15 जनवरी से संसद की नई बिल्डिंग का काम शुरू होगा, शुभ घड़ी की वजह से मकर संक्रांति की अगली सुबह चुनी

15 जनवरी से संसद की नई बिल्डिंग का काम शुरू होगा, शुभ घड़ी की वजह से मकर संक्रांति की अगली सुबह चुनी

दिल्ली में नया संसद भवन बनाने का काम 15 जनवरी से शुरू किया जाएगा। ऐसा इसलिए, क्योंकि मकर संक्रांति के बाद अगली सुबह से कोई काम करना शुभ माना जाता है। सूत्रों के हवाले से यह जानकारी सामने आई है।

इस हफ्ते की शुरुआत में 14 मैंबर्स वाले हैरिटेज पैनल ने सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना को मंजूरी दी थी। सूत्रों ने बताया कि सेंट्रल पब्लिक वर्क्स डिपार्टमेंट ने टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड को 15 जनवरी से नए संसद भवन का काम शुरू करने के लिए कहा है।

टाटा प्रोजेक्ट्स ने शुरू किया काम

सेंट्रल विस्टा को रिडेवलप किए जाने के तहत यहां नया त्रिकोणीय संसद भवन, प्रधानमंत्री आवास, PMO,उप राष्ट्रपति भवन, एक कॉमन सेंट्रल सेक्रेटेरिएट बनाने के साथ ही राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक कॉरिडोर को नए सिरे से संवारा जाएगा। टाटा प्रोजेक्ट्स ने इस काम के लिए मशीने और मटेरियल जुटाना शुरू कर दिया है।

हैरिटेज पैनल से इजाजत मिली

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को यहां कंस्ट्रक्शन शुरू करने से पहले हैरिटेज पैनल और इस मामले से जुड़े अधिकारियों से मंजूरी लेने के लिए कहा था। सोमवार को हैरिटेज कन्सर्वेशन कमेटी ने यह प्रोजेक्ट शुरू करने की इजाजत दे दी।

इसके मुताबिक, राजपथ पर काम इस साल गणतंत्र दिवस की परेड के तुरंत बाद शुरू होगा। इसके अगले 10 महीनों में पूरा होने की उम्मीद है। उम्मीद जताई जा रही है कि 2022 में गणतंत्र दिवस की परेड नए तरीके से तैयार राजपथ पर होगी।

पिछले महीने PM मोदी ने आधारशिला रखी थी

पिछले महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए संसद भवन की आधारशिला रखी थी। इस पर करीब 971 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है। नई बिल्डिंग देश की आजादी की 75वीं वर्षगांठ तक तैयार होने की उम्मीद है। यह इमारत पुराने संसद भवन के सामने ही बनाई जाएगी। मौजूदा संसद भवन को 94 साल पहले 83 लाख रुपये की लागत से बनाया गया था। इसे म्यूजियम में बदलने की योजना है।

नई संसद की खासियत

  • अभी लोकसभा में 590 लोगों की सिटिंग कैपेसिटी है। नई लोकसभा में 888 सीटें होंगी और विजिटर्स गैलरी में 336 से ज्यादा लोगों के बैठने के इंतजाम होंगे।
  • अभी राज्यसभा में 280 की सिटिंग कैपेसिटी है। नई राज्यसभा में 384 सीटें होंगी और विजिटर्स गैलरी में 336 से ज्यादा लोग बैठ सकेंगे।
  • लोकसभा में इतनी जगह होगी कि दोनों सदनों के जॉइंट सेशन के वक्त लोकसभा में ही 1272 से ज्यादा सांसद साथ बैठ सकेंगे।
  • संसद के हरेक अहम कामकाज के लिए अलग-अलग ऑफिस होंगे। ऑफिसर्स और कर्मचारियों के लिए हाईटेक ऑफिस की सुविधा होगी।
  • कैफे और डाइनिंग एरिया भी हाईटेक होगा। कमिटी मीटिंग के अलग-अलग कमरों को हाईटेक इक्विपमेंट से बनाया जाएगा।
  • कॉमन रूम्स, महिलाओं के लिए लाउंज और वीआईपी लाउंज की भी व्यवस्था होगी।

Cold Wave India : उत्तर और मध्य भारत में अगले तीन से चार दिनों में पड़ेगी कड़ाके की सर्दी

Cold Wave India : उत्तर और मध्य भारत में अगले तीन से चार दिनों में पड़ेगी कड़ाके की सर्दी
नई दिल्ली: भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने रविवार को कहा कि उत्तर और मध्य भारत में लोगों को अगले तीन से चार दिनों के दौरान गंभीर शीत लहर के साथ ठंड का सामना करना पड़ेगा। विभाग ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर से रविवार को उत्तर-पूर्व में पश्चिमी विक्षोभ की गतिविधियों के कारण 25 जनवरी की दोपहर से उत्तर पश्चिमी हवाएं चलने का अनुमान है।

इसके बाद तीन से चार दिनों तक मध्य और पश्चिम भारत के मैदानी भागों में इसी तरह का मौसम बना रहने की संभावना है। इसके प्रभाव से पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, उत्तर प्रदेश, उत्तरी राजस्थान के कुछ हिस्सों में घने कोहरे का मौजूदा दौर 26 जनवरी तक इन क्षेत्रों में बने रहने का अनुमान है।
विभाग ने कहा, ‘पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ के दूरदराज के क्षेत्रों में 25 से 27 जनवरी के दौरान शीत लहर की स्थिति और उत्तरी राजस्थान के दूरदराज के क्षेत्रों में शीत लहर की गंभीर स्थिति बने रहने और उत्तर प्रदेश तथा पश्चिम मध्य प्रदेश में 26 से 27 जनवरी के दौरान शीत लहर चलने का अनुमान है।’

दिल्ली का हाल भी जान लीजिए
राजधानी में रविवार को घने कोहरे की चादर छाई रही और दृश्यता कम होकर 100 मीटर हो जाने से यातायात भी प्रभावित हुआ। साथ ही अधिकतम तापमान सामान्य से छह डिग्री नीचे 15डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया । भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने यह जानकारी दी। घने कोहरे की वजह से सफदरजंग में दृश्यता घटकर 200 मीटर और पालम में 100 मीटर रह गई।

IMD के अनुसार बहुत घने कोहरे की स्थिति में दृश्यता 0 से 50 मीटर होती है। घने कोहरे की स्थिति में दृश्यता 51 से 200 मीटर के बीच होती है। मामूली कोहरा होता है तो दृश्यता 201 से 500 मीटर होती है और बहुत कम कोहरा होने पर दृश्यता 501 से 1000 मीटर होती है। आईएमडी ने कहा कि दिल्ली में अगले चार दिन मामूली से लेकर घना कोहरा छाए रहने का पूर्वानुमान है।

हालांकि आईएमडी के एक अधिकारी ने कहा कि पुरवाई हवाओं और बादल छाये रहने की वजह से दिल्ली का न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस बढ़कर 8.8 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है। अधिकारी ने कहा कि मंगलवार तक तापमान चार डिग्री सेल्सियस तक गिरने का अनुमान है क्योंकि हिमाच्छादित पश्चिमी हिमालय श्रृंखला से मैदानी इलाकों की ओर बर्फीली हवाएं चलनी शुरू हो गई हैं।

BJP पर राहुल गांधी का बड़ा हमला - नागपुर का 'निकरवाला' कभी नहीं तय कर सकता किसी राज्य का भविष्य       Cold Wave India : उत्तर और मध्य भारत में अगले तीन से चार दिनों में पड़ेगी कड़ाके की सर्दी       पाकिस्तान के लिए एडा क्लास के 4 युद्धपोत बना रहा तुर्की, जानें भारत के लिए कितना खतरनाक       फ्री में मिलेगा BSNL 4G सिम कार्ड, जानें पाने का तरीका       Kisan Andolan: कांग्रेस की चेतावनी, किसानों की मांग पूरी नहीं हुई तो संसद सत्र होगा हंगामेदार       Honda Grazia का Sports Edition भारत में हुआ लॉन्च, जानें आपके बजट में कितनी है फिट       रात में बच्चे को सोने नहीं देती खांसी तो इन घरेलू उपायों से दिलाएं आराम       UP पुलिस का गब्बर स्टाइल में एक और ट्वीट, पूछा- कितने आदमियों ने ये ट्वीट देखा?       सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं नोनी के पत्‍तों का रस, इन 7 रोगों से दिलाए निजात       बिल्ली और केकड़े का ये वीडियो देख आप हमेशा अपने काम से काम रखोगे!       शशि थरूर कांग्रेस को बता रहे थे मजबूत विपक्ष, बिशन सिंह बेदी की 'गुगली' ने बंद की बोलती!       पॉर्न देखने वालों की मुश्किलें बढ़ीं, पॉप्युलर वेबसाइट का डेटा लीक       Corona Vaccine Update: भारत में 16 लाख से ज्यादा लोगों को कोरोना का टीका, दुनिया के बाकी देश कहां       India China Faceoff: 11 घंटे तक चली 9वें दौर की बातचीत, भारत ने फिर कहा- पीछे तो पूरी तरह ही हटना पड़ेगा       शराब पीने वालों के लिए बुरी खबर, 31 मार्च तक 5 दिन बंद रहेंगी वाइन की दुकानें       आपके मोबाइल में मौजूद है फर्जी ऐप, तो ऐसे करें असली-नकली की पहचान       नेपाल में प्रचंड धड़े ने पीएम केपी शर्मा ओली को पार्टी से निकाला, स्पष्टीकरण नहीं देने पर कार्रवाई       विवादित ढांचे को लेकर प्रकाश जावडेकर बोले, 6 दिसंबर 1992 को ऐतिहासिक गलती को किया गया ठीक       लालू प्रसाद यादव की हालत स्थिर, दिल और किडनी की है गंभीर समस्या       गणतंत्र दिवस परेड खत्म होने के बाद ही ट्रैक्टर पर निकल सकेंगे किसान, चप्पे-चप्पे पर तैनात रहेगी पुलिस