रेंडिंग टॉपिक बना यूपी विद योगी जी       सचिन ने नर्सों के सम्मान में बदली ट्विटर की डीपी       स्टोक्स का बड़ा बयान, बताया कब होगी मैदान पर वापसी       ICC World Test Championship Final के लिए Ravindra Jadeja ने कसी कमर       इस ओलंपिक गोल्ड मेडल विनर को मिली ताबड़तोड़ ड्राइविंग की सजा       क्या पाकिस्तान तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर IPL में खेलते आएंगे नजर?       महिला टीम के कोच के पद के लिए रमन और पवार ने दिए इंटरव्यू, जानें       यदि फाइनल ड्रॉ या टाई हुआ तो फिर कौन होगा चैंपियन?       Suresh Raina के बाद Harbhajan Singh की सहायता के लिए आगे आए Sonu Sood, कहा...       क्रिकेटर का खुलासा, कोविड-19 पॉजिटिव होने पर खौफ में था परिवार       लखनऊ में नहीं दिखा चांद, अब शुक्रवार को मनेगी ईद       यूपी के तीन जिलों में जहरीली शराब पीने से 26 की मौत       इसलिए हॉलीवुड फिल्म 'टेनेट' के लिए जरूरी थीं डिंपल       'बिग बॉस-14' में अर्शी खान ने मचाया धमाल, अभिनव से कहा...       ये गायिका अपने माता-पिता के लिए कमाना चाहती हैं, देखना चाहती है खुश       इस एक्ट्रेस ने शुरू की फिल्म आरआरआर की शूटिंग       उर्वशी रौतेला का नया वीडियो सॉन्ग ‘वो चांद कहां से लाओगी’ हुआ वायरल       देसी कट्टे की अभिनेत्री को MBA की छात्रा ने दी मौत की ऑनलाइन धमकी