ट्रैक्टर पर राहुल गांधी, किसानों के समर्थन में निकाली रैली

ट्रैक्टर पर राहुल गांधी, किसानों के समर्थन में निकाली रैली

कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) आगामी विधानसभा चुनाव से पहले केरल और तमिलनाडु के तीन दिवसीय दौरे पर हैं। राहुल ने अपने दौरे के पहले दिन केरल के वायनाड में किसानों के समर्थन में ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) निकाली। इस दौरान उन्होंने खुद भी ट्रैक्टर चलाया।

बीजेपी और PM पर बोला जोरदार हमला
राहुल गांधी के ट्रैक्टर पर कांग्रेस के अन्य कई नेता भी सवार थे। बता दें कि राहुल गांधी केंद्र के नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) को लेकर मोदी सरकार पर लगातार हमलावर हैं और किसानों का समर्थन कर रहे हैं। आज उन्होंने ट्रैक्टर रैली से पहले भारतीय जनता पार्टी (BJP) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) पर जमकर निशाना साधा है।

BJP पर राहुल का निशाना
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने का कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) का विचार शक्तिशाली लोगों का सशक्तिकरण है, लेकिन हमारा विचार कमजोरों का सशक्तिकरण करना है। उन्होंने कहा कि राष्ट्र के विकास के लिए हम सबको साथ लेकर चलने में विश्वास करते हैं। इसके साथ ही उन्होंने मनरेगा को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी हमला बोला।

कोरोना काल में मनरेगा योजना साबित हुई वरदान
राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री संसद में मनरेगा योजना को कमजोर कह रहे थे, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के दौरान यह योजना एक वरदान साबित हुई और सरकार को इसके लिए बजट बढ़ाना पड़ा। उन्होंने आगे कहा कि UPA के वक्त विकास की बड़ी वजह मनरेगा योजना थी, क्योंकि इससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था में पैसे आए।

तीनों कृषि कानूनों का समझाया मतलब
इसके साथ ही उन्होंने तीनों कृषि कानूनों का मतलब बताते हुए कहा कि पहला कानून मंडी, किसान बाजार की अवधारणा को नष्ट कर देगा। दूसरा कानून यह आवश्यक वस्तु अधिनियम पर सीधा हमला है। इसे इसलिए तैयार गया है ताकि किसान अपने दाम के लिए बातचीत नहीं कर सकता है। वहींं, तीसरे कानून के बारे में उन्होंने कहा कि यह किसानों के कानूनी अधिकारों को छीन रहा है।

राहुल बोले कि वे (सरकार) इन तीन नए कानूनों को वापस नहीं लेने वाले जब तक कि उन्हें मजबूर नहीं किया जाएगा और इसका एक कारण है कि ये तीन कानून भारत में कृषि व्यवस्था को नष्ट करने और मोदी जी के 2-3 दोस्तों को पूरा व्यवसाय देने के लिए तैयार किए गए हैं।


एकसाथ सबको साधने की कोशिश, महिलाओं को मिली बड़ी सौगात

एकसाथ सबको साधने की कोशिश, महिलाओं को मिली बड़ी सौगात

चंडीगढ़। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर पंजाब सरकार ने महिलाओं और छात्र—छात्राओं को बड़ा सौगात दिया है। राज्य की सरकारी बसों में महिलाओं के लिए यात्रा फ्री कर दी गई है। पंजाब में महिलाओं को अब सरकारी बस से कहीं भी आने—जाने के लिए किराया नहीं देना होगा। पंजाब सरकार के इस फैसले से महिलाओं में खुशी की लहर है। इतना ही नहीं सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों के लिए भी बस यात्रा फ्री कर दी गई है। बता दें कि पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने आज 2021-22 के लिए राज्य का 1,68,015 करोड़ रुपए का बजट पेश किया।

भूमिहीनों और किसानों पर विशेष ध्यान
पंजाब सरकार के इस बजट में राज्य के 1.13 लाख किसानों का 1,186 करोड़ रुपए और भूमिहीन किसानों का 526 करोड़ रुपए का कृषि ऋण माफ करने का भी एलान किया गया है। इसी के साथ ही वित्त मंत्री ने बुजुर्ग पेंशन योजना के तहत मिलने वाली राशि को 750 रुपए से बढ़ाकर 1,500 रुपए प्रति माह कर दिया गया है। वहीं शगुन योजना के तहत मिलने वाले अनुदान को 51,000 रुपए करने करने की बात है। जबकि आशीर्वाद योजना के तहत मिलने वाली राशि को 21000 रुपए से बढ़ा कर 51000 रुपए कर दिया गया है।

सरकारी कर्मचारियों को छठा वेतन का लाभ
पंजाब सरकार ने अपने इस बजट में गरीबों के साथ—साथ सरकारी कर्मचारियों का भी ख्याल रखा है। मनप्रीत सिंह बादल ने सरकारी कर्मचारियों को छठा वेतन का लाभ 1 जुलाई, 2021 से देने का एलान किया है। इतना ही नहीं इस बजट में पिछड़ों को भी साधने की पूरी कोशिश की गई है। इसी के तहत बाबा साहब भीम राव आंबडेकर की याद में भारत का दूसरा सबसे बड़ा म्यूजियम अब पंजाब में बनाया जाएगा। इस म्यूजियम को कपूरथला जिले में 27 एकड़ एरिया में बनाए जाने की योजना है। इस म्यूजियम के निर्माण के लिए सरकार ने सौ करोड़ रुपए का प्रस्ताव पास किया है।

गरीबों की पेंशन हुई दोगुनी
पंजाब सरकार गरीबों को बड़ी राहत देते हुए सरकार की तरफ से दी जाने वाली पेंशन को भी दोगुनी कर दी है। गरीबों को इसका लाभ 1 जुलाई, 2021 से मिलेगा। पहले इस पेंशन की राशि 750 रुपए प्रति माह थी जो अब 1500 रुपए मासिक कर दी गई है। वहीं छात्रों के लिए मलेरकोटला में 11861 करोड़ रुपए से नेहा कॉलेज का निर्माण कराया जाएगा।

पुरस्कारों की राशि में भी हुई बढ़ोत्तरी
हेल्थ सेक्टर के लिए भी पंजाब सरकार ने 3882 करोड़ रुपए मंजूर किए हैं। सााि ही मुख्यमंत्री कैंसर राहत कोष के लिए 150 करोड़ रुपए दिए जाने का भी प्रस्ताव है। शिरोमणि पुरस्कार के तहत मिलने वाली राशि को 5 लाख रुपए से बढ़ाकर 10 लाख रुपये कर दी गई है। इसी के सााि ही पंजाब साहित्य रत्न पुरस्कार की धनराशि को भी बढ़ाकर 10 लाख से 20 लाख रुपए कर दी गई है।


सोने के दाम में भारी गिरावट, फटाफट चेक करें नया रेट       7th pay commission: कर्मचारियों के लिए खुशखबरी       इन राशियों के लिए खुल रहे हैं सफलता के द्वार, जानें       महाशिवरात्रि स्पेशल, भगवान शिव एक पत्नी और दो पुत्रों के पिता नहीं, जानें       विष्णु का प्रिय शंख, भोलेबाबा की पूजा में वर्जित, आखिर क्यों       Beautiful to Bold! वुमेन्स डे पर अपने जीवन की खास स्त्रियों को भेजें ये मैसेज       Lovely Ladies! बढ़ती आयु में इन 8 बातों की टेंशन छोड़कर खुलकर जिएं       दुनिया में इस स्मार्टफोन को सबसे ज्यादा लोग करते हैं पसंद       सोशल मीडिया पर छेड़छाड़, बचाव के लिए करें ये काम       Flipkart सेल: इन स्मार्टफोन्स पर मिल रहा बड़ा डिस्काउंट       भुलकर भी एक साथ न खाएं ये चीजें, हो सकता है ये बड़ा नुकसान       तेजी से कम होगी पेट की चर्बी, सोने से पहले करें इस चीज का सेवन       इस तरह शरीर में बहने लगेगी पॉजिटिविटी, कई रोंगों का रामबाण उपचार है भ्रामरी प्राणायाम       ज्‍यादा खाने पर नुकसान भी पहुंचा सकते हैं ड्राई फ्रूट्स       खाना खाते वक्‍त क्‍या आप भी पीते हैं पानी?       बिना GYM जाए तेजी से कम होगा वजन, रोज 15 मिनट घर बैठे करें यह काम       Women’s Day: महिला डॉक्टर ने प्रग्नेंसी के दौरान किया ऐसा काम       खाने में ज्यादा नमक है जहर की तरह       मिलावटी चीजों से रहें सतर्क, ऐसे करें पहचान, खान-पान होगा शुद्ध       दुनिया का सबसे धनी बोर्ड बीसीसीआई महिला इवेंट को लेकर सबसे पीछे!